लाइव टीवी

भोजपुर: बेटे की शहादत पर पिता बोले- गर्व है कि मेरे बेटे ने आतंकियों को मारते हुए अपनी जान दी

News18 Bihar
Updated: February 6, 2020, 9:07 AM IST
भोजपुर: बेटे की शहादत पर पिता बोले- गर्व है कि मेरे बेटे ने आतंकियों को मारते हुए अपनी जान दी
जवान रमेश रंजन की शहादत की खबर आने के बाद उनके घर का माहौल गमगीन हो गया है और मातम पसर गया है

शहीद जवान के पिता ने बताया कि कमांडर द्वारा फोन पर उन्हें सूचना दी गई कि आतंकियों के साथ मुठभेड़ हुआ है जिसमें आपके बेटे रमेश रंजन ने एक आतंकवादी को मार गिराया है और उन्हें भी गोली लग गई है. इसके कुछ देर बाद फिर फोन आया कि आपका बेटा देश की सेवा में शहीद हो गए हैं

  • Share this:
भोजपुर. जम्मू-कश्मीर (Jammu-Kashmir) के लेवपोरा इलाके में संदिग्ध आतंकियों (Terrorists) और सीआरपीएफ (CRPF) जवानों के बीच मुठभेड़ (Encounter) में भोजपुर (Bhojpur) का एक लाल शहीद हो गया है. सीआरपीएफ में तैनात रमेश रंजन भोजपुर जिले के जगदीशपुर इलाके के इसाढ़ी देवटोला गांव के निवासी थे. 30 वर्षीय रमेश रंजन के शहादत की खबर जैसे ही लोगों को मिली पूरे गांव का माहौल गमगीन हो गया.

शहीद रमेश रंजन ने वर्ष 2011 में केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल जॉइन किया था. उनकी पहली पोस्टिंग संबलपुर उड़ीसा में हुई थी. इसके बाद उनकी पोस्टिंग जम्मू कश्मीर में हो गई थी. देश की सेवा में प्राण न्योछावर करने वाले रमेश रंजन के परिजनों का रो-रोकर बुरा हाल है. शहीद जवान की शादी दो साल पहले ही गुड़ी गांव की बेबी देवी से हुई थी. देश की रक्षा में शहीद हुए बेटे को खोने का गम जहां मां और पिता के आंखों में साफ दिखाई दे रहा है वहीं शहादत पर रमेश रंजन के भाइयों का सीना गर्व से चौड़ा है.

कमांडर ने दी बेटे के शहादत की खबर

शहीद जवान रमेश रंजन के पिता राधामोहन सिंह ने बताया कि करीब एक माह पहले उनका बेटा छुट्टी में घर आया था, जिसके बाद वो जम्मू-कश्मीर में अपनी ड्यूटी पर लौट गया था. बेटे से कल (मंगलवार) शाम उनकी बात हुई थी. इस दौरान बेटे ने बताया था कि वहां आतंकी गतिविधियां काफी हैं. आज (बुधवार) कमांडर द्वारा फोन पर सूचना दी गई कि आतंकियों के साथ मुठभेड़ हुआ है जिसमें आपके बेटे रमेश रंजन ने एक आतंकवादी को मार गिराया है और उन्हें भी गोली लग गई है. इसके कुछ देर बाद फिर फोन आया कि आपका बेटा देश की सेवा में शहीद हो गए हैं.

भोजपुर का जवान शहीद
अपनी पत्नी के साथ शहीद जवान रमेश रंजन (फाइल फोटो)


गांव के लोगों को नहीं हो रहा यकीन

रमेश के पिता ने बताया कि मुझे अपने शहीद बेटे पर गर्व है. मेरा पूरा परिवार सेना में है. शहीद के पिता ने कहा कि सरकार श्रीनगर में ऐसा काम करे कि आतंकी जड़ से मिट जाएं और मेरे बेटे जैसा और किसी का बेटा शहीद न हो. वहीं रमेश रंजन के गांववालों ने बताया कि शहीद जवान शुरू से ही मिलनसार स्वभाव के थे. वो हम लोगों के लिए किसी आदर्श से कम नहीं है. शहीद रमेश रंजन का परिवार फिलहाल अपने बेटे के शव के आने का इंतजार कर रहा है.ये भी पढ़ें- श्रीनगर में CRPF पर हुए आतंकी हमले में भोजपुर का जवान शहीद

बिहार के केला-लीची को मिलेगा बड़ा बाजार, फतुहा में बनेगा रेलवे का कार्गो सेंटर

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए भोजपुर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: February 6, 2020, 8:09 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर