आरा में पप्पू यादव को सदर अस्पताल में घुसने से रोका, नीतीश कुमार को कहा जल्लाद

आरा पहुंचे पप्पू यादव को रोकता जिला प्रशासन

आरा पहुंचे पप्पू यादव को रोकता जिला प्रशासन

Pappu Yadav In Ara: पप्पू यादव रविवार को सदर अस्पताल आरा की हकीकत जानने के लिए आरा पहुंचे थे लेकिन उनको जिला प्रशासन ने रोक दिया. इस दौरान पप्पू यादव ने सरकार पर कई संगीन आरोप लगाए.

  • Share this:
आरा. कोरोना के बढ़ते प्रभाव के बीच जाप सुप्रीमो पप्पू यादव (Pappu Yadav) आये दिन अलग-अलग जिलों के अस्पताल का निरीक्षण कर रहे हैं, इसी कड़ी में पप्पू यादव रविवार को आरा सदर अस्पताल (Ara Sadar Hospital) का भी निरीक्षण करने आये लेकिन जाप सुप्रीमों को आरा एसडीएम वैभव श्रीवास्तव और पुलिस बल के द्वारा अस्पताल के गेट पर ही रोक दिया गया. पप्पू यादव के आने का समय बीते दिन शनिवार की शाम में निर्धारित किया गया था लेकिन शनिवार की शाम को नगर थाना के द्वारा उनके कार्यकर्ताओं को गिरफ्तार कर लिया गया था, उसके अगले दिन रविवार को निर्धारित कार्यक्रम के लिए जैसे ही पप्पू यादव अस्पताल पहुंचे पहले से तैनात पुलिस बल ने उनको कोरोना के बढ़ते संक्रमण का हवाला देकर अंदर जाने से रोक दिया.

मुख्यमंत्री नहीं जल्लाद हैं नीतीश कुमार

सदर अस्पताल के गेट पर ही रोक देने के बाद पप्पू यादव ने प्रेस वार्ता की जिसमें उन्होंने बिहार के मुख्यमंत्री पर गंभीर आरोप लगाए. उन्होंने कहा कि बिहार की जनता ने एक जल्लाद को अपना मुख्यमंत्री चुना है. यहां एक नंगा खेल खेला जा रहा है. बिहार के सभी सदर अस्पतालों का यहीं हाल है. लोग यहां पैदल आते है और स्ट्रेचर पर घर जाते हैं. यहां ना तो ऑक्सीजन है और ना ही कोई स्टाफ काम कर रहा है. अगर आप इलाज कराने जायेगा तो आपको मार कर भेजा जाएगा.

निजी अस्पतालों पर लगाया कालाबाजारी का आरोप
इस दौरान पप्पू यादव निजी अस्पतालों पर भी कालाबजारी का गंभीर आरोप लगाया है. उन्होंने कहा कि आरा के जितने भी प्राइवेट अस्पताल हैं वो सब पहले से ही ऑक्सीजन सिलेंडर को ब्लैक मार्केटिंग कर रहे हैं. जिला के डीएम और एसडीएम शहर के निजी अस्पताल को टेक ओवर कर दीजिए. सरकारी अस्पताल में कोई पूर्ति नहीं करते हैं और निजी अस्पताल में जहां 60-70 ऑक्सीजन सिलेंडर चाहिए वहां 150-200 दे रहे हैं. पप्पू यादव ने कहा कि अगर पप्पू यादव के रुकने से आरा में मौत का सिलसिला रुक जाए यहीं सोचकर मैं सदर अस्पताल में नहीं गया.

नियम और कानून मंत्री और सांसद के लिए नहीं

सदर अस्पताल में अंदर जाने से पप्पू यादव को रोके जाने के बाद पप्पू यादव ने आरा के सांसद आर के सिंह को लेकर कहा कि यह नियम और कानून केकल पप्पू यादव के लिए है. यह नियम और कानून मंत्री और सांसद के लिए क्यों नहीं था. उन्होंने कहा कि जनप्रतिनिधि की जिम्मेदारी एक जिम्मेदारी होती है, इसके साथ ही सब घर में सो रहे है और ट्विटर पर ट्वीट करते रहते हैं. सत्ता पक्ष गणेश परिक्रमा 15 दिनों के बाद करते हैं. चुनाव में वोट लिए तो नेताओ के लिए कोरोना नहीं था, अब कोरोना है.



रिपोर्ट- अभिनय प्रकाश
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज