लाइव टीवी

बिजली गुल हुई तो टॉर्च के सहारे चला अस्पताल का ऑपरेशन थियेटर और इमरजेंसी सेवा
Bhojpur News in Hindi

News18 Bihar
Updated: January 6, 2020, 4:43 PM IST
बिजली गुल हुई तो टॉर्च के सहारे चला अस्पताल का ऑपरेशन थियेटर और इमरजेंसी सेवा
आरा सदर अस्पताल में टॉर्च की रोशनी में मरीजों का इलाज करते डॉक्टर

इस कुव्यवस्था पर जब आरा सदर अस्पताल (Ara Sadar Hospital) प्रबंधन से पूछा गया तो अस्पताल के अधीक्षक डॉक्टर सतीश सिन्हा ने तार टूटने का हवाला दिया और कहा कि इसकी सूचना बिजली विभाग को दी गई

  • Share this:
भोजपुर. बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार (Nitish Kumar) राज्य में स्वास्थ्य व्यवस्था की बेहतरी के भले ही लाख दावे करते हों लेकिन सच्चाई इससे कहीं उलट है. मामला आरा सदर अस्पताल (Ara Sadar Hospital) से जुड़ा है, जहां सोमवार को अचानक बिजली गुल (Power Cut) हो गई. बिजली गुल होने के कारण अस्पताल के ऑपरेशन थियेटर से लेकर इमरजेंसी सेवा समेत कई वार्ड में पूरी तरह से अंधेरा छा गया.

चोरों ने भी किया हाथ साफ

बिजली गुल होते ही सदर अस्पताल की कुव्यवस्था भी उजागर हो गई. लाइट की उचित व्यवस्था नहीं होने से अस्पताल के चिकित्सक टॉर्च के सहारे मरीजों का इलाज करते रहे. बिजली कटौती होने के बाद अस्पताल के प्रसूति विभाग में भर्ती मरीज महिलाओं को परेशानी झेलनी पड़ी. इस दौरान चोरों ने भी बिजली गुल होने का फायदा उठाया है. मरीजों के साथ आये परिजनों के सामान पर चोरों ने भी हाथ साफ करने में कामयाबी पा ली.

कन्नी काटते दिखे अधीक्षक

चोरों ने अस्पताल में आए मरीजों के तीमारदार में से कईयों का ब्लेड से बैग को काटा और जो भी मिला चुरा ले गए. इस कुव्यवस्था पर जब अस्पताल प्रबंधन से पूछा गया तो अस्पताल के अधीक्षक डॉक्टर सतीश सिन्हा ने तार टूटने का हवाला दिया और कहा कि इसकी सूचना बिजली विभाग को दी गई है, साथ ही कोई वैकल्पिक व्यवस्था भी की जा रही है. उनकी इस सफाई के बाद भी अस्पताल में कई घंटों तक बिजली गुल रही. जिससे मरीज और उनके परिजन दोनों हलकान रहे.

ये भी पढ़ें- चिराग पासवान बोले- कुछ लोग राजनीतिक लाभ लेने के लिए कर रहे हैं JNU को बदनाम

ये भी पढ़ें- JNU हिंसा: पप्पू यादव बोले- हमें गुंडों का डटकर मुकाबला करना है

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए भोजपुर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: January 6, 2020, 2:51 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर