होम /न्यूज /बिहार /Navratri 2022: बखोरापुर वाली काली माता का रहस्य, जब गांव में हुई थी 500 लोगों की मौत

Navratri 2022: बखोरापुर वाली काली माता का रहस्य, जब गांव में हुई थी 500 लोगों की मौत

Bhojpur News: माता मंदिर के मुख्य संरक्षक सुनील सिंह गोपाल ने बताया कि मां काली का दर्शन करने श्रद्धालु दूर-दूर से बखोर ...अधिक पढ़ें

 रिपोर्ट: आलोक कुमार भारती

भोजपुर. भोजपुर जिले के बड़हरा प्रखंड अंतर्गत बखोरापुर में मां काली का भव्य मंदिर है. नवरात्रि के पावन पर्व पर मां काली मंदिर में श्रद्धालुओं की भीड़ उमड़ती है. यहां के पुजारी बबलू बाबा ने बताया कि हमारे पूर्वज बताया करते थे कि 1862 के समय एक छोटा सा मंदिर हुआ करता था जहां देवी पिंडी रूप में स्थापित थीं. 2003 में भव्य मंदिर का निर्माण किया गया और देवी की प्रतिमा स्थापित की गई. नवरात्रि के अवसर पर लाखों श्रद्धालुओं की यहां भीड़ उमड़ती है.

मंदिर के पुजारी बबलू बाबा ने बताया कि हमारे पूर्वज के मुताबिक 1862 के समय में बखोरापुर गांव में हैजा फैला था. 500 से अधिक लोगों की मौत हो गई थी. उसी समय गांव में एक साधु ने प्रवेश किया. उन्होंने कहा कि मां ने उन्हें सपने में दर्शन दिया है और काली की पिंडी स्थापना करने की बात कही. साथ ही ये भी कहा कि ऐसा करने से यह बीमारी रुक जाएगी. साधु के कहने पर गांव के बड़े-बुजुर्गों ने नीम के पेड़ के पीछे मां काली की नौ पिंडी स्थापित कर पूजा-अर्चना शुरू कर दी.

दूर-दूर से भी दर्शन करने आते हैं भक्त
इसके बाद वो साधु चंद दिनों बाद अदृश्य हो गए. साथ ही हैजा भी गांव से धीरे-धीरे समाप्त हो गया. जय मां काली बखोरापुर वाली मंदिर के मुख्य संरक्षक सुनील सिंह गोपाल ने बताया कि मां काली का दर्शन करने श्रद्धालु दूर-दूर से बखोरापुर पहुंचते हैं. आये दिन यहां श्रद्धालुओं की भीड़ रहती है लेकिन नवरात्रि में भीड़ काफी होती है.

कैसे पहुंचे बखोरापुर मंदिर
आरा रेलवे स्टेशन से लगभग 12 किमी उत्तर की तरफ बड़हरा प्रखंड के बखोरापुर गांव में बखोरापुर मां काली का प्रसिद्ध मंदिर है. यहां जाने के लिए आरा रेलवे स्टेशन से और गांगी के पास से कई वाहन मंदिर तक जाने के लिए मिलते हैं. वहीं अगर आप पटना की ओर से आ रहे है तो कोइलवर से गाड़ी बुक करके इंडस्ट्रीयल एरिया होते हुए भी आप 40 मिनट में मंदिर पहुंच सकते है.

मंदिर के आसपास पूजा सामग्रियों की दर्जनों दुकानें और होटल समेत अन्य सुविधाएं हैं. जहां भक्तों के लिए हर संभव सहायता की जाती है.

Tags: Bhojpur news, Bihar News, Durga Puja festival, Hindu Temple, Navratri Celebration

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें