होम /न्यूज /बिहार /Bhojpur News: बिहार के इस हाईवे पर चलना हुआ खतरनाक, रोजाना होते हादसे, जानें वजह

Bhojpur News: बिहार के इस हाईवे पर चलना हुआ खतरनाक, रोजाना होते हादसे, जानें वजह

Bhojpur News: कई प्रोजेक्ट में काम कर चुके सिविल इंजीनियर कुणाल कुमार ने बताया कि सड़क की एक डिजाइन होती है. अगर किसी सड़ ...अधिक पढ़ें

रिपोर्ट- आलोक कुमार भारती

भोजपुर. बिहार के भोजपुर जिले में सारण से जोड़ने के लिए बनी आरा-छपरा मुख्य मार्ग बालू लदे हेवी वाहनों का दबाव नहीं झेल पा रही है. यही कारण है कि यह सड़क पूरी तरह से जर्जर हो गई है. ट्रकों में बालू से रिसता पानी आरा-छपरा फोरलेन को हरिपुर के समीप से लेकर बबुरा तक सड़क जर्जर कर दिया है. इससे यह जगह-जगह धंस भी गई है. जर्जर सड़क पर चलने के कारण अक्सर बाइक सवार दुर्घटना के शिकार हो चोटिल हो जाते हैं. रोजाना इस सड़क मार्ग से आने वाले शिक्षक राजवंश सिंह ने बताया कि क्षमता से अधिक बालू लदे ट्रकों के कारण सड़क खराब हो गई है. लेकिन खनन विभाग इसे रोकने में नाकाम साबित हो रहा है.

ट्रकों के ओवरलोड होने के कारण सड़क पर भी ज्यादा लोड पड़ता है, जिस कारण सड़क धंस गई है. हालांकि कुछ दिनों से दिन में अब ओवरलोड वाहन नहीं चल रहे हैं, मगर रात के अंधेरे में अभी भी ओवरलोड वाहन सड़क पर दौड़ लगा रहे हैं.

मौत की दावत देती है जर्जर सड़क
आरा- छपरा फोरलेन सड़क हादसे को दावत देता है. हरिपुर के समीप से यह फोरलेन सड़क जर्जर हालत में है. सड़क पर जगह-जगह गड्ढे होने से प्रतिदिन हादसा होता है. इस पर छोटे वाहन, बाइक आदि से यात्रा करने में स्थानीय लोग भयभीत रहते हैं. वही कभी अगर कोई अंजान ड्राइवर रात के वक्त इधर से गाड़ी लेकर गुजरता है, तो उसे सड़क में बन गए गड्ढे की जानकारी नहीं होती है. इससे उनकी गाड़ी दुर्घनाग्रस्त हो जाती है. छात्र मो.इमरान आलम ने बताया कि आरा- छपरा फोरलेन रोड के बायलेन में जगह-जगह गड्ढा बना हुआ है. सड़क खराब होने के कारण आये दिन बाइक सवार गिरकर जख्मी हो जाते हैं. सरकार को इस ओर ध्यान देने की जरूरत है.

क्या कहते हैं सिविल इंजीनियर
कई प्रोजेक्ट में काम कर चुके सिविल इंजीनियर कुणाल कुमार ने बताया कि सड़क की एक डिजाइन होती है. अगर किसी सड़क की क्षमता 60 टन है और उसपर 90 टन तक क्षमता वाले वाहन चलेंगे तो सड़क खराब होगी. दूसरा सबसे अहम पहलू यह है कि सोन नदी से जो बालू निकलता है, उसे ट्रक पर लोड कर दिया जाता है. इस बालू से निकलने वाला पानी भी सड़क को खराब करता है. इसका निदान यह है कि जर्जर सड़क को PQC कर दिया जाए.

Tags: Bhojpur news, Bihar Government, Bihar News, National Highways Authority of India, Road Accidents

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें