भोजपुरी के पगड़ी बचावे खातिर दुगो भोजपुरियन के आरा से दिल्ली के भइल पदजतरा

आरा के विवेकदीप पाठक और आलोक चौबे नामक दुगो जवान पिछला सितंबर में भोजपुरी के एगो बेढंगा गाना 'पांडेय जी के बेटी चिपक के चुम्मा देती' से बड़ा आहत भैलन.

News18 Bihar
Updated: December 1, 2018, 6:29 PM IST
भोजपुरी के पगड़ी बचावे खातिर दुगो भोजपुरियन के आरा से दिल्ली के भइल पदजतरा
विवेकदीप पाठक और आलोक चौबे
News18 Bihar
Updated: December 1, 2018, 6:29 PM IST
भोजपुरी भाखा में अश्लीलता के लागल बेमारी के छोडावे खातिर लोगन से अपील लेके आरा के दुगो नौजवान लोग पैदल चलके आज दिल्ली पहुंचले. दिल्ली चहुंप के इ दोनों लोग संस्कृति मंत्रालय और भाषा साहित्य से जुडल लोगन के मेल के माध्यम से आपन बात के ज्ञापन देले बा.

आरा के विवेकदीप पाठक और आलोक चौबे नामक दुगो जवान पिछला सितंबर में भोजपुरी के एगो बेढंगा गाना 'पांडेय जी के बेटी चिपक के चुम्मा देती' से बड़ा आहत भैलन. इ दोनों लोग पहले त आरा कोर्ट में गायक के खिलाफ मुकदमा ठोके के सोचले रहन लेकिन भोजपुरी से जुड़ल लोग के सलाह मानके एह अश्लीलता के विरोध में भोजपुरी भाषी समाज के बीच जागरुकता करे के निर्णय लेले.

ये भी पढ़ें- उपेन्द्र कुशवाहा की 'उपेक्षा' पर बोली कांग्रेस, अब तो एनडीए छोड़ देना चाहिए

लोगन के बीच से इ बात भी आवत रहे कि भोजपुरी के फिलिम आ गाना में अश्लीलता के घुसावल निर्माता लोग के आ गायक लोग के आम बेमारी हो गइल बा. भोजपुरी के माई मानते हुए इ दुनो जना भोजपुरी के देह में लागल अश्लीलता के रोग के छुडावे खातिर आपन पदयात्रा भोजपुर जिला के मुख्यालय आरा से 29 अक्टूबर से शुरू करके 1 दिसंबर के दिल्ली में खतम कैले.

कुल 1200 किलोमीटर के इनकर पदजतरा 34 दिन में पूरा हो गइल. एह दौरान विवेक दीप और आलोक के आरा, बक्सर, बलिया, गाजीपुर, बनारस, लखनऊ, सुल्तानपुर, सिकंदराबाद में लोगन के खूब समर्थन मिलल आ लोग इनका जतरा के पोजिटिव बतौले. एह दौरान लखनऊ के लोग के कहनाम रहे कि भोजपुरी के इलाका के कलाकार लोग हीं भोजपुरी के बदनाम आ खराब कर रहल बा.

ये भी पढ़ें- संसद के शीतकालीन सत्र से पहले मंत्री पद से इस्तीफा दे सकते हैं कुशवाहा!

पदजतरा के बाद दिल्ली से फोन पर विवेक दीप बतौले ह कि भोजपुरी गाना, एलबम के बाढ़ यूट्यूब सहित नेट और सोशल मीडिया में रोज अपलोड हो रहल बा. तमाम जगह अश्लीलता हाबी बा भोजपुरी भाखा पर मनरंजन के आड़ में. लोग के चाहि कि हर अपलोडिंग पर आपत्ति दर्ज कइल जाए ताकि भोजपुरी भाषा और साहित्य के अश्लीलता से बेलाग कइल जा सके.
Loading...

फिलहाल इ दुनो भोजपुरिया जवान आपन काम त कर चुकल बाडे. अब आगे के हाल जनता जाने और व्यवस्था जाने.

(राजेंद्र पाठक)

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए भोजपुर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: December 1, 2018, 5:23 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...