आरा पहुंचे रेल मंत्री ने पूरी की लोगों की पुरानी मांग, अब इस गाड़ी का होगा ठहराव

गोयल ने कहा कि पूर्वी और उत्तर पूर्वी भारत के विकास के लिए केंद्र सरकार प्रयासरत है. सरकार ये नहीं चाहती कि सिर्फ दक्षिण भारत का ही विकास हो.

News18 Bihar
Updated: August 12, 2018, 5:15 PM IST
आरा पहुंचे रेल मंत्री ने पूरी की लोगों की पुरानी मांग, अब इस गाड़ी का होगा ठहराव
आरा के कार्यक्रम में रेल मंत्री
News18 Bihar
Updated: August 12, 2018, 5:15 PM IST
रेल मंत्री पीयूष गोयल ने रविवार को आरा में आरा-सासाराम रेलखंड पर विद्युतीकरण एवं आरा जंक्शन सहित चार स्टेशनों पर उपरिगामी पैदल पुलों का शिलान्यास किया. इस मौके पर उनके साथ बिहार के उप-मुख्यमंत्री सुशील मोदी, केंद्रीय मंत्री अश्विनी कुमार चौबे और केंद्रीय ऊर्जा राज्य मंत्री एवम स्थानीय सांसद आरके सिंह भी उपस्थित थे.

आरा स्टेशन पर आयोजित इस समारोह में रेल मंत्री ने स्थानीय सांसद आरके सिंह के कार्यों की सराहना करते हुए कहा कि आनेवाले दिनों में हर घर में बिजली पहुंचेगी. रेल परियोजना के बारे में लोगों को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा कि एक बार विद्युतीकरण का कार्य पूरा हो जाने पर आप सभी को बहुत ही लाभ होने वाला है.

ज्यादा से ज्यादा ट्रेनों का परिचालन आरा-सासाराम रूट पर किया जा सकेगा. अगले साल इलाहाबाद में हो रहे बड़े आयोजन को लेकर रेल मंत्री ने सांसद के आग्रह को स्वीकार करते हुए आरा स्टेशन पर हावड़ा-हरिद्वार सुपरफास्ट ट्रेन के ठहराव का निर्णय खुले मंच से किया.

गोयल ने कहा कि पूर्वी और उत्तर पूर्वी भारत के विकास के लिए केंद्र सरकार प्रयासरत है. सरकार ये नहीं चाहती कि सिर्फ दक्षिण भारत का ही विकास हो. सांसद आरके सिंह ने कहा कि आरा से पटना जाने के क्रम में लोगों को काफी मुश्किलों का सामना करना पड़ता था. एक ही सवारी गाड़ी होने के कारण यात्रियों को बैठने में काफी दिक्कत होती थी.

उन्होंने रेल मंत्री से कहा कि दो जगहों पर आरओबी की अभी भी हमें जरूरत है. सांसद ने कुछ विशेष रेलगाड़ियों के आरा स्टेशन पर ठहराव की भी मांग की जिससे कि लोगों को पटना जाकर यात्रा के लिये ट्रेन पर सवार होने की कोई जरूरत नहीं हो. मौके पर कई सासंद, विधायक और विधान पार्षद भी मौजूद थे.
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर