लाइव टीवी

आरा कोर्ट बम ब्लास्ट के सजायाफ्ता कैदी की जेल में संदेहास्पद मौत, जांच में जुटी पुलिस
Bhojpur News in Hindi

News18 Bihar
Updated: January 13, 2020, 11:20 AM IST
आरा कोर्ट बम ब्लास्ट के सजायाफ्ता कैदी की जेल में संदेहास्पद मौत, जांच में जुटी पुलिस
जेल में जान गंवाने वाले आरा बम ब्लास्ट केस के गुनहगार प्रमोद सिंह की फाइल फोटो

23 जनवरी 2015 को आरा कोर्ट में हुए बम ब्लास्ट (Ara Court Bomb Blast) की घटना में एक महिला समेत दो लोगों की मौत हो गई थी. बम ब्लास्ट की इस घटना के बाद आरा कोर्ट (Ara Civil Court) ने अगस्त 2019 को पांच आरोपियों को दोषी करार दिया था और सजा सुनाई थी.

  • Share this:
भोजपुर. आरा जेल (Ara Jail) में संदेहास्पद स्थिति में एक बंदी की मौत हो गई. मृतक बंदी का नाम प्रमोद सिंह है जो आरा सिविल कोर्ट बम ब्लास्ट (Bomb Blast) मामले में जेल में बंद था. जेल प्रशासन के मुताबिक भोजपुर जिले के सहार के एकवारी गांव निवासी प्रमोद के आज सुबह नींद से न जागने पर साथी बंदियों ने जेल प्रशासन को सूचना दी जिसके बाद उसे सदर अस्पताल लाया गया लेकिन तब तक उसकी मौत हो चुकी थी.

मेडिकल बोर्ड का गठन

कैदी की मौत की जानकारी मिलते ही जिलाधिकारी के आदेश पर मजिस्ट्रेट की निगरानी में एक मेडिकल बोर्ड का गठन किया गया है जो शव का पोस्टमार्टम अपनी निगरानी में करवा रही है. प्रमोद सिंह की मौत की सूचना मिलने पर परिजन समेत सगे-संबंधी भी अस्पताल पहुंच गए हैं. मृतक प्रमोद सिंह मूल रूप से सहार थाना क्षेत्र के एकवारी गांव का निवासी था.

पांच साल पहले हुई थी कोर्ट में बम-ब्लास्ट की घटना

प्रमोद सिंह की मौत की सूचना मिलते ही उसके परिजन भी सदर अस्पताल पहुंच गए. बता दें कि 23 जनवरी 2015 को आरा कोर्ट में हुए बम ब्लास्ट की घटना में एक महिला समेत दो लोगों की मौत हो गई थी. इस घटना में बम लाने वाली यूपी के बलिया की संदिग्ध महिला नगीना देवी की मौत हो गई थी. ड्यूटी पर कार्यरत सिपाही अमित कुमार शहीद हो गया था, जबकि एक दर्जन से ज्यादा लोग घायल हुए थे.

प्रमोद सिंह को मिली थी उम्रकैद की सजा

मृतक प्रमोद सिंह सजा पाने वाले उन चार आरोपियों में शामिल था. मौत के कारणों का अब तक पता नहीं लग सका है और जेल प्रशासन पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने का इंतजार कर रहा है. बम ब्लास्ट की इस घटना के बाद आरा कोर्ट ने अगस्त 2019 को पांच आरोपियों को दोषी करार देते हुए मुख्य आरोपी लंबू शर्मा को फांसी की सजा दी थी और बाकी आरोपियों को आजीवन कारावास की सजा सुनाई थी.इनपुट- हिमांशु प्रवीण

ये भी पढ़ें- पश्चिम बंगाल से अगवा CA बिहार से बरामद, पांच करोड़ की मांगी गई थी फिरौती

ये भी पढ़ें- बांका में वार्ड सदस्य के पति को गोलियों से भूना, मौके पर हुई मौत

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए भोजपुर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: January 13, 2020, 11:09 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर