CHIRAIA: 2008 में अस्तित्‍व में आई चिरैया विधानसभा सीट पर काबिज है BJP का परचम

सपा (SP) का समर्थन मिलने के बाद यह देखना दिलचस्‍प होगा कि राजद (RJD) चिरैया विधानसभा क्षेत्र (Chiraia Assembly Constituency) में बीजेपी (BJP) को चुनौती देने में सफल हो पाती है या नहीं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: September 22, 2020, 6:21 PM IST
  • Share this:
चिरैया. बिहार (Bihar) के पूर्वी चंपारण (East Champaran) के अंतर्गत आने वाली चिरैया विधानसभा सीट (Chiraia Assembly Constituency) 2008 में हुई परिसीमन के बाद अस्तित्‍व में आई थी. इस विधानसभा क्षेत्र में पहली बार 2010 में हुई था. इस विधानसभा चुनाव में भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) के अवनीश कुमार ने जीत दर्ज की थी. 2015 के विधानसभा चुनाव में एक बार फिर चिरैया विधानसभा क्षेत्र से बीजेपी (BJP) के उम्‍मीदवार ने जीत दर्ज की है. हालांकि, इस बार बीजेपी ने अवनीश कुमार की जगह लाल बाबू को अपना चेहरा बनाया था.

दूसरे पायदान पर थी राजद
विधानसभा चुनाव 2015 में चिरैया क्षेत्र से दूसरे पायदान पर राष्‍ट्रीय जनता दल के लक्ष्‍मी नारायण यादव थे. बीजेपी के लाल बाबू और राजद के लक्ष्‍मी नारायण के बीच हार जीत का अंतर महज 4374 था. इस चुनाव में समाजवादी पार्टी तीसरे और बसपा चौथे पायदान पर थी. यहां आपको बता दें कि बिहार विधानसभा चुनाव 2020 में सपा ने राजद को समर्थन देने का फैसला होगा. ऐसे में यह देखना दिलचस्‍प होगा कि सपा और राजद का साथ बीजेपी के लिए कितनी कड़ी चुनौती खड़ी करने में सफल हो पाती है.

पिछले दो चुनावों के नतीजे
2010: अवनीश कुमार                   (बीजेपी)


2015: लाल बाबू प्रसाद गुप्‍ता          (बीजेपी)

 चिरैया के 2.84 लाख मतदाता
बिहार की चिरैया विधानसभा क्षेत्र में लोकसभा चुनाव 2019 के दौरान कुल 2 लाख 84 हजार 827 मतदाता थे. इनमें पुरुष और महिला मतदाताओं की संख्‍या क्रमश: 1.52 लाख और 1.32 लाख थी.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज