Bihar Election 2020: जेपी नड्डा बोले- COVID-19 के डर से दिल्ली में बैठे थे राहुल गांधी और तेजस्वी यादव

बीजेपी अध्यक्ष जेपी नड्डा ने चुनाव को लेकर कई अहम बातें कहीं
बीजेपी अध्यक्ष जेपी नड्डा ने चुनाव को लेकर कई अहम बातें कहीं

भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा (JP nadda) ने लैरिया में जनसभा को संबोधित करते हुए विपक्ष पर जमकर निशाना साधा. उन्होंने कहा कि तेजस्वी यादव ने लोगों को धोखा दिया है, इसलिए अब उन्हें आराम करना चाहिए.

  • Share this:
बिहार. भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा ((JP Nadda) ) ने लौरिया में एक जनसभा को संबोधित किया. इस दौरान उन्होंने विपक्ष पर जमकर निशाना साधा. जेपी नड्डा ने कहा, "जंगल राज के राजकुमार बिहार विधानसभा में विपक्ष के नेता थे, फिर भी उन्होंने एक बार भी विधानसभा में भाग नहीं लिया. वह लोगों को धोखा दे रहे हैं.  इसलिए उन्हें आराम को दें और नीतीश को फिर से मौका.''

जेपी नड्डा ने कहा कि राहुल गांधी और तेजस्वी यादव (Tejashwi Yadav) दोनों दिल्ली में कोरोना महामारी के दौरान बैठे थे क्योंकि वे कोरोना से डर गए थे. और अब वे पूछते हैं कि कोरोना के दौरान बिहार में क्या हुआ था? नड्डा ने कहा कि महामारी के दौरान केवल सीएम नीतीश कुमार और भाजपा कार्यकर्ताओं ने बिहार की जनता का ध्यान रखा.

ANI ने ये ट्वीट किया है





दिलचस्प हुआ मुकाबला
बिहार विधानसभा  के दूसरे चरण के लिए मंगलवार को वोटिंग हुई. दूसरे चरण में प्रदेश के 17 जिलों की 94 विधानसभा सीटों पर शाम 6 बजे तक 54.05 फीसदी मतदान हुआ. इस चरण में करीब 2.85 करोड़ मतदाता चुनाव मैदान में उतरे और 1500 प्रत्याशियों के भाग्य का फैसला ईवीएम में बंद हो गया, लेकिन खास बात यह है कि साल 2020 के बिहार विधानसभा चुनाव में कई सीटों पर अपने रिश्तेदार ही एक-दूसरे के खिलाफ मैदान में ताल ठोक रहे हैं. कहीं पर भाई-भाई के खिलाफ चुनाव लड़ रहा है तो कहीं पर सास-बहू आमने-सामने हैं. ऐसे में इस बार का बिहार विधानसभा चुनाव बहुत ही दिलचस्प हो गया है. आखिर 10 नवंबर को मतगणना के बाद मालूम पड़ जाएगा कि सास-बहू में कौन किसके ऊपर भारी पड़ता है.



ये भी पढ़ें: गुर्जर आंदोलन का असर, रेलवे ने रद्द की हजरत निजामुद्दीन-कोटा स्पेशल ट्रेन

अगर अररिया जिला में स्थित जोकीहाट विधानसभा की बात करें तो यहां पर दो सगे भाई एक-दूसरे के खिलाफ ताल ठोक रहे हैं. इससे चुनाव बहुत ही दिलचस्प हो गया है. कभी सीमांचल के कद्दावर नेता रहे स्व. सांसद तस्लीमुद्दीन के दोनों बेटे विधायक बनने के लिए आमने सामने हैं. यहां RJD ने तस्लीमुद्दीन के बड़े बेटे और पूर्व सांसद सरफराज आलम को टिकट दिया है. वहीं, सरफराज आलम के छोटे भाई मो. शाहनवाज ओवैसी की एआईएमआईएम पार्टी से मैदान में हैं. हालांकि, वर्तमान में वो राजद से विधायक हैं. ऐसे में दोनों भाइयों के आमने-सामने आने से मुकाबला दिलचस्प हो गया है. इसी तरह ढ़ौरा विधानसभा क्षेत्र के चुनाव मैदान में चाचा-भतीजा आमने सामने हैं. आरजेडी के प्रत्याशी चाचा जयराम राय के खिलाफ उनके ही भतीजे आनंद राय निर्दलीय चुनाव लड़ रहे हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज