Choose Municipal Ward
    CLICK HERE FOR DETAILED RESULTS

    Bihar Chunav Result: रुझानों को कभी भी पलट सकते हैं नतीजे, 20 सीटों पर 1000 से कम मार्जिन

    बिहार में अभी रुझानों पर विश्‍वास करना जल्‍दबाजी होगी.
    बिहार में अभी रुझानों पर विश्‍वास करना जल्‍दबाजी होगी.

    Bihar Chunav Result: आयोग द्वारा जारी किए गए आंकड़ों के अनुसार राज्‍य की 20 सीटों पर वोटों का अंतर 1000 से भी कम है. जिसमें महागठबंधन की 11 सीटें और बीजेपी की छह सीटें हैं. ऐसे में इन रुझानों पर विश्‍वास करना जल्‍दबाजी होगी. ये आंकड़ा कभी भी ताजा रुझानों को बदल सकता है.

    • News18Hindi
    • Last Updated: November 10, 2020, 10:23 PM IST
    • Share this:
    पटना. बिहार विधानसभा चुनाव (Bihar election Results 2020) को लेकर अब तक आए रुझानों में एनडीए बहुमत के करीब दिख रही है. जबक‍ि महागठबंधन भी नीतीश कुमार के चेहरे पर चुनाव लड़ रही एनडीए को कड़ी टक्‍कर दे रहा है. दोनों में कुछ ही सीटों का अंतर बना हुआ है. वहीं चुनाव आयोग का कहना है कि अभी चुनाव के परिणाम को लेकर कोई अंदाजा लगाना जल्‍दबाजी होगी. आयोग द्वारा जारी किए गए आंकड़ों के अनुसार राज्‍य की 20 सीटों पर वोटों का अंतर 1000 से भी कम है. जिसमें महागठबंधन की 11 सीटें और बीजेपी की छह सीटें हैं. ऐसे में इन रुझानों पर विश्‍वास करना जल्‍दबाजी होगी. ये आंकड़ा कभी भी ताजा रुझानों को बदल सकता है.

    बिहार विधानसभा चुनाव की मतगणना देर रात तक चल सकती है: EC
    चुनाव आयोग ने सोमवार को कहा कि बिहार विधानसभा चुनाव की मतगणना में सामान्य से अधिक समय लगेगा और यह देर रात तक भी चल सकती है क्योंकि इस बार 63 प्रतिशत अधिक ईवीएम का इस्तेमाल किया गया है. बिहार विधानसभा चुनाव के लिए मतगणना सुबह से जारी है. चुनाव आयोग के अधिकारियों ने राष्ट्रीय राजधानी में पत्रकारों को बताया कि तीन चरण के चुनाव में करीब 4.16 करोड़ मत पड़े थे, जिनमें से दोपहर एक बजे तक एक करोड़ से अधिक मतों की गिनती हो गई थी. अधिकारियों ने कहा कि अभी तक मतगणना में कोई तकनीकी परेशानी नहीं आई है.

    ये भी पढ़ें: बिहार चुनाव नतीजे LIVE: फिर से बिहार में वापसी करती दिख रही NDA, पूरे नतीजे आने में हो सकती है देरी




    ये भी पढ़ें: Bihar Chunaav Update: कहीं 60 तो कहीं 70 वोटों का अंतर, इन सात सीटों ने बढ़ाई NDA और महागठबंधन की धड़कन

    कोविड-19 के मद्देनजर सामाजिक दूरी बनाए रखने के नियम के पालन के लिए आयोग ने 2015 विधासनसभा चुनाव की तुलना में इस बार मतदान केंद्रों की संख्या बढ़ा दी थी. 2015 चुनाव में करीब 65,000 मतदान केंद्र स्थापित किए गए थे, जिन्हें बढ़ाकर इस बार 1.06 लाख कर दिया गया था. इसके चलते इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीन (ईवीएम) भी अधिक इस्तेमाल करनी पड़ी थी.
    अगली ख़बर

    फोटो

    टॉप स्टोरीज