Assembly Banner 2021

Bihar Election Result 2019: लालू यादव की बिटिया का बिगड़ा गणित, 'कछुआ-खरगोश की रेस' में पिछड़ीं

Patliputra Lok Sabha Election 2019: बिहार में लोकसभा चुनाव 2019 बेहद दिलचस्प मोड़ पर पहुंचते जा रहे हैं. लालू यादव की बेटी मीसा भारती कई बार पीछे तो कुछ बार आगे निकल जा रही हैं.

Patliputra Lok Sabha Election 2019: बिहार में लोकसभा चुनाव 2019 बेहद दिलचस्प मोड़ पर पहुंचते जा रहे हैं. लालू यादव की बेटी मीसा भारती कई बार पीछे तो कुछ बार आगे निकल जा रही हैं.

Patliputra Lok Sabha Election 2019: बिहार में लोकसभा चुनाव 2019 बेहद दिलचस्प मोड़ पर पहुंचते जा रहे हैं. लालू यादव की बेटी मीसा भारती कई बार पीछे तो कुछ बार आगे निकल जा रही हैं.

  • Share this:
बिहार की राजनीति के पुरोधा लालू यादव की बेटी शुरुआती रुझानों में आगे रहने के बाद दोपहर 11 बजे तक पिछड़ने लगी हैं. 23 मई को जब ईवीएम खुले तो शुरुआत में उन्होंने करीब 16 हजार वोटों की बढ़त बनाई. लेकिन दोपहर तक उनका गणित बिगड़ने लगा है. वो अपने चाचा रामकृपाल यादव से पिछड़ गई हैं. लालू परिवार का नाम आते ही जिन चेहरों की बात होती है उनमें उनके दोनों बेटों यानी तेजस्वी और तेजप्रताप के साथ मीसा भारती का भी नाम शामिल होता है. राज्यसभा सांसद और लालू प्रसाद की सबसे बड़ी बेटी मीसा भारती इस बार भी लोकसभा चुनाव के समर में हैं और पाटलिपुत्र संसदीय सीट से अपने मुंहबोले चाचा यानी केंद्रीय मंत्री रामकृपाल यादव को टक्कर दे रही हैं.

मीसा भारती का परिचय
मीसा भारती RJD प्रमुख लालू प्रसाद यादव और राबड़ी देवी की बड़ी बेटी हैं और उनका नाम आंदोलन के नाम पर ही रखा गया था. दरअसल 43 साल की मीसा का जब जन्म हुआ तो लालू यादव मीसा (मेंटेंनेंस ऑफ इंटर्नल सेक्‍यूरिटी एक्‍ट) के तहत जेल में थे इसलिए उन्होंने अपनी बिटिया का नाम मीसा रखा दिया. मीसा ने साल 1993 में महात्मा गांधी मेमोरियल मेडिकल कॉलेज, जमशेदपुर में एमबीबीएस कोर्स में दाखिला लिया और पटना से एमबीबीएस किया. मीसा की शादी 1999 में कंप्यूटर इंजीनियर शैलेश कुमार से हुई.

मीसा भारती का करियर
पिता की तरह ही परिवार की बड़ी बेटी मीसा भी डॉक्टरी की पढ़ाई करने के बाद राजनीति में आ गईं. उन्होंने ऐसे वक्त अपने माता-पिता से राजनीति सीखी जब उनके दोनों भाई यानी तेजस्वी और तेजप्रताप यादव काफी छोटे थे. सक्रिय राजनीतिक में मीसा साल 2013 में आई जिसके बाद साल 2014 में वो पहली बार लोकसभा का चुनाव लड़ी. इस दौरान मीसा को हार का सामना करना पड़ा. थीं. कहा जाता है कि इस सीट को मीसा को देने के लिए लालू ने अपने सबसे भरोसेमंद साथी रामकृपाल यादव तक को नाराज कर दिया था जिसके बाद रामकृपाल यादव ने न केवल पार्टी को छोड़कर बीजेपी का दामन थाम लिया बल्कि मीसा को हरा भी दिया.



राज्यसभा में मीसा ने ली थी एंट्री
2014 के लोकसभा चुनाव में हार का सामना करने के बाद मीसा को आरजेडी ने राज्यसभा भेजा था अब एक बार फिर वह पाटलिपुत्र लोकसभा सीट से चुनावी रण में हैं जहां उनकी लड़ाई अपने ही चाचा रामकृपाल यादव से है. 2014 के लोकसभा चुनाव में पाटलिपुत्र सेरामकृपाल यादव ने मीसा को 40322 वोटों से हरा दिया था. मीसा को इस चुनाव में 342940 वोट मिले थे.

सोशल मीडिया पर काफी सक्रिय रहती हैं मीसा भारती
लालू के दोनों बेटों और पत्नी राबड़ी देवी की तरह मीसा भारती भी सोशल मीडिया पर काफी सक्रिय रहती हैं. उनके पोस्‍ट में सरकार, नीतीश कुमार और नरेंद्र मोदी निशाने पर होते हैं. मीसा सोशल मीडिया पर इस सक्रियता को अपनी ताकत मानती हैं. राजनीति में मीसा अपने पिता यानी लालू प्रसाद को आदर्श मानती हैं. उनके मुताबिक राजनीति में वो अपने पिता के कारण नहीं बल्कि अपनी मर्जी से आईं हैं.

अपने WhatsApp पर पाएं लोकसभा चुनाव के लाइव अपडेट्स

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज