बिहार: UNLOCK 1.0 के बाद दुकानों में CORONA को खुला न्‍योता, बढ़ा संक्रमण का खतरा
Patna News in Hindi

बिहार: UNLOCK 1.0 के बाद दुकानों में CORONA को खुला न्‍योता, बढ़ा संक्रमण का खतरा
पटना में सरकारी दिशा-निदेर्शों का खुलेआम उल्‍लंघन हो रहा है.

कोरोना वायरस (Coronavirus) से बचाव को लेकर प्रशासन द्वारा जारी किए गए दिशानिर्देशों का पटना (Patna) के ज्‍यादातर दुकानों में पालन नहीं हो रहा है.

  • Share this:
पटना. राजधानी में अनलॉकडाउन 1.0 (Unlokdown) में मिली छूट के बाद सारी दुकानें, मॉल शॉपिंग काम्प्लेक्स सुबह 7 से शाम 9 बजे के बीच खुल रहे हैं.  इन दुकानों के खुलने के साथ शहर में कोरोना संक्रमण (Corona) फैलने का खतरा भी काफी हद तक बढ़ गया है. दरअसल, शहर में कपड़ा, रेडीमेड वस्त्र, सराफा और फुटवियर की दुकानें खुल चुकी हैं. कपड़े की दुकानों में ग्राहक नए कपड़े खरीदने के बाद, उन्हें ट्रायल रूम में ले जाकर चेंज करते हैं. इसके बाद, पसंद नहीं आने पर फिर से वही कपड़े दुकान पर ही छोड़कर चले जाते हैं. इससे ट्रायल के बाद छोड़े गए कपड़ों में संक्रमण (Infection) फैलने की आशंका से इंकार नहीं किया जा सकता है.

इसी प्रकार रेडीमेड कपड़ों, साड़ियों और जूते-चप्पल और वस्त्राभूषणों के मामलों में भी ट्रायल के नाम पर संक्रमण को न्योता दिया जा रहा है. मौर्य शॉपिंग काम्प्लेक्स में कपड़े की बुटीक चलाने वाले घनश्याम जी कहते है कि हम दुकानों पर आए ग्राहकों का सेनिटाइजर की सुविधा देते है और सोशल डिस्‍टेंसिंग का भी पालन करते है. लेकिन, ग्राहक कपड़े लेने के पहले उसे छू कर देखते है, जिससे उन्हें फेब्रिक का पता चल सके. उसके बिना कोई भी कपड़ा नही खरीदता है, जिसकी वजह से उन्हें मना नही कर पाते है. वहीं, दूसरी तरफ बोरिंग रोड के कई  शोरूम का हाल भी यही था. वहां भी ग्राहक कपड़े या जूता चप्पल लेने के पहले उसे ट्रायल कर रहे है.

कोरोना संक्रमण से बचाव के लिए प्रशासन ने जारी किए नए निर्देश
ग्राहक पसंद नही आने पर उसे दुबारा वहीं छोड़ कर चले जाते है. वहीं, कोई दूसरा ग्राहक आ कर फिर से उसे ट्राय कर रहा होता है. इस तरह, साफ-साफ ट्रायल के नाम पर संक्रमण को न्योता दिया जा रहा है. वहीं, बार-बार कपड़ा और रेडीमेड वस्त्र विक्रेताओं को हिदायत दी जा रही है कि वे संक्रमण से बचने के लिए सबसे पहले तो ग्राहकों के हाथ सैनेटाइज करवाएं. इसके बाद, हैंड ग्लव्ज और मास्क पहनकर सभी कर्मचारी कार्य करें. ग्राहकों को ट्रायल के लिए कपड़े नहीं दें. फिलहाल, एक बार बिके हुए कपड़े दोबारा चेंज करने की सुविधा भी नहीं दी जा रही है. इसके अलावा, दुकानदार के काउंटर से ग्राहक की दूरी जो पहले डेढ़ फीट तक थी, उसे एक अतिरिक्त काउंटर लगाकर उस दूरी को 3 फीट तक करने के लिए कहा गया है.
 


अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज