• Home
  • »
  • News
  • »
  • bihar
  • »
  • थाने में दर्ज हुआ रेप का केस फिर मुर्दा बन गया गवाह !

थाने में दर्ज हुआ रेप का केस फिर मुर्दा बन गया गवाह !

मामला बिहार के कैमूर जिले का है. 10 अक्टूबर 2016 को हुई रेप की इस घटना में पीड़िता पक्ष की तरफ से दो गवाह बनाये गये थे जिसमें एक गवाह शिव बचन सिंह पिता-स्वर्गीय राम नाथ सिंह कि मृत्यु 6 अगस्त 2011 को ही हो चुकी है. मृतक के मरे 5 वर्ष हो चुके हैं लेकिन उसे केस में गवाह बना दिया गया है.

मामला बिहार के कैमूर जिले का है. 10 अक्टूबर 2016 को हुई रेप की इस घटना में पीड़िता पक्ष की तरफ से दो गवाह बनाये गये थे जिसमें एक गवाह शिव बचन सिंह पिता-स्वर्गीय राम नाथ सिंह कि मृत्यु 6 अगस्त 2011 को ही हो चुकी है. मृतक के मरे 5 वर्ष हो चुके हैं लेकिन उसे केस में गवाह बना दिया गया है.

मामला बिहार के कैमूर जिले का है. 10 अक्टूबर 2016 को हुई रेप की इस घटना में पीड़िता पक्ष की तरफ से दो गवाह बनाये गये थे जिसमें एक गवाह शिव बचन सिंह पिता-स्वर्गीय राम नाथ सिंह कि मृत्यु 6 अगस्त 2011 को ही हो चुकी है. मृतक के मरे 5 वर्ष हो चुके हैं लेकिन उसे केस में गवाह बना दिया गया है.

  • Share this:
क्या पांच साल पहले मर चुका आदमी किसी केस का गवाह बन सकता है अगर आप जवाब नहीं में सोच रहे हैं तो गलत हैं.. क्योंकि बिहार में रेप के मामले में मुर्दे को गवाह बनाने का मामला सामने आया है.

मामला बिहार के कैमूर जिले का है जहां गैंगरेप के मामले में पांच साल पहले मर चुके व्यक्ति को गवाह बनाया गया. कैमूर जिले के भगवानपुर थाना के परमालपुर गांव में दशहरा पूजा के दौरान घर लौट रही युवती से गांव के ही तीन युवकों ने गैंग रेप किया था.

युवती के चिल्लाने कि आवाज सुनकर जुटे लोगों ने उसकी जान बचायी थी. घटना के बाद से तीनों युवक फरार थे. तीनों लोगों पर भभुआ महिला थाने में मामला दर्ज किया गया था जिसमें एक युवक को गिरफ्तार भी कर लिया गया था. रेप की शिकार युवती को केस उठाने के लिए भी लगातार धमकी मिल रही थी. 10 अक्टूबर 2016 को हुई इस घटना में पीड़िता पक्ष की तरफ से दो गवाह बनाये गये थे जिसमें एक गवाह शिव बचन सिंह पिता-स्वर्गीय राम नाथ सिंह कि मृत्यु 6 अगस्त 2011 को ही हो चुकी है.

मृतक के मरे 5 वर्ष हो चुके हैं लेकिन उसे गवाह बना दिया गया है. पीडीता के परिजनों का कहना है कि जिससे गवाही लेनी थी पुलिस ने उससे गवाही नहीं ली और फिर 5 वर्ष पहले मर चुके इंसान को केस में गवाह बना दिया.

पीड़ित परिवार का आरोप है कि पुलिस पैसा लेकर केस को कमजोर करना चाहती है. पुलिस ने अपनी डायरी में मुर्दे को न्यायालय के कटघरे में गवाही के लिए खड़ा कर दिया है. कैमूर की एसपी हरप्रीत कौर ने इस मामले को गम्भीरता से लेते हुए संबंधित पुलिसकर्मियों पर कार्रवाई कर पीड़िता को न्याय दिलाने कि बात कही है.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज