पटना में जाम को लेकर बिहार के परिवहन सचिव ने रेलवे को लिखा पत्र, कई रूटों पर ट्रेन चलाने की मांग

छठ पूजा को लेकर लोग पटना के जरिये अपने घरों के लिए लौट रहे हौं इससे शहर में भीड़ हो गई है.
छठ पूजा को लेकर लोग पटना के जरिये अपने घरों के लिए लौट रहे हौं इससे शहर में भीड़ हो गई है.

छठ पूजा (Chhath Puja) को लेकर बिहार (Bihar) के विभिन्न हिस्सों में लोग पटना (Patna) से होकर लौट रहे हैं इससे पटना में वाहनों और लोगों की भीड़ (Crowd) बढ़ने से जाम की स्थिति पैदा हो गई है. इसके बाद बिहार के परिवहन सचिव (Transport Secretary) ने रेलवे को पत्र लिखकर कई रूटों पर ट्रेन (Train) चलाने की मांग की है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 20, 2020, 1:03 AM IST
  • Share this:
पटना. पटना (Patna) को जाम से निजात दिलाने के लिए परिवहन सचिव संजय अग्रवाल ने दानापुर मंडल के रेल प्रबंधक को पत्र लिखकर कई मार्गों पर ट्रेन (Train) चलाने का अनुरोध किया है. परिवहन सचिव संजय कुमार अग्रवाल ने बताया कि ट्रेनों की कम संख्या में परिचालन होने की वजह से छठ महापर्व (Chhath Mahaparva) पर बड़ी संख्या में लोग बस एवं निजी वाहनों से आवागमन कर रहे हैं. ऐसी स्थिति में बाईपास एवं अन्य सड़क मार्गों पर वाहनों का दवाब अधिक बढ़ गया है, जिससे सड़कों पर ट्रैफिक जाम की समस्या उत्पन्न हो गई है.

पटना के गांधी सेतु पर जाम की गंभीर समस्या उत्पन्न हो गई है. अग्रवाल ने पत्र में लिखा कि समुचित संख्या में ट्रेनों का परिचालन करने से छठ महापर्व पर्व पर आने-जाने वाले लोगों को काफी हद तक राहत मिलेगी और शहर को जाम की समस्या से भी निजात मिल सकेगी. परिवहन सचिव ने कहा कि अत्यधिक ट्रैफिक को देखते हुए एवं कोविड-19 के संक्रमण की रोकथाम के उद्देश्य से राज्य के विभिन्न ट्रेन मार्गों पर ट्रेनों का परिचालन किया जाना आवश्यक है. पटना से गया, बक्सर, झाझा, राजगीर, इस्लामपुर. गया से क्यूल. पटना से दरभंगा, जयनगर, सहरसा.. पटना से रक्सौल हाजीपुर-बरौनी-कटिहार. पटना-बरौनी, किशनगंज, कटिहार. इन मार्गों पर ट्रेनों के परिचालन के लिए रेलवे से अनुरोध किया गया है.

EC का ऐलान, रामविलास पासवान के निधन से रिक्त राज्यसभा सीट पर 14 दिसंबर को होगा उपचुनाव



गृह सचिव की अध्यक्षता में बैठक कर लिए कई निर्णय
आज अपर मुख्य सचिव गृह विभाग की अध्यक्षता में वीडियो काॅन्फ्रेसिंग के माध्यम से महात्मा गांधी सेतु पुल पर जाम की समस्या से प्रभावी ढंग से निपटने हेतु विभिन्न जिलों के जिलाधिकारी, पुलिस अधीक्षक के साथ बैठक कर कई फैसले लिए गये हैं. इन फैसलों में कुछ इस तरह से हैं....

1.जे.पी. सेतु से उत्तर से दक्षिण की ओर खाली भारी वाहनों का परिचालन किया जाएगा. लोडेड भारी वाहन के परिचालन की अनुमति नहीं होगी. जे.पी. सेतु के दोनों छोर से हल्के वाहनों एवं बसों का परिचालन होगा. लोडेड भारी वाहन उत्तर से दक्षिण की ओर पूर्णतः वर्जित रहेंगे.

2.महात्मा गांधी सेतु पर बालू वाले ट्रक को छोड़कर अन्य सभी भारी वाहनों का परिचालन मान्य होगा. वैशाली की ओर से आने वाले खाली ट्रक जे.पी. सेतु के माध्यम से पटना में प्रवेश करेंगे.



3.पीपापुल पर दोनों दिशा में हल्के वाहनों का संचालन होगा. रात्रि के समय में भी संचालन हो, इसके लिए पुल एवं एप्रोच रोड  के दोनों तरफ लाइटिंग की पर्याप्त व्यवस्था की जाएगी.

4.कोईलवर पुल के निकट NHAI के द्वारा नया पुल बनाया जा रहा है. नवीन पुल पूरा हो चुका है एवं निकट भविष्य में इसका उद्घाटन होना है. हालाकि NHAI द्वारा आवागमन प्रारम्भ करने में समय लगने की संभावना बतायी गई है, परन्तु जनहित में इस पर ट्रायल रन के लिए RO NHAI से अनुरोध किया गया तथा NHAI से सैद्धांतिक सहमति ली गई.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज