बिहार विधानसभा चुनाव 2020: JDU के लिए अपनी परंपरागत डुमरांव सीट बचाने की चुनौती

केंद्रीय चुनाव आयोग की टीम बिहार का दौरा करेगी
केंद्रीय चुनाव आयोग की टीम बिहार का दौरा करेगी

पिछली बार जेडीयू ने आरजेडी और कांग्रेस के साथ मिलकर चुनाव लड़ा था इसलिए उसे डुमरांव सीट पर जीत हासिल करने में दिक्कत नहीं हुई थी. इस बार जेडीयू वापस एनडीए गठबंधन में लौट आई है. इसे देखते हुए कहा जा सकता है कि विपक्षी महागठबंधन के लिए इस बार यहां पार पाना कड़ी चुनौती होगी

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 13, 2020, 4:23 PM IST
  • Share this:
बिहार विधानसभा चुनाव (Bihar Assembly Election 2020) की सुगबुगाहट के साथ ही बक्सर जिले के अंतर्गत आने वाले डुमरांव विधानसभा क्षेत्र (Dumraon Assembly Seat) में भी चुनावी गहमागहमी शुरू हो गई है. यहां के चुनावी अखाड़े में मुख्य मुकाबला जेडीयू-बीजेपी (JDU-BJP) गठबंधन और विपक्षी महागठबंधन के बीच होगा. बक्सर लोकसभा क्षेत्र (Buxar Lok Sabha Seat) में आने वाले डुमरांव विधानसभा सीट का गठन वर्ष 1951 में हुआ था. वर्तमान में डुमरांव, चौगाई, केसठ,नावानगर और नगर परिषद के वार्डों को मिलाकर डुमरांव विधानसभा का गठन किया गया है. इसमें कुल 36 पंचायत और नगर परिषद के कुल 26 वार्ड शामिल हैं.

वर्ष 2015 में हुए विधानसभा चुनाव में डुमरांव सीट पर जनता दल युनाइटेड के ददन यादव जीत कर विधायक बने हैं. ददन यादव ने तब एडीए गठबंधन में शामिल रहे राष्ट्रीय लोक समता पार्टी (RLSP) के राम बिहारी सिंह को 30,339 वोटों से हराकर चुनाव जीता था. ददन यादव को कुल पड़े मतों में से 81,081 वोट मिले थे. जबकि राम बिहारी को 50,742 वोट हासिल हुआ था. तीसरे स्थान पर रहे निर्दलीय उम्मीदवार श्रीकांत सिंह के खाते में 14,656 वोट गए थे.

JDU के NDA में लौट आने से महागठबंधन को मिलेगी चुनौती



पिछली बार जेडीयू ने आरजेडी और कांग्रेस के साथ मिलकर चुनाव लड़ा था इसलिए उसे डुमरांव सीट पर जीत हासिल करने में दिक्कत नहीं हुई थी. इस बार जेडीयू वापस एनडीए गठबंधन में लौट आई है. इसे देखते हुए कहा जा सकता है कि विपक्षी महागठबंधन के लिए इस बार यहां पार पाना कड़ी चुनौती होगी.
प्रारंभ काल से राजपूत बहुल माने जाते रहे डुमरांव विधानसभा में तीन लाख 19 हजार के आसपास मतदाता हैं. 2015 के विधानसभा चुनाव में कुल वोटरों में से केवल 1,69,254 वोटरों ने ही अपने मताधिकार का प्रयोग किया था. 2015 के बिहार विधानसभा चुनाव में डुमरांव सीट पर 57.8 फीसदी वोटिंग दर्ज की गई थी.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज