लाइव टीवी

महज चार साल के अंदर बन बैठा था अपराध की दुनिया का 'बेताज बादशाह', अब कोर्ट ने सुनाई सजा-ए-मौत

Pradesh18
Updated: May 16, 2016, 5:48 PM IST
महज चार साल के अंदर बन बैठा था अपराध की दुनिया का 'बेताज बादशाह', अब कोर्ट ने सुनाई सजा-ए-मौत
बक्सर कोर्ट (फाइल फोटो)

जिला एवं सत्र न्यायालय बक्सर में जिला जज प्रदीप कुमार मल्लिक ने शेरू सिंह को सोमवार को फांसी की सजा सुनाई. शेरू पर बक्सर समेत आरा में हत्या के डेढ़ दर्जन से भी ज्यादा मामले दर्ज थे.

  • Pradesh18
  • Last Updated: May 16, 2016, 5:48 PM IST
  • Share this:
बिहार के बक्सर और भोजपुर जिले के कुख्यात और हिस्ट्रीशीटर अपराधी शेरू सिंह को कोर्ट ने फांसी की सजा सुनाई है. जिला एवं सत्र न्यायालय बक्सर में जिला जज प्रदीप कुमार मल्लिक ने शेरू सिंह को सोमवार को फांसी की सजा सुनाई. शेरू पर बक्सर समेत आरा में हत्या के डेढ़ दर्जन से भी ज्यादा मामले दर्ज थे. उसने अपने अपराध के करियर के महज तीन साल में बेताज बादशाह बनने जैसा कारनामा कर दिखाया था.

शेरू ने अपने साथी चंदन मिश्रा के साथ मिल कर काफी दिनों तक बक्सर-आरा समेत शाहाबाद के इलाके में खौफ बना रखा था. शेरू सिंह के फोन कॉल्स मात्र से कारोबारी खौफ खाने लगे थे. शेरू पर बक्सर के प्रसिद्द चूना कारोबारी राजेंद्र केशरी की हत्या का भी आरोप था जिसमें उसे सोमवार को सजा सुनाई गई. शेरू पर सिर्फ बक्सर में ही 17 से अधिक अपराधिक मामले दर्ज हैं. पुलिस को लगातार चुनौती देने वाले शेरू को कोलकाता से गिरफ्तार किया गया था. चार साल पहले बक्सर से फरार शेरू को पुलिस ने कोलकाता से रानी रासमति एवेन्यु से गिरफ्तार किया था.

इस दौरान उसका साथी और क्राइम पार्टनर चंदन मिश्रा भी पुलिस के हत्थे चढ़ा था. सरकार ने भी शेरू की गिरफ्तारी पर 50 हजार रुपए का इनाम घोषित कर रखा था. शेरू-चंदन गिरोह ने बहुत ही कम समय में अपराध की दुनिया में अपनी धाक जमा रखी थी. यही कारण था कि दोनों किसी की भी हत्या करने में गुरेज नहीं करते थे.

2009 से 2012 के दौरान शेरू-चंदन गिरोह ने कई वारदातों को अंजाम दिया था जिनमें 20 अप्रैल वर्ष 2011 बक्सर औद्योगिक थाना क्षेत्र में भरत राय की हत्या, 26 जुलाई वर्ष 2011 को ही बक्सर औद्योगिक थाना क्षेत्र में शिवजी खरवार की हत्या और 2011 में बक्सर टाउन थाना क्षेत्र में जेल के एक क्लर्क हैदर अली की हत्या की वारदातें शामिल हैं.

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए जहानाबाद से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: May 16, 2016, 3:37 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर