Home /News /bihar /

स्काउट गाईड से बनाई खुद की पहचान, अब राष्ट्रपति के हाथों होंगे सम्मानित

स्काउट गाईड से बनाई खुद की पहचान, अब राष्ट्रपति के हाथों होंगे सम्मानित

पुरस्कार के चयन के लिए हरियाणा में छह दिवसीय प्रशिक्षण कार्यक्रम आयोजित किया गया था जहां देशभर के 208 प्रतिभागियों ने भाग लिया था

पुरस्कार के चयन के लिए हरियाणा में छह दिवसीय प्रशिक्षण कार्यक्रम आयोजित किया गया था जहां देशभर के 208 प्रतिभागियों ने भाग लिया था

पुरस्कार के चयन के लिए हरियाणा में छह दिवसीय प्रशिक्षण कार्यक्रम आयोजित किया गया था जहां देशभर के 208 प्रतिभागियों ने भाग लिया था

बेगूसराय के दो छात्रों को स्काउट गाईड के क्षेत्र में राष्ट्रपति रोवर पुरस्कार के लिए चयनित किया गया है. बरौनी निवासी दोनो छात्रों के परिजन रेलवे कर्मी है.

इस खबर की सूचना के बाद परिजनों में खुशी की लहर दौड़ गयी है. बरौनी के रहने वाले ये दोनो छात्र रविरंजन और हिमांशु उन छात्रों की सूची में शामिल हो गए हैं जिन्होंने जिले के साथ-साथ बिहार का भी सम्मान बढ़ाने का काम किया है.

दरअसल इस पुरस्कार के चयन के लिए हरियाणा में छह दिवसीय प्रशिक्षण कार्यक्रम आयोजित किया गया था जहां देशभर के 208 प्रतिभागियों ने भाग लिया था. प्रशिक्षण में कुल 12 छात्रों का चयन भारत स्काउट एंड गाईड राष्ट्रपति रोवर पुरस्कार के लिये चयनित किया गया है. इन 12 छात्रों मे बरौनी के भी दो छात्र शामिल हैं जिन्हे इस पुरस्कार से के लिए चयनित किया गया है.

बीस वर्षीय रविरंजन तिवारी बरौनी रेलवे में कार्यरत वाणिज्य अधीक्षक आनंद प्रकाश तिवारी के पुत्र हैं वहीं 20 वर्षीय हिमांशू मिश्रा भी रेलकर्मी स्व0 रामजीवन मिश्रा के पुत्र हैं.

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर