लाइव टीवी

Opinion: अपने ही अंदाज में राजनीति की दिशा तय करते हैं CM नीतीश कुमार

Brijam Pandey | News18 Madhya Pradesh
Updated: December 13, 2019, 6:49 PM IST
Opinion: अपने ही अंदाज में राजनीति की दिशा तय करते हैं CM नीतीश कुमार
सीएम नीतीश इन दिनों जल जीवन हरियाली यात्रा कर रहे हैं.

मुख्‍यमंत्री नीतीश कुमार (Chief Minister Nitish Kumar) ने पिछले कुछ सालों में राजनीति का ट्रेंड बदला है. जबकि इन दिनों वह जल जीवन हरियाली यात्रा (Jal Jeevan Hariyali Yatra) के कारण प्रदेश में भ्रमण कर रहे हैं.

  • Share this:
गोपालगंज. बिहार के मुख्‍यमंत्री नीतीश कुमार (Chief Minister Nitish Kumar) ने पिछले कुछ सालों में राजनीति का ट्रेंड बदला है. वह हर साल समाज से जुड़े ऐसे मसले लेकर सामने आते हैं, जिस पर वह आगे की राजनीति करते हैं. जबकि नीतीश के राजनीति के नए ट्रेंड को उनके सहयोगी दल भी सराहते हैं. इसके अलावा जानकार भी मानते हैं कि सीएम राजनीति (Politics) की दशा और दिशा तय करते हैं. हालांकि विपक्षी दलों का मानना है कि उनका कोई भी समाज सुधार सफल नहीं हो पाया है और जल जीवन हरियाली यात्रा (Jal Jeevan Hariyali Yatra) भी फ्लॉप होगी.

अब समाज सुधार की होगी राजनीति
इन दिनों नीतीश कुमार अपने कुनबे के साथ लगातार गांव-गांव घूम रहे हैं, ताकि बिहार प्रदेश को प्रदूषण मुक्त हो. सीएम ने इस यात्रा का नाम 'जल जीवन हरियाली यात्रा' दिया है. नीतीश कुमार पहली बार इस तरह की यात्रा नहीं कर रहे हैं, बल्कि इससे पहले भी वह कई यात्राएं निकाल चुके हैं. हालांकि वह सभी राजनीतिक यात्रा थीं. जबकि ये यात्रा पूरी तरह से पर्यावरण और सामाजिक है. यकीनन नीतीश कुमार हाल के सालों में कई सामाजिक मुद्दों को लेकर मुहिम चला चुके हैं, जिसमें शराबबंदी, बाल विवाह, दहेज प्रथा और पर्यावरण जैसी यात्राएं शामिल हैं. सच कहा जाए तो वह सामाजिक मुद्दों को लेकर अब राजनीति का ट्रेंड तय कर रहे हैं. इस बात को लेकर खुद नीतीश कुमार भी सभी मंचों पर अपनी सामाजिक सुधारों की चर्चा करते रहते हैं. वह कहते हैं कि उन्होंने राजनीति के साथ-साथ समाज सुधार के भी काम किए हैं. इसका परिणाम सकारात्मक आए हैं और तभी आगे काम करने का हौसला मिलता है.

सहयोगी दल भी नीतीश के काम के कायल

सीएम नीतीश कुमार के राजनीति के इस नए ट्रेंड को उनके सहयोगी दल भी सर आंखों पर रख रहे हैं. बीजेपी के प्रदेश उपाध्यक्ष मिथिलेश तिवारी कहते हैं कि राजनीति में समाज सुधार भी होना चाहिए, क्योंकि राजनीति भी तो समाज के लिए ही होती है. वह आने वाली पीढ़ी के लिए राजनीति में एक नई लकीर खींच रहे हैं, जो कि काफी बेहतर है.

राजनीति की दिशा तय करते हैं नीतीश
जबकि वरिष्ठ पत्रकार रवि उपाध्याय भी मानते हैं कि नीतीश कुमार एक विजनरी नेता हैं. वह हालात को तुरंत भाप लेते हैं और उस पर काम भी शुरू कर देते हैं. वह राजनीति की दशा और दिशा तय करते हैं. नीतीश कुमार के इस प्रयास से बेहतर परिणाम भी मिले हैं.समाज सुधार पर विपक्ष का तंज
2016 में शराबबंदी को लेकर नीतीश कुमार ने सबसे बड़ी मानव श्रृंखला भी बनवाई थी, जिसे लोगों का भरपूर समर्थन मिला था. इसके अलावा बाल विवाह और दहेज प्रथा को लेकर लोगों में जागरूकता फैलाई जा रही है. ऐसे में समाज सुधार पर विपक्ष तंज कस रहा है. आरजेडी नेता रघुवंश प्रसाद सिंह कहते हैं कि इससे कोई भी मुहिम सफल नहीं हो पाई है. वहीं जल जीवन हरियाली यात्रा भी फ्लॉप होगी.

समाज सुधार को लेकर फिर बनेगी मानव श्रृंखला
सीएम नीतीश कुमार जहां एक तरफ जल जीवन हरियाली को लेकर पूरे राज्य में यात्रा कर रहे हैं, तो वहीं 19 जनवरी 2020 को भी शराबबंदी और समाज सुधार के सभी कार्यक्रमों को लेकर एक बार फिर मानव श्रृंखला बनाने की तैयारी की जा रही है. यकीनन नीतीश कुमार ने हाल के सालों में यह तय कर ही दिया है कि समाज को सुधार कर ही आगे की राजनीति की जा सकती है.

ये भी पढ़ें-

CAB के बहाने नीतीश को घेरने में जुटा विपक्ष, RJD-कांग्रेस ने लगाया ये आरोप
CAB का विरोध करने वाले PK समेत कुछ नेताओं को सस्पेंड कर सकती है JDU!

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए गोपालगंज से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: December 13, 2019, 5:33 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर