Bihar Assembly Election 2020: सीतामढ़ी की इन दो सीटों पर दांव पर लगी कांग्रेस की साख, BJP से होगा सीधा मुकाबला

सीतामढ़ी की दो विधानसभा सीटों पर कांग्रेस का सीधा मुकाबला बीजेपी से है.
सीतामढ़ी की दो विधानसभा सीटों पर कांग्रेस का सीधा मुकाबला बीजेपी से है.

सीतामढ़ी (Sitamarhi) जिले में महागठबंधन (Grand Alliance) के तहत दो सीटों पर कांग्रेस (Congress) ने अपने उम्मीदवार खड़े किये हैं. यहां कांग्रेस की लड़ाई बीजेपी (BJP) के साथ है. इस बार दोनों सीटों पर कांग्रेस की साख दांव पर लगी हुई है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 26, 2020, 4:45 PM IST
  • Share this:
सीतामढ़ी. बिहार (Bihar) में विधानसभा चुनाव (Assembly elections) की तारीख जैसे-जैसे नजदीक आती जा रही है, वैसे ही राजनीतिक दल (Political party) प्रचार में पूरी ताकत झोंकते नजर आ रहे हैं. इस बार सीतामढ़ी विधानसभा चुनाव में कांग्रेस (Congress) की प्रतिष्ठा दांव पर लगी हुई है. यहां गठबंधन के तहत कांग्रेस ने दो विधानसभा सीटों पर अपने उम्मीदवारों को चुनावी मैदान में उतारा है.

सीतामढ़ी जिले में सुरक्षित मानी जाने वाली आरक्षित सीट बथनाहा विधानसभा क्षेत्र से काग्रेस ने संजय राम पर अपना भरोसा जताया है और उनको मैदान में उतारा है. संजय राम लगातार इलाके मे जनसंपर्क के माध्यम से लोगों से वोट मांगते हैं. तो वहीं दूसरी सीट काग्रेस के लिये बेहद प्रतिष्ठा का सवाल बन चुकी है. सीतामढ़ी के रीगा विधानसभा से काग्रेस के टिकट पर दूसरी बार किस्मत आजमाने वाले विधायक अमित कुमार टून्ना फिर से चुवान मैदान में पसीना बहा रहे हैं.

बिहार चुनाव: 'सीएम चुनना है, पीएम नहीं', BJP के फुल पेज विज्ञापन पर RJD का तंज



अमित कुमार टून्ना काग्रेस के प्रदेश प्रवक्ता भी है.पिछले दफा अमित कुमार टून्ना ने तकरीबन 20 हजार मतों से बीजेपी प्रत्याशी मोतालाल प्रसाद को मात दी थी. इस बार फिर बीजेपी से इनकी सीधी लड़ाई है. दोनों विधानसभा क्षेत्रों में पेयजल, शिक्षा बेरोजगारी की समस्या गंभीर है. सीतामढ़ी के रीगा विधानसभा में किसानों के लिये रीगा चीनी मील की आर्थिक बदहाली भी गंभीर मुद्दा बना हुआ है. सीतामढ़ी जिले की इन दोनों विधानसभा क्षेत्रों में बाढ़ की समस्या ज्वलंत मुद्दा है. हर साल आने वाली बाढ़ से यहां के लोगों को बेहद परेशानियों का सामना करना पड़ता है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज