कांग्रेस नेता की दिनदहाड़े गोली मारकर हत्या, तनाव के बाद पुलिसबल तैनात

पश्चिम चंपारण के बगहा गांव में हुई वारदात के बाद से ही क्षेत्र में तनाव फैल गया है. इसको देखते हुए भारी पुलिसबल गांव में तैनात किया गया है.

News18Hindi
Updated: July 19, 2019, 4:09 PM IST
कांग्रेस नेता की दिनदहाड़े गोली मारकर हत्या, तनाव के बाद पुलिसबल तैनात
फखरुद्दीन की पहचान चंपारण की राजनीति में दबंग नेताओं के तौर पर होती है. वे रामनगर और नरकटियागंज से कांग्रेस और राजद के टिकट पर चुनाव लड़ चुके हैं. (प्रतीकात्मक फोटो)
News18Hindi
Updated: July 19, 2019, 4:09 PM IST
बिहार के पश्चिम चंपारण स्थित बगहा में कांग्रेस नेता की गोली मारकर हत्या कर दी गई है. मृतक की पहचाना मोहम्मद फखरुद्दीन के रूप में हुई है. बताया जा रहा है कि फखरुद्दीन को हमलावरों ने पहले फोन कर घर के बाहर बुलाया. जैसे ही वो बाहर आए बदमाशों ने उन पर ताबड़तोड़ गोलियां बरसा दीं.

गोली लगने से घायल फखरुद्दीन को उनके परिजन आनन-फानन में अस्पताल लेकर गए जहां डॉक्टरों ने मृत घोषित कर दिया. दिनदहाड़े हुई इस वारदात के बाद इलाके में तनाव है. फखरुद्दीन के समर्थक भारी संख्या में आसपास के गांवों से भी बगहा पहुंच रहे हैं, तनावपूर्ण स्थिति को देखते हुए क्षेत्र में भारी पुलिसबल तैनात किया गया है. पुलिस ने मामला दर्ज कर आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए दबिश देना शुरू कर दिया है.

दबंग नेताओं में शुमार
फखरुद्दीन की पहचान चंपारण की राजनीति में दबंग नेताओं के तौर पर होती थी. वो रामनगर और नरकटियागंज से कांग्रेस और राजद के टिकट पर चुनाव लड़ चुके हैं. उनकी पत्नी रामनगरिया पंचायत की मुखिया हैं. वर्तमान में फखरुद्दीन पंचायत का ही काम देख रहे थे.

अपराध की दुनिया से राजनीति में
अपराध की दुनिया को छोड़कर फखरूद्दीन ने पहली पर वर्ष 2005 में राजनीति में प्रवेश किया था. फरवरी 2005 में लोजपा के टिकट पर रामनगर विधानसभा क्षेत्र से चुनाव लड़ा और भाजपा के दिग्गज चंद्रमोहन राय को पहली बार चुनावी दंगल में फखरूद्दीन ने कड़ी टक्कर दी.

लोजपा छोड़ राजद में गए
Loading...

फिर अक्टूबर 2005 के विधानसभा चुनाव में फखरूद्दीन ने लोजपा छोड़ राजद का दामन थाम लिया. इसके बाद उन्होंने राजद के टिकट पर रामनगर विधानसभा क्षेत्र चुनाव लड़ा, लेकिन महज 900 वोटों के अंतर से चुनाव हार गए.

वाल्मीकिनगर से लोकसभा चुनाव लड़ा
इसके बाद 2004 में फखरूद्दीन वाल्मीकिनगर लोकसभा क्षेत्र से चुनाव लड़ा. तत्कालीन सांसद वैद्यनाथ प्रसाद महतो का निकटतम प्रतिद्वंदी रहा. वर्ष 2015 में नरकटियागंज विधानसभा क्षेत्र से फखरूद्दीन कांग्रेस के उम्मीदवार के रूप में चुनाव लड़ा था , लेकिन वहां भी पराजय का ही सामना करना पड़ा.

(रिपोर्टः मुन्ना राज)

 

ये भी पढ़ेंः सोनभद्र नरसंहार: हर साल बिहार से IAS का एक करीबी आता था लगान वसूलने

सोनभद्र नरसंहार: IAS अफसर की थी 90 बीघा जमीन जिसके लिए बिछा दी 10 लाशें

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए पश्चिमी चंपारण से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: July 19, 2019, 1:57 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...