Home /News /bihar /

बिहार: विश्वविद्यालयों में भ्रष्टाचार के खुलासे के बाद सरकार ने लिखा पत्र, अब एजी ऑफिस करेगा ऑडिट!

बिहार: विश्वविद्यालयों में भ्रष्टाचार के खुलासे के बाद सरकार ने लिखा पत्र, अब एजी ऑफिस करेगा ऑडिट!

शिक्षा विभाग के अपर मुख्य सचिव संजय कुमार ने महालेखाकार को पत्र लिखा है. उन्होंने पत्र लिखकर मांग की है कि राज्य के सभी विश्विद्यालयों में सरकार के द्वारा दी गई राशि का ऑडिट कराया जाए.

शिक्षा विभाग के अपर मुख्य सचिव संजय कुमार ने महालेखाकार को पत्र लिखा है. उन्होंने पत्र लिखकर मांग की है कि राज्य के सभी विश्विद्यालयों में सरकार के द्वारा दी गई राशि का ऑडिट कराया जाए.

Bihar Universities Corruption: शिक्षा विभाग (Education Department) के अपर मुख्य सचिव संजय कुमार ने महालेखाकार को पत्र लिखा है. उन्होंने मांग की है कि राज्य के सभी विश्वविद्यालयों में सरकार के द्वारा दी गई राशि का ऑडिट कराया जाए, जिससे सदुपयोग और दुरुपयोग का पता चल सके. बता दें कि मुख्य रूप से एलएनएमयू के वीसी एसपी सिंह जो एक साथ कई विश्विद्यालयों के प्रभार में हैं लेकिन इन पर वित्तीय अनियमितता के कई गंभीर आरोप लगे हैं. वहीं, दूसरी तरफ मगध विश्वविद्यालय के कुलपति राजेन्द्र प्रसाद पर 30 करोड़ का गबन का आरोप लगा और लगातार विजिलेंस जांच भी चल रही है.

अधिक पढ़ें ...

पटना. बिहार के विश्वविद्यालयों  (Universities in Bihar)  में हो रहे भ्रष्टाचार  (Corruption) के खुलासे के बाद राजभवन ने चुप्पी साध ली है. लेकिन राज्य सरकार पूरी तरह एक्शन मोड में आ गई है. इस मामले में शिक्षा विभाग (Education Department) के अपर मुख्य सचिव संजय कुमार ने महालेखाकार को पत्र लिखा है. उन्होंने पत्र लिखकर मांग की है कि राज्य के सभी विश्विद्यालयों में सरकार के द्वारा दी गई राशि का ऑडिट कराया जाए, जिससे सदुपयोग और दुरुपयोग का पता चल सके. वहीं मुख्यमंत्री नीतीश कुमार लगातार जीरो टॉलरेंस को लेकर सजग हैं. ऐसे में न्यूज 18 ने प्रदेश के कई विश्विद्यालयों में हो रही गड़बड़ी को लेकर खुलासा किया है.

एलएनएमयू , मगध विश्विद्यालय, आर्यभट्ट विश्विद्यालय और मौलाना मजहरुल हक विश्वविद्यालय में अबतक कई मामलों में बहुत सी गड़बड़ी को उजागर किया गया है, जिसके बाद कुलपतियों की कार्यशैली और उनके द्वारा किए गए भ्रष्टाचार का मामला राजभवन के साथ सरकार तक पहुंचा है.

मुख्य रूप से एलएनएमयू के वीसी एसपी सिंह जो एक साथ कई विश्विद्यालयों के प्रभार में हैं, लेकिन इन पर वित्तीय अनियमितता के कई गंभीर आरोप लगे हैं, वहीं दूसरी तरफ मगध विश्वविद्यालय के कुलपति राजेन्द्र प्रसाद पर 30 करोड़ का गबन का आरोप लगा और लगातार विजिलेंस जांच भी चल रही है. अब शिक्षा विभाग अपने स्तर से प्रयास में है कि वित्तीय अनियमितता की जांच एजी ऑफिस भी करें.

गौरतलब है कि वेतन, अनुदान,मानदेय और विकास के मद में विश्विद्यालयों को राज्य सरकार भी राशि मुहैया करवाती है लेकिन पिछले कई वर्षों से सरकारी राशि का ऑडिट नहीं हुआ है. ऐसे में सरकारी राशि के साथ इंटरनल फंड की जांच के बाद खुलासा हो सकेगा कि विश्वविद्यालयों में राशि का सही उपयोग हुआ या भ्रष्टाचार की भेंट चढ़ गया.

Tags: Bihar Government, Bihar News, CM Nitish Kumar

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर