Home /News /bihar /

COVID-19: लॉकडाउन के चलते पटना के ब्लड बैंकों में खून की किल्‍लत, आधे से भी कम रह रहा है स्‍टॉक

COVID-19: लॉकडाउन के चलते पटना के ब्लड बैंकों में खून की किल्‍लत, आधे से भी कम रह रहा है स्‍टॉक

O ब्ल्ड ग्रुप को लोगों में कोरोना संक्रमित होने की संभावना को हो सकती है. (फाइल फोटो)

O ब्ल्ड ग्रुप को लोगों में कोरोना संक्रमित होने की संभावना को हो सकती है. (फाइल फोटो)

खून का संकट (Blood Crisis) थैलेसीमिया (Thalassemia), कैंसर (Cancer) के साथ गर्भवती महिलाओं के लिए भारी पड़ रहा है. स्टॉक कम होने के चलते मरीजों की तीमारदार भटकने को मजबूर हो गए हैं.

पटना. कोरोना वायरस (Coronavirus) के संक्रमण पर लगाम लगाने के उद्देश्‍य से लागू किए गए लॉकडाउन का उसर अब ब्‍लड बैंक (Blood bank) पर भी पड़ने लगा है. बिहार (Bihar) की राजधानी पटना (Patna) के ब्लड बैंकों में खून की कमी बढ़ती जा रही है. हालात यह है कि पटना के ज्‍यादातर ब्‍लड बैंक में फिलहाल आधे से भी कम का स्‍टॉक बचा हुआ है. दरअसल, लॉकडाउन के बाद से ब्लड बैंको में डोनर्स की संख्या लगभग शून्य हो गई है. शहर के पीएमसीएच, एनएमसीएच, रेडक्रॉस सोसायटी (Red Cross Society) और जयप्रभा ब्लड बैंक में खून का कलेक्शन नहीं हो पाने से स्थिति चिंताजनक होती जा रही है.

खून के लिए लोगों को भटकने को मजबूर हैं लोग
खून का संकट थैलेसीमिया, कैंसर के साथ गर्भवती महिलाओं के लिए भारी पड़ रहा है. स्टॉक कम होने के कारण मरीजों को भटकना पड़ रहा है. एचआईवी संक्रमित मरीजों के सामने भी खून का संकट है. हालांकि दावा किया जा रहा है कि ऐसे मरीजों को खून की कमी नहीं होगी, लेकिन जब हमने कई ब्लड बैंकों की पड़ताल की तो साफ़ दिखा की लोग किस तरह से परेशान हैं.

ब्‍लड के लिए लोग कर रहे घंटों का इंतजार
रेडक्रॉस के ब्‍लडबैंक का आलम यह है कि वहां 10 से 15 लोग ब्लड के लिए कई घंटो से इंतज़ार कर रहे थे. इनमे कई ऐसे भी लोग थे, जिनके मरीज़ इमरजेंसी के हालत में थे. रेडक्रॉस ब्‍लड बैंक में खून के लिए इंतजार कर रहे शम्भु कुमार ने बताया कि उनके भाई का हाथ थ्रेशर में कट गया था और उसे खून की तत्काल ज़रूरत थी. यहां खून उपलब्‍ध नहीं है. शम्‍भू की तरह यहां कई और भी लोग थे, जिन्‍हें खून की जरूरत थी, लेकिन उन्‍हें खून नहीं मिल पा रहा था.

पटना के ब्लड बैंक की स्थिति
-पीएमसीएच: सामान्य दिनों में 1500 यूनिट का कलेक्शन होता था जो अब आधा हो गया है.
- एनएमसीएच: लॉकडाउन के बाद डोनर नहीं के बराबर हैं. स्टॉक तेजी से कम हो रहा है.
- आईजीआईएमएस: 60 यूनिट कलेक्शन करने वाले ब्लड बैंक में अब 6 यूनिट ही बचा है.
- जयप्रभा: 700 यूनिट स्टोक 200 पर पहुंच गया.
- रेड क्रॉस: सामान्य दिनों में 200 यूनिट स्टॉक होता है लेकिन अब 60 यूनिट है.
- एम्स: 500 यूनिट स्टॉक अभी 300 है.

यह भी पढ़ें:
बिहार में मृत नियोजित शिक्षकों के परिजनों को मिलेगा 4-4 लाख रुपए का मुआवजा

Tags: Bihar News, Blood, Blood bank, Coronavirus, COVID 19, पटना

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर