बिहार चुनाव 2020: भैंस पर बैठकर नामांकन दाखिल करने पहुंचा निर्दलीय प्रत्याशी, देखने उमड़ी भीड़

बहादुरपुर विधानसभा सीट से निर्दलीय चुनाव लड़ रहे नचारी मंडल ने कहा कि उनके पास गाड़ी-घोड़ा नहीं है इसलिए वो भैंस पर चढ़कर अपना नामांकन दाखिल करने आए हैं
बहादुरपुर विधानसभा सीट से निर्दलीय चुनाव लड़ रहे नचारी मंडल ने कहा कि उनके पास गाड़ी-घोड़ा नहीं है इसलिए वो भैंस पर चढ़कर अपना नामांकन दाखिल करने आए हैं

दरभंगा जिले के बहादुरपुर विधानसभा सीट (Bahadurpur Assembly Seat) से निर्दलीय प्रत्याशी (Independent Candidate) नचारी मंडल ने कहा कि वो गरीब-कमजोर वर्ग से आते हैं और मजदूर के बेटे हैं. हमारे पास गाड़ी-घोड़ा नहीं है, बल्कि भैंस है. इसलिए मैं भैंस पर सवार होकर चुनाव का नामांकन भरने आया हूं

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 19, 2020, 7:10 PM IST
  • Share this:
दरभंगा. बिहार में चुनावी मौसम (Bihar Assembly Election 2020) है लिहाजा हर तरफ प्रचार का शोर है, नेताओं-उम्मीदवारों की बहार है. चुनाव के लिए नामांकन का काम भी जारी है. नामांकन भरने (Election Nomination) के लिए जहां राजनीतिक पार्टियों के प्रत्याशी बड़ी-बड़ी गाड़ियों के काफिले के साथ निर्वाचन दफ्तर (कलेक्ट्रेट) पहुंचते हैं वहीं कई कैंडिडेट अनोखे तरीके से पर्चा दाखिल करने पहुंच रहे हैं. दरभंगा जिले के बहादुरपुर विधानसभा क्षेत्र (Bahadurpur Assembly Seat) के प्रत्याशी नचारी मंडल भैंस पर सवार हो कर नामांकन दाखिल करने पहुंचे तो उन्हें देखने के लिए लोगों की भीड़ उमड़ पड़ी. सोमवार को बहादुरपुर विधानसभा सीट से निर्दलीय प्रत्याशी के रूप में चुनाव लड़ रहे नचारी मंडल भैंस पर सवार हो कर कलेक्ट्रेट पहुंचे और अपना नामांकन दाखिल किया.

न्यूज एजेंसी एएनआई के मुताबिक नचारी मंडल ने कहा कि वो गरीब और कमजोर वर्ग से आते हैं. मैं एक मजदूर का बेटा हूं. अभी तक जनप्रतिनिधियों ने सिर्फ लूटने का काम किया है. उन्होंने कहा है कि हमारे विधानसभा क्षेत्र के सारे गरीब नौजवानों और बुज़ुर्गों ने कहा कि सबके पास गाड़ी-घोड़ा है तुम्हारे पास तो कुछ नहीं है. तुम्हारे पास भैंस है, तो तुम इस पर सवार होकर जाओ और विधानसभा का नॉमिनेशन करो. इसलिए मैं भैंस पर सवार होकर चुनाव का नामांकन भरने आया हूं.


भैंस पर बैठकर चुनाव प्रचार करने पर प्रत्याशी हुए गिरफ्तार



इससे पहले रविवार को गया जिले में भैंस पर चढ़कर प्रचार करने निकले राष्ट्रीय ओलमा पार्टी के एक प्रत्याशी को यह हथकंडा अपनाना महंगा पड़ गया. गया टाउन से चुनाव लड़ रहे मोहम्मद परवेज स्थानीय गांधी मैदान से भैंस पर सवार होकर प्रचार के लिए निकले थे. लेकिन इस तरह चुनाव प्रचार करने की अनुमति नहीं लेने के कारण स्वजरपुरी रोड में पुलिस ने उनको गिरफ्तार कर लिया. पुलिस ने मो. परवेज के खिलाफ आचार सहिता उल्लंघन और पशु अत्याचार अधिनियम के तहत केस दर्ज किया है. हालांकि बाद में उन्हें थाने से जमानत मिल गई.

तीन चरणों में होगी वोटिंग, 10 नवंबर को मतगणना 

बता दें कि बिहार में विधानसभा की 243 सीटों के लिए तीन चरणों में चुनाव होना है. इसके तहत प्रथम चरण के लिए 28 अक्टूबर को, दूसरे चरण के लिए तीन नवंबर और तीसरे चरण के लिए सात नवंबर को मतदान होगा. वहीं वोटों की गिनती 10 नवंबर को होगी.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज