जाले विधानसभा सीट: बीजेपी के पास जीत की हैट्रिक लगाने का मौका, लेकिन सता रहा है ये 'डर'

बिहार चुनाव में सपा द्वारा आरजेडी के समर्थन का ऐलान भाजपा पर भारी पड़ सकता है.
बिहार चुनाव में सपा द्वारा आरजेडी के समर्थन का ऐलान भाजपा पर भारी पड़ सकता है.

Bihar Assembly Election 2020: भाजपा विधानसभा चुनाव (2010 और 2015) में जाले विधानसभा सीट (Jale Assembly Seat) पर कब्‍जा जमा चुकी है और इस बार वह हैट्रिक की दहलीज पर खड़ी हैं. हालांकि समाजवादी पार्टी द्वारा आरजेडी के समर्थन का ऐलान उसकी राह में मुसीबत बन सकता है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: September 22, 2020, 5:14 PM IST
  • Share this:
दरभंगा. बिहार विधानसभा चुनाव (Bihar Assembly Elections) की सुगबुगाहट का असर दरभंगा की जाले विधानसभा क्षेत्र में देखने को मिल रहा है. इस बार यहां एनडीए और महागठबंधन के बीच कड़ा मुकाबला होने की उम्मीद है. हालांकि जाले विधानसभा सीट (Jale Assembly Seat) पर भारतीय जनता पार्टी (BJP) के पास जीत की हैट्रिक लगाने का मौका है. इस समय जाले के विधायक जीवेश कुमार हैं, जिन्‍होंने पिछले चुनाव में ऋषि मिश्रा जैसे कद्दावर नेता को हराया था. आपको बता दें कि जीवेश भाजपा से चुनाव मैदान में थे, तो ऋषि मिश्रा आरजेडी-जेडीयू गठबंधन से चुनाव लड़ रहे थे, लेकिन यहां जीत भाजपा को मिली थी. हालांकि बिहार में भाजपा-जेडीयू गठबंधन की डबल इंजन सरकार बनने के बाद मिश्रा ने खुद को अलग करते हुए कांग्रेस का दामन थाम लिया.

जाले विधानसभा क्षेत्र में भाजपा का दबदबा कायम
जाले विधानसभा सीट पर 2010 में बीजेपी के उम्मीदवार विजय कुमार मिश्रा ने आरजेडी के रामनिवास को मात देकर जीत हासिल की थी. भाजपा उम्‍मीदवार को 42,590 वोट मिले थे और दूसरे नंबर पर रहने वाले आरजेडी उम्‍मीदवार के पक्ष में 25,648 वोट पड़े थे. सीपीआई के अहमद अली तमन्ने तीसरे स्थान पर रहे थे. यही नहीं, 13 लोगों ने विधानसभा चुनाव में किस्मत आजमाई थी. इसके अलावा पिछले विधानसभा चुनाव (2015) में भारतीय जनता पार्टी ने विजय कुमार मिश्रा की जगह जीवेश कुमार पर दांव खेला था, जो कि सफल रहा. इस बार भाजपा के उम्‍मीदवार को 62,059 वोट मिले थे. जबकि जनता दल युनाइटेड के ऋषि मिश्रा 57,439 वोट के साथ दूसरे नंबर पर रहे थे. वहीं, समाजवादी पार्टी ने यहां पर मुजीब रहमान पर दांव खेला था और वह तीसरे स्थान पर रहे थे. जबकि 2015 के चुनाव में कुल 13 उम्मीदवार मैदान में थे.

बहरहाल, जाले विधानसभा सीट पर कुल 2,85,757 मतदाता हैं, जिसमें 1,53,486 पुरुष और 1,53,486 महिलाएं शामिल हैं. पिछली बार इस विधानसभा सीट पर करीब 52.1 फीसदी मतदाताओं ने अपने मत का इस्तेमाल किया था.
जाले विधानसभा सीट पर ये हो सकते हैं चुनावी मुद्दे


वैसे तो दरभंगा बिहार के अच्‍छे जिलों में गिना जाता है, लेकिन जाले विधानसभा क्षेत्र भी बेरोजगारी, स्वास्थ्य सेवाओं की कमी और सड़कों की खराब स्थिति जैसी समस्‍याओं से जूझ रहा है और यही मुद्दे आगामी चुनाव के दौरान हावी रह सकते हैं. वहीं, भाजपा के सामने समाजवादी पार्टी द्वारा आरजेडी के समर्थन का ऐलान मुसीबत खड़ी कर सकता है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज