बिहार: दरभंगा से BJP के गोपालजी ठाकुर जीते, पढ़ें कैसे दी RJD के अब्दुलबारी सिद्दीकी को मात

बिहार की दरभंगा लोकसभा सीट पर 29 अप्रैल को चौथे चरण में मतदान हुए थे. इस सीट पर 56.62 फीसदी वोटरों ने मतदान किया. दरभंगा लोकसभा सीट से 8 प्रत्याशी चुनाव मैदान में थे.

News18 Bihar
Updated: May 23, 2019, 12:42 PM IST
बिहार: दरभंगा से BJP के गोपालजी ठाकुर जीते, पढ़ें कैसे दी RJD के अब्दुलबारी सिद्दीकी को मात
फाइल फोटो
News18 Bihar
Updated: May 23, 2019, 12:42 PM IST
बिहार के दरभंगा सीट पर बीजेपी की ओर से गोपाल जी ठाकुर ने अपने निकटतम प्रतिद्वंद्वी राजद के अब्दुल बारी सिद्दीकी को उन्होंने दो लाख से अधिक मतों से मात दी है. वहीं बीएसपी से मोहम्मद मुख्तार तीसरे नंबर पर रहे हैं.

बता दें कि बिहार की दरभंगा लोकसभा सीट पर 29 अप्रैल को चौथे चरण में मतदान हुए थे. इस सीट पर 56.62 फीसदी वोटरों ने मतदान किया. दरभंगा लोकसभा सीट से 8 प्रत्याशी चुनाव मैदान में थे.


गौरतलब है कि साल 2014 में बीजेपी के टिकट पर जीतने वाले पूर्व क्रिकेटर कीर्ति आजाद दरभंगा से चुनाव मैदान में नहीं थे. बीजेपी छोड़ने के बाद कांग्रेस का दामन थामने वाले कीर्ति आजाद इस बार धनबाद से चुनाव लड़ रहे हैं.


दरभंगा लोकसभा सीट पर राष्ट्रीय जनता दल के प्रत्याशी अब्दुल बारी सिद्दीकी और भारतीय जनता पार्टी के उम्मीदवार गोपाल जी ठाकुर के बीच कड़ी टक्कर मानी जा रही थी. लेकिन नतीजों में यह कहीं दिखा नहीं कि कोई टक्कर भी थी.



दरअसल इसकी बड़ी वजह ये रही कि यहां जातीय गोलबंदी में गोपालजी ठाकुर को सवर्ण मतों के साथ वैश्य और बिहार के पचपनिया समुदाय का बड़ा समर्थन मिला. वहीं अब्दुल बारी सिद्दी के माय समीकरण में अशरफ अली फातमी के फैक्टर के कारण दरक गया.


मतदान के दौरान यादव मतों में भी बिखराव के संकेत मिले थे. बताया जा रहा था कि यादवों में भी 15 से 20 प्रतिश लोगों ने एनडीए का साथ दिया था. वहीं अब्दुल बारी सिद्दीकी का वह बयान भी ध्रुवीकरण का एक सबब बन गई जिसमें उन्होंने वंदेमातरम कहने का विरोध किया था.


यहां जो प्रमुख उम्मीदवार थे उन्हें मिथिलांचल मुक्ति मोर्चा के सरोज कुमार चौधरी और बहुजन समाज पार्टी से मोहम्मद मुख्तार के अलावा चार निर्दलीय भी दरंभाग से चुनावी रण में उतरे हैं.


ये भी पढ़ें-
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...