लाइव टीवी

बिहारः करोड़ों रुपए की गड़बड़ी की जांच को दरभंगा पहुंची टीम तो संस्कृत यूनिवर्सिटी में मचा हड़कंप

Vipin Kumar Das | News18 Bihar
Updated: December 6, 2019, 6:54 PM IST
बिहारः करोड़ों रुपए की गड़बड़ी की जांच को दरभंगा पहुंची टीम तो संस्कृत यूनिवर्सिटी में मचा हड़कंप
कामेश्वर सिंह दरभंगा संस्कृत यूनिवर्सिटी में वित्तीय गड़बड़ी की जांच करने पहुंची राजभवन की टीम.

बिहार (Bihar) के दरभंगा स्थित संस्कृत यूनिवर्सिटी (Darbhanga Sanskrit University) में करोड़ों की वित्तीय गड़बड़ी की जांच करने पहुंची राजभवन की टीम (Rajbhavan Team) के आते ही विश्वविद्यालय में मचा हड़कंप. वीसी और प्रो-वीसी समेत शिकायतकर्ता से भी जांच टीम ने की पूछताछ.

  • Share this:
दरभंगा. कामेश्वर सिंह दरभंगा संस्कृत विश्वविद्यालय (Kameshwar Singh Darbhanga Sanskrit University) में करोड़ों रुपए की गड़बड़ी (financial irregularities) की जांच करने राजभवन की तीन सदस्यीय टीम (Rajbhavan Team) शुक्रवार को पहुंची. जांच टीम ने संस्कृत यूनिवर्सिटी में करोड़ों की गड़बड़ी सहित गलत ढंग से नियुक्ति और प्रमोशन देने के मामलों की पड़ताल की. जांच टीम के यूनिवर्सिटी पहुंचते ही परिसर में हड़कंप मच गया. हालांकि टीम ने मामले के शिकायतकर्ता, विवि के कुलपति (VC) और प्रति-कुलपति (Pro-VC) से अलग-अलग पूछताछ की, लेकिन मीडिया को इस बारे में कोई जानकारी नहीं दी गई. टीम में राजभवन के अतिरिक्त सचिव विजय कुमार, शिक्षा विभाग के विशेष सचिव एससी झा और राजभवन के लॉ ऑफिसर आरवीएस परमार शामिल थे.

फाइलें खंगाली और हुई पूछताछ
राजभवन की जांच टीम विवि जाने के बजाए सीधे कुलपति के आवास पर पहुंच गई और उसी परिसर में स्थित गेस्ट हाउस के बंद कमरे में टीम ने सबसे पूछताछ की. जांच टीम ने कुलपति प्रो. सर्वनारायण झा, प्रति-कुलपति प्रो. चंदेश्वर प्रसाद सिंह और शिकायतकर्ता पंकज कुमार को बुलाकर बारी-बारी से उनसे पूछताछ की. जांच टीम ने मामलों से संबंधित फाइलों को भी मंगवा कर उन्हें भी खंगाला. कुलपति ने कहा कि जिन बिंदुओं पर उनसे जवाब मांगा गया, उन्होंने पहले ही अपना जवाब लिख कर दे दिया था. टीम के सामने भी उन्होंने यही बात कही है. इससे ज्यादा वे मीडिया को कुछ भी नहीं बता सकते हैं.

Bihar Rajbhavan Team comes to Investigate financial irregularities in Sanskrit University of Darbhanga
राजभवन की जांच टीम ने विवि के वीसी, प्रो-वीसी और शिकायतकर्ता से पूछताछ की.


शिकायतकर्ता का क्या है आरोप
इधर, शिकायतकर्ता छात्र पंकज कुमार ने कहा कि विवि में करोड़ों की राशि की गड़बड़ी की गई है. डाटा सेंटर में अवैध भुगतान किया गया. कर्मियों को अवैध ढंग से प्रमोशन देकर बिना राज्यादेश के भुगतान किया गया. वित्त सहित कॉलेजों में हो रही बहाली में विधान पार्षद डॉ. दिलीप चौधरी को 12 कॉलेजों में नियुक्ति समिति में शामिल किया गया है. उन्होंने बताया कि ऐसे 15 बिंदुओं पर राजभवन, मुख्यमंत्री और शिक्षा विभाग में करीब डेढ़ साल पहले शिकायत की थी. इसके अलावा उन्होंने पटना हाईकोर्ट में भी याचिका दायर की है. इसी की जांच के लिए राजभवन की टीम आई थी.

ये भी पढ़ें -खुलासा: ड्राइवर की मिलीभगत से दो अपराधियों ने की थी JDU नेता की हत्या, लूटी गई स्कॉर्पियो के साथ शव बरामद

रिश्तेदारों ने कहा शादी करा दो, कुछ नहीं कर पाएगी ये लड़की, उसने BPSC में किया टॉप

बिहार के विश्वविद्यालयों में शिक्षकों की कमी पर UGC ने दिया अल्टीमेटम, पत्र लिख कहा- 10 नवंबर तक शुरू करें बहाली

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए दरभंगा से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: December 6, 2019, 6:54 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर