लाइव टीवी

मंगल पांडेय की सफाई पर कीर्ति आजाद बोले-जांच प्रभावित करना चाहते हैं स्वास्थ्य मंत्री
Darbhanga News in Hindi

News18 Bihar
Updated: October 31, 2018, 7:17 PM IST
मंगल पांडेय की सफाई पर कीर्ति आजाद बोले-जांच प्रभावित करना चाहते हैं स्वास्थ्य मंत्री
फाइल फोटो

दरभंगा स्थित डीएमसीएच अस्पताल प्रशासन ने नवजात की मौत के कारण की जांच के लिए तीन-तीन लोगों की अलग-अलग दो टीम बना दी है.

  • Share this:
बिहार के दरभंगा स्थित डीएमसीएच अस्पताल के एनआईसीयू में चूहे के काटने से हुई नवजात की मौत का मामला धीरे-धीरे तूल पकड़ता जा रहा है. पीड़ित परिवार के आवेदन पर दरभंगा के लहेरियासराय थाने में डॉक्टर की लापरवाही के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज कर ली गई. इस मामले पर स्वास्थ्य मंत्री ने सफाई दी है. वहीं, दरभंगा के सांसद कीर्ति आजाद ने कहा कि स्वास्थ्य मंत्री जांच को प्रभावित करना चाहते हैं.

बीजेपी सांसद ने कहा कि स्वास्थ्य मंत्री अपनी कमियां छिपाना चाह रहे हैं. जबकि पूरा जग जानता है कि नवजात बच्चे की मौत चूहे के काटने से हुई है और वहां के डॉक्टर भी मानते हैं कि एनआईसीयू में चूहे हैं.

ये भी पढ़ें- शहाबुद्दीन, पप्पू यादव और ब्रजेश ठाकुर जानिये बिहार के इन 3 सफेदपोशों में क्या है समानता?

दूसरी तरफ, अस्पताल प्रशासन ने नवजात की मौत के कारण की जांच के लिए तीन-तीन लोगों की अलग-अलग दो टीम बना दी है. एक तीन सदस्यीय टीम नवजात के पोस्टमार्टम पर नजर रखेगी तो दूसरी तीन सदस्यीय टीम बच्चे के एनआईसीयू में आने और इलाज के साथ बच्चे की मौत तक के पल-पल की रिपोर्ट की जांच करेगी.

ये भी पढ़ें- सीएम के गृह जिले में अपराधियों का कहर, 48 घंटे के दौरान 6 लोगों को मारी गोली, तीन की मौत

बताते चलें कि सूबे के स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडेय ने सफाई देते हुए मृतक के परिवार वालों के आरोपों को गलत बताया और कहा कि बच्चे की मौत चूहे के काटने से नहीं हुई बल्कि उसकी हालत पहले से गंभीर थी. मंत्री ने कहा कि बच्चे के शरीर पर पड़ा दाग इंजेक्शन का था न कि चूहे के काटने का है.
(दरभंगा से विपिन की रिपोर्ट)

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए दरभंगा से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: October 31, 2018, 7:14 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर