छात्र संघ चुनाव को लेकर ABVP-NSUI कार्यकर्ताओं के बीच झड़प, पुलिस को भांजनी पड़ी लाठियां

ललित नारायण मिथिला यूनिवर्सिटी के चुनाव में छात्र संघ अध्यक्ष बनी एबीवीपी की मधुमाला के खिलाफ छात्र संगठन लगातार विरोध प्रदर्शन कर रहे हैं.

News18 Bihar
Updated: May 22, 2019, 1:16 PM IST
News18 Bihar
Updated: May 22, 2019, 1:16 PM IST
छात्र संघ के चुनाव में फर्ज़ीवाड़े को लेकर बिहार के दरभंगा स्थित ललित नारायण मिथिला विश्वविद्यालय में लगातार विरोध-प्रदर्शन जारी है. 21 मई को छात्र संगठन ने प्रॉक्टर के चेहरे पर स्याही फेंकी तो 22 तारीख को प्रदर्शन कर रहे छात्र आपस में भिड़ गए, जिसके बाद पुलिस को लाठीचार्ज करना पड़ा.

दरअसल, ललित नारायण मिथिला यूनिवर्सिटी के चुनाव में छात्र संघ अध्यक्ष चुनी गईं एबीवीपी की मधुमाला के खिलाफ छात्र लगातार प्रदर्शन कर रहे हैं. प्रदर्शनकारी छात्रों का कहना है कि अध्यक्ष मधुमाला गलत तरीके से पीजी गणित विभाग में नामांकन कर छात्र संघ का चुनाव लड़ीं और अध्यक्ष भी चुनी गईं. यह पूरा मामला सूचना के अधिकार के तहत पूछे गए सवालों के जवाब में आया, जिसके बाद से लगातार दूसरे सभी छात्र संघ इसके खिलाफ बिगुल फूंक रहे हैं. मधुमाला को अध्यक्ष पद से हटाने की मांग की जा रही है.



ये भी पढ़ें- गोलगप्पा और नूडल्स खाते ही गांव में मचा कोहराम, कई बीमार

21 मई को दरभंगा विवि छात्रसंघ अध्यक्ष को बर्खास्त करने की मांग को लेकर कई छात्र संगठनों ने ललित नारायण मिथिला विवि में जमकर हंगामा किया था. एनएसयूआई, छात्र जनाधिकार परिषद और छात्र जदयू से जुड़े छात्रों ने विवि में जमकर बवाल काटा. छात्रों ने विवि के प्रॉक्टर (अनुशासन) डॉ. अजीत चौधरी के चेहरे पर स्याही तक फेंक दी थी. छात्रों ने रजिस्ट्रार का काफी देर तक घेराव किया और नारेबाजी की. उन्होंने विवि के सभी गेट पर ताला जड़ दिया. इसकी वजह से विवि में काफी देर तक अफरा-तफरी मची रही. विवि ने पुलिस बुलाई तब जाकर आंदोलनकारी छात्रों को हटाया जा सका.

ये भी पढ़ें- 'हार के डर से बौखलाए कुशवाहा कर रहे हैं खून-खराबे की बात'

इस घटना के बाद 22 तारीख को ललित नारायण मिथिला यूनिवर्सिटी में प्रदर्शन कर रहे अलग-अलग छात्र संगठन NSUI और ABVP आपस में की भिड़ गए एक दूसरे से हाथापाई करने लगे. विश्विद्यालय कैम्पस रणक्षेत्र में तब्दील हो गया. हालत बिगड़ता देख मौके पर पुलिस भी पहुंची और प्रदर्शन कर रहे छात्रों पर जमकर लाठियां भांजी. पुलिस ने प्रदर्शनकारी छात्रों को खदेड़-खदेड़ कर पीटना शुरू किया जिसमें कई छात्र गंभीर रूप से घायल हो गए.

प्रॉक्टर डॉ. अजीत चौधरी ने कहा कि छात्रसंघ अध्यक्ष मधुमाला कुमारी से मामले लिखित जवाब मांगा गया था उन्हें जवाब देने के लिए कुछ समय मांगा है उन्हें 23 मई तक का समय दिया गया है 24 मई को इस मामले में फिर बैठक होगी उसके बाद निर्णय लिया जाएगा.
Loading...

रिपोर्ट- विपिन कुमार दास
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...