'साइकिल गर्ल' ज्योति के साथ जुड़ा नया विवाद, फिल्म कंपनी ने पिता पर लगाया करार तोड़ने का आरोप
Darbhanga News in Hindi

'साइकिल गर्ल' ज्योति के साथ जुड़ा नया विवाद, फिल्म कंपनी ने पिता पर लगाया करार तोड़ने का आरोप
कानूनी पेंच में फंसे साइकिल गर्ल ज्योति के पिता मोहन पासवान.

बीते 27 मई को दरभंगा के सिंहवाड़ा प्रखंड के सिरहुल्ली निवासी साइकिल गर्ल ज्योति (Jyoti) के पिता मोहन पासवान ने भगीरथी फिल्‍म्‍स कंपनी के साथ फिल्म बनाने के लिए करार किया था.

  • Share this:
दरभंगा. पिता को साइकिल पर बिठाकर गुड़गांव से दरभंगा 1200 किलोमीटर लाने वाली साहसी बेटी ज्योति की खबर जैसे ही मीडिया में आई, देश ही नहीं विदेश तक के लोगों ने उसकी साहस को सलाम किया. संघर्ष के इसी जज्बे के मुरीद हो कर फिल्मकार विनोद कापड़ी ने भगीरथी फिल्‍म्‍स के बैनर तले ज्योति की कहानी पर फ़िल्म बनाने की योजना बनाई. अब इसी मामले में  ज्योति के पिता मोहन पासवान को मुंबई की एक वेब सीरीज और डॉक्यूमेंट्री फिल्म निर्माण कंपनी ने लीगल नोटिस भेजा है. कंपनी ने ज्योति के पिता पर करार तोड़ने पर आपत्ति जतायी है और कानूनी कार्रवाई की चेतावनी भी दी है.

बता दें कि बीते 27 मई को दरभंगा के सिंहवाड़ा प्रखंड के सिरहुल्ली निवासी साइकिल गर्ल ज्योति के पिता मोहन पासवान ने भगीरथी फिल्म कंपनी के साथ फिल्म बनाने के लिए करार किया था. जानकारी के अनुसार, इसके लिए 2 लाख 51 हजार रुपये कंपनी ने देने का अनुबंध हस्ताक्षर किए गए थे, और पहली किस्त 51 हजार रुपये खाते में भेज दिए गए थे. साथ ही शुरुआती कागजात पर दस्तखत कर फिल्म बनाने का अधिकार ज्योति के पिता मोहन पासवान ने विनोद कापड़ी को दिया था. लेकिन, ताजा विवाद अब सामने आया जब भगीरथी फिल्म ने एक प्रेस विज्ञप्ति जारी कर कहा है कि मोहन पासवान ने शाइन कृष्णा से भी फिल्म का करार कर लिया है जो अवैध और गैरकानूनी है.

भगीरथी फिल्म्स ने भेजा है लीगल नोटिस
इस प्रेस विज्ञप्ति में भगीरथी फिल्‍म्‍स ने कहा है कि विनोद कापड़ी दरभंगा आकर खुद ज्योति से मिलना चाहते थे, लेकिन लॉकडाउन की वजह से संभव नहीं हो पाया. बाद में ज्योति के पिता ने बताया कि वह शादी में व्यस्त हैं. इसके बाद जब संपर्क करने की कोशिश हुई तो कहा गया कि वे लखनऊ गए हुए हैं. फिर बताया कि दिल्ली ट्रायल में गए हैं, जिसके कारण विनोद कापड़ी उनसे नहीं मिल पाए. अब जबकि पता चला है कि उन्होंने अन्य कंपनी से करार कर लिया है जो कि गैरकानूनी है.
करार तोड़ा गया तो होगी कानूनी कार्रवाई


भगीरथी फ़िल्‍म्‍स ने बताया कि दोबारा करार करना अवैध है. इसलिये दूसरे कॉन्‍ट्रैक्‍ट को रद्द किया जाय नहीं तो फिल्म बनना अधर में लटक जाएगा. साथ ही कोर्ट कचहरी के चक्कर लगाने पड़ेंगे सो अलग. कंपनी ने कहा है कि भलाई इसी में है कि शाइन कृष्णा से जो अवैध करार किया गया है, उसे रद्द कर दिया जाए. कंपनी ने इसके लिए ज्योति के पिता को लीगल नोटिस भी भेजा है और कहा है कि इस नए करार को वह तुरंत रद्द करें. कंपनी नहीं चाहती है कि कोई विवाद हो.

ज्योति के परिवार ने मीडिया से बनाई दूरी
बहरहाल, इस बीच मीडिया ने जब ज्योति और उसके पिता से उनका पक्ष जानना चाहा तो वे लोग सामने नहीं आ रहे हैं. सामाजिक हलकों में चर्चा है कि जिस मीडिया की वजह से ज्योति सुर्खियों में आई, अब उसी मीडिया से परिवार क्यों छिप रहा है. हालांकि सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार मोहन पासवान का पक्ष ये है कि करार उन्होंने नहीं तोड़ा है, बल्कि कंपनी ने देरी की है. जानकारी ये भी आ रही है कि वह कोर्ट की कार्रवाई का सामना करने को तैयार हैं और अपना पक्ष कोर्ट में ही रखेंगे.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading