• Home
  • »
  • News
  • »
  • bihar
  • »
  • दरभंगा पार्सल ब्लास्ट: ISI के लिए हैंडलर का काम करता था इकबाल काना, ये रही इसकी कुंडली

दरभंगा पार्सल ब्लास्ट: ISI के लिए हैंडलर का काम करता था इकबाल काना, ये रही इसकी कुंडली

इकबाल काना व उसके परिवार को आइएसआइ का संरक्षण प्राप्त है. (सांकेतिक फोटो)

इकबाल काना व उसके परिवार को आइएसआइ का संरक्षण प्राप्त है. (सांकेतिक फोटो)

इकबाल काना (Iqbal Kana) के पिता हाजी अकबर ठेला लगाकर सब्जी और फल बेचा करते थे. इकबाल काना ने पत्‍नी को तलाक दे दिया था, जिससे नराज हाजी अकबर ने उसे घर से निकाल दिया था.

  • Share this:
दरभंगा. पिछले 17 जून को दरभंगा रेलवे स्टेशन पर पार्सल बम ब्लास्ट (Darbhanga Parcel Bomb Blast) मामले की जांच में इसका कनेक्‍शन पाकिस्तान (Pakistan Connection) से होने को लेकर ठोस साक्ष्‍य मिलने का दावा किया जा रहा है. लश्कर के आतंकियों ने भारत में गड़बड़ी फैलाने के मकसद से इकबाल काना से संपर्क किया था. इकबाल काना (Iqbal Kana) मूल रूप से यूपी के कैराना का रहने वाला है, लेकिन सालों पहले पाकिस्तान चला गया था. आईएसआई हैंडलर इकबाल काना आईएसआई का फेक करेंसी का काम देख रहा था. अब लश्कर-ए-तैयबा के साथ मिलकर वह यूपी में लोगों को रिक्रूट कर रहा था, ताकि भारत विरोधी गतिविधियों को अंजाम दिया जा सके.

मोहम्मद इकबाल काना उर्फ हाफिज इकबाल उर्फ मलिक भाई देश से भागकर पाकिस्तान चला गया था. वहां उसने दिखावे के लिए इत्र का कारोबार शुरू किया. इकबाल काना का बेटा भी उसके साथ नकली नोटों के धंधे में शामिल रहा है. इकबाल काना और उसके परिवार को आईएसआई का संरक्षण प्राप्त है.

इकबाल काना के पिता ने उसे घर से निकाला था
कैराना के मोहल्ला सरावज्ञान के रहने वाले हाजी अकबर के तीन बेटों में इकबाल काना दूसरे नंबर पर था. इकबाल काना के पिता हाजी अकबर ठेला लगाकर अकबर चौक बाजार में सब्जी और फल बेचते थे. 90 के दशक की शुरुआत में इकबाल काना गठरी व्यवसाय से जुड़े लोगों के पासपोर्ट बनवाने का काम किया करता था. इसी काम को बढ़ाते हुए इकबाल काना गठरी व्यवसाय का अपना नेटवर्क खड़ा कर लिया. इस दौरान कुछ रुपए देकर इकबाल काना ने कुछ महिलाओं और पुरुषों को अपने खर्च पर पाकिस्तान भेजकर तस्करी के काम में लगा दिया. 1992 में इकबाल काना ने सहारनपुर जिले के गांव खेड़ा अफगान की महिला से शादी कर ली इस शादी के बाद उसे दो बेटियां भी हुईं, लेकिन यह शादी ज्यादा दिनों तक नहीं चल सकी. बाद में इकबाल काना ने अपनी पत्नी को तलाक दे दिया. पत्नी को तलाक दिए जाने के बाद इकबाल काना का पिता अकबर काफी नाराज हो गया और उसने इकबाल काना को अपने घर से ही निकाल दिया.

पाकिस्‍तान के पंजाब प्रांत में है इकबाल काना
1995 में इकबाल काना तस्करी के लिए पाकिस्तान गया हुआ था. अक्टूबर में उसके द्वारा पाकिस्तान से भारत भेजे गए 75 पिस्टल दिल्ली में बरामद किए गए थे. दिल्ली पुलिस की स्पेशल ब्रांच की टीम ने पिस्टल के साथ जिन 6 आरोपियों को पकड़ा था, उन्‍होंने बताया कि सभी पिस्टल इकबाल काना के हैं. इकबाल काना तक जब यह बात पहुंची तब उसके बाद वह फिर भारत कभी नहीं लौटा. इकबाल काना पाकिस्तान के ही पंजाब प्रांत में रहकर भारत विरोधी गतिविधियों को अंजाम देने लगा. मिली जानकारी के अनुसार, इकबाल काना की मां वसरण ने 2014 में सरावज्ञान वाला अपना मकान बेच दिया था और परिवार दूसरी जगह जाकर रहने लगा था. उत्तर प्रदेश के कैराना के कई लोगों की रिश्तेदारी पाकिस्तान में है. इसलिए कैराना के लोगों का वहां आना जाना बराबर लगा रहता है. एनआईए द्वारा दरभंगा ब्लास्ट मामले में पकड़े गए नासिर और सलीम के भी पाकिस्तान होकर लौटने की जानकारी मिली है.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज