दरभंगा : बाइक धोने तालाब पर गए थे, डूबने से तीन लोगों की मौत, गांव में पसरा शोक

परिवार में तीन लोगों की मौत की खबर सुनते ही परिजनों में शोक की लहर पसरी.

परिवार में तीन लोगों की मौत की खबर सुनते ही परिजनों में शोक की लहर पसरी.

दरभंगा जिले के बहेड़ी प्रखंड के समदपुरा में चार युवक तालाब पर बाइक धोने के लिए गए थे. वहां चार में से तीन युवक तालाब में नहाने के लिए उतरे, पर एक का पांव फिसला और वह डूबने लगा. उसे बचाने की कोशिश में दो लोग और भी डूब गए.

  • Share this:

दरभंगा. कोरोना महामारी में इनसानी जिंदगी जहां तबाह बर्बाद हो रही है, वहीं लॉकडाउन के दौरान संक्रमण के डर से परदेश से गांव लौटे तीन भाइयों की दर्दनाक मौत से एक परिवार बिखर गया है. एक मां का सहारा चला गया तो एक पत्नी का जीवनसाथी. ये मार्मिक हादसा दरभंगा का है, जहां तालाब में नहाने गये भाइयों की डूबने से दर्दनाक मौत हो गई है. इधर जब ये खबर इलाके में फैली तो पूरा माहौल गमगीन हो गया. वही परिवार के सदस्यों का रो-रो कर बुरा हाल है.

दरअसल दरभंगा जिले के बहेड़ी प्रखंड के समदपुरा में चार युवक घर से तालाब पर बाइक धोने के लिए निकले. तालाब पर पहुंच कर पहले तो बाइक धोयी, फिर चार में से तीन युवक तालाब में नहाने के लिए जैसे ही उतरे कि रविन दास का संतुलन बिगड़ गया और वह डूबने लगा. उसे बचाने के लिए उमेश दास पानी में गया तो वह भी डूबने लगा. दोनों को डूबता देख दिनेश दास भी पानी में उतर गया. एक-दूसरे को बचाने के क्रम में तीनों ही तालाब में डूब गए.

तालाब के बाहर खड़ा कृष्ण दास ने दौड़ कर घर आया और तीनों के डूबने की खबर दी. इसके बाद परिवार के साथ ग्रामीणों के प्रयास से तीनों को बाहर निकाला गया. आनन-फानन में उन्हें बहेड़ी अस्पताल लाया गया. जहां पीएचसी प्रभारी डॉ. बीडी महतो ने तीनों को मृत घोषित कर दिया. वहीं, बहेड़ी थाने की पुलिस ने तीनों शवों का पोस्टमॉर्टम करवा कर परिजनों को शव सौप दिए.

मृतक उमेश कुमार दास अपने पीछे पांच महीने का पुत्र और पत्नी छोड़ गए हैं. दो साल पहले ही उनकी शादी हुई थी. उमेश की मां ने बताया कि मेरा बेटा एक महीना पहले ही दिल्ली से घर लौटा था. वहीं, मृतक रविन दास दो भाई और दो बहनों में सबसे छोटा था. दोनों बेटों को खोने के बाद खुद को बेसहारा बताते हुए उनकी मां ने कहा कि अब मेरे परिवार के साथ मेरे बुढ़ापे का सहारा कौन होगा.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज