Covid Bulletin App से घर बैठे मिलेगी कोरोना के मरीज की जानकारी, जानें दरभंगा DM की अनोखी पहल

बिहार के दरभंगा में कोरोना से संबंधित ऐप लांच करते डीएम और अन्य

बिहार के दरभंगा में कोरोना से संबंधित ऐप लांच करते डीएम और अन्य

Unique And Good Initiative By Darbhanga DM: बिहार के दरभंगा जिला प्रशासन ने ये ऐप लांच किया है जो कि Google के प्ले स्टोर पर भी उपलब्ध है. इस ऐप से डीएमसीएच में भर्ती कोरोना के मरीजों (Patients) के बारे में जानकारी मिल सकेगी.

  • Share this:
दरभंगा. कोरोना काल में सबसे ज्यादा परेशानी तब आती है, जब परिवार के सदस्य कोविड संक्रमण (Corona Infection) की चपेट में आते हैं. परिजन मरीज को अस्पताल में भर्ती कराने के बाद बाहर इस इंतजार में रहते हैं कि अंदर उनका इलाज कैसे चल रहा है, कौन सी दवा दी जा रही है या उनके मरीज किस स्थिति में है. हर पल परिजन परेशान होते रहते हैं कि किसी तरह उन्हें ये पता चले कि आखिर उनके मरीज का क्या हाल है, ऐसे में दरभंगा (Darbhanga) जिला प्रशासन ने एक बेहतर पहल की शुरुआत की है. जिला प्रशासन ने एक ऐसा ऐप डेवलप किया है, जिसमें मरीज का रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर डालने मात्र से उसकी सारी रिपोर्ट सामने आ जाएगी.

दरभंगा जिला के डीएम त्याग राजन ने Covid Bulletin app के नाम से एक ऐप की शुरुआत जिला में की है. इस ऐप को पूर्व सहायक समाहर्ता प्रियंका रानी के नेतृत्व में विकसित किया गया है तथा वर्तमान सहायक समाहर्ता अभिषेक पलासिया एवं आईटी सेल दरभंगा द्वारा इसे प्ले स्टोर पर भी डाला गया. Covid Bulletin app को एंड्राइड मोबाइल के प्ले स्टोर से डाउनलोड किया जा सकता है. इस ऐप को खोलने के लिए डीएमसीएच में भर्ती होने के दौरान मरीज के जिस मोबाइल नंबर का पंजीकरण कराया गया है, उस मोबाइल नंबर को डालना होगा. इस ऐप से (कोविड-19) कोरोना के मरीज के भर्ती होने के समय से लेकर अभी तक के स्वास्थ्य स्थिति की दैनिक जानकारी मिल सकेगी.

क्या बोले DM

ऐप लॉन्च करने के बाद जिला के डीएम त्याग राजन ने बताया कि डीएमसीएच में इलाजरत (कोविड-19) कोरोना के मरीजों और उनके परिजनों की सुविधा के लिए कोविड बुलेटिन एप्प बनाया गया है. इस Covid Bulletin app की शुरुआत हो जाने से अब डीएमसीएच में भर्ती मरीज के परिजन कहीं से भी अपने मरीज का हाल समय-समय पर जान सकते हैं, जिनसे ये फायदा होगा कि कोविड अस्पताल के बाहर भी भीड़ कम लगेगी और परिजनों को भी जो संक्रमण का खतरा बना रहता है, वो न के बराबर होगा.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज