लाइव टीवी

दरभंगा में झिझिया की झंकार ने दर्शकों का मन मोहा

News18 Bihar
Updated: October 25, 2018, 6:33 PM IST

झिझिया मिथिला का एक प्रमुख पारंपरिक नृत्य है. खासकर दुर्गा पूजा के मौके पर झिझिया नृत्य में महिलाएं हिस्सा लेती हैं.

  • Share this:
द स्पॉटलाइट थियेटर की ओर से दरभंगा में हराही पोखर के पश्चिम स्थित बहुद्देशीय भवन के परिसर में झिझिया नृत्य के आयोजन ने कोजगरा पर्व के उत्साह को दोगुना कर दिया. झिझिया नृत्य को देख कर नगर वासियों में संस्कृति के प्रति गौरव बोध का एहसास हो रहा है. इस आयोजन ने लोगों को इस बात का भी एहसास कराया कि भारतीय संस्कृति की खुशबू को मिथिला ने आज भी संभाले रखा है.

झिझिया की आकर्षक प्रस्तुति ने दर्शकों का मन मोह लिया. आज के अधिकांश युवा जहां विदेशी संस्कृति की नकल कर रहे हैं, वहीं लोकसंस्कृति के प्रति उदासीन हैं. इस आयोजन ने लोगों को इस बात का भी एहसास कराया कि भारतीय संस्कृति की खुशबू को मिथिला ने आज भी संभाले रखा है. कोजगरा पर्व के उत्साह में डूबे मिथिला की खुशियों को झिझिया के आयोजन ने कई गुणा बढ़ा दिया.

ये भी पढ़ें: यहां दुर्गा प्रतिमा के विसर्जन में लगते हैं 24 घंटे से ज्यादा समय, रास्ते में होती है झिझिया

द स्पॉटलाइट थियेटर के महासचिव सागर कुमार ने कहा कि अगले साल से यह आयोजन हर साल निर्बाध रूप से नवरात्र के बीच ही किया जाएगा. उन्होंने सारे संस्थाओं से निवेदन किया कि वे भी अपनी सांस्कृतिक विरासत को संरक्षित करने के प्रयास करेंगे तो आनेवाली पीढ़ी संस्कारवान बनेंगी.

क्या है झिझिया
झिझिया मिथिला का एक प्रमुख पारंपरिक नृत्य है. खासकर दुर्गा पूजा के मौके पर झिझिया नृत्य में महिलाएं हिस्सा लेती हैं. इस लोक नृत्य में महिलाएं अपने सिर पर जलते दीपक और छिद्र वाली घड़ा को लेकर नाचती हैं.

(दरभंगा से विपिन की रिपोर्ट)

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए दरभंगा से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: October 25, 2018, 5:42 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर