बिहार के दरभंगा में शुरू हुई विमान सेवा, बेंगलुरु से आई पहली फ्लाइट

सांकेतिक तस्वीर
सांकेतिक तस्वीर

Darbhanga Flight Service: सुबह 11:05 बजे सबसे पहली फ्लाइट बेंगलुरू से स्पाइसजेट 493 लैंड की. इस दौरान विमानों को एयरपोर्ट प्रबंधन की ओर से वाटर सैल्यूट भी दिया जाएगा

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 8, 2020, 12:12 PM IST
  • Share this:
दरभंगा. बिहार के मिथिलांचल इलाके की राजधानी कहे जाने वाले दरभंगा (Darbhanga Airport) के लोगों का 57 साल पुराना सपना रविवार को फिर से साकार हो गया. दरअसल 57 साल के लंबे अंतराल के बाद रविवार को दरभंगा से हवाई यात्रा सेवा (Flight Service) शुरू हुई. इसके तहत नए एयरपोर्ट से देश के अन्य शहरों से दरभंगा का हवाई संपर्क स्थापित हो गया.

दरभंगा में पहली फ्लाइट रविवार की सुबह 11:05 पर लैंड की जो कि बेंगलुरु से आई, इसके साथ ही वही फ्लाइट दिल्ली के लिए दिन के 11:45 के लिए प्रस्थान की जो दिल्ली दोपहर के 1 बजकर 40 मिनट पर पहुंचेगी. दरभंगा एयरपोर्ट पर शुरू हो रही विमान सेवा के पहले दिन दिल्ली, मुंबई, बेंगलुरू समेत कुछ अन्य शहरों से फ्लाइट की आवाजाही होगी ऐसे में नई फ्लाइट सेवा को लेकर लोगों में खासा उत्साह है.

उद्घाटन के पहले दिन ही मुंबई से 12:10 पर रवाना हुई फ्लाइट 2:30 बजे भी दरभंगा पहुंचेगी और वापस 3:00 बजे मुंबई के लिए रवाना होगी.  दरभंगा से दिल्ली, मुम्बई और बेंगलुरु के लिए विमान उड़ान सेवा आज से शुरू हो गई. दरभंगा एयरपोर्ट के कामों के प्रगति की समीक्षा करने के बाद केंद्रीय मंत्री हरदीप सिंह पुरी ने घोषणा की थी कि आस्था का त्यौहार छठ पूजा से पहले दरभंगा से दिल्ली, मुम्बई और बेंगलुरु के लिए हवाई यात्रा शुरू हो जाएगी. दरभंगा में आज शुरू होने वाली फ्लाइट सर्विस को लेकर बिहार सरकार के मंत्री संजय झा ने भी ट्वीट किया है.





दरभंगा एयरपोर्ट दरअसल इंडियन एयरफोर्स के अंतर्गत आता था जिसे बाद में इसके कुछ भाग के जमीन को एयरपोर्ट अथॉरिटी ऑफ इंडिया यानी एएआई को दे दिया गया था,ताकि इसका सिविल इस्तेमाल किया जा सके. इस एयरपोर्ट पर 1400 स्क्वायर फीट के क्षेत्रफल में फैला टर्मिनल बिल्डिंग का काम पूरा हो चुका है. टर्मिनल बिल्डिंग में 6 चेक इन काउंटर बनाये गये हैं.

पीक घंटोंं में एक चेक इन काउंटर 100 यात्रियों को संभालने में सक्षम हैं. बोइंग 737 और बोइंग 800 फ्लाईट्स के संचालन करने में सक्षम इस एयरपोर्ट के रन वे को तैयार किया जा रहा है. रनवे का काम भी करीब 70 फीसदी पूरा हो चुका है. इसके अलावा कार पार्किंग और टेक्सीवे का काम भी करीब करीब पूरा हो गया है. प्री-फेब टर्मिनल बिल्डिंग,कार पार्किंग,सड़क कनेक्टिविटी, रनवे को मजबूती देने और टेक्सी ट्रेक लिंग के निर्माण में 92 करोड़ रुपये खर्च किया गया है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज