लाइव टीवी

खुलासा: ड्राइवर की मिलीभगत से दो अपराधियों ने की थी JDU नेता की हत्या, लूटी गई स्कॉर्पियो के साथ शव बरामद

News18 Bihar
Updated: December 4, 2019, 2:58 PM IST
खुलासा: ड्राइवर की मिलीभगत से दो अपराधियों ने की थी JDU नेता की हत्या, लूटी गई स्कॉर्पियो के साथ शव बरामद
दरभंगा से किडनैप किए गए JDU नेता का शव मिला.

एसएसपी बाबू राम ने बताया कि ड्राइवर ने अपना जुर्म कबूल कर लिया है और उसे गिरफ्तार भी कर लिया गया है. पहली नजर में आपसी रंजिश में की गई हत्या का मामला लगता है.

  • Share this:
दरभंगा. जेडीयू नेता (JDU Leader) को अपराधी द्वारा गोली मार कर हत्या करने और फिर शव को स्कर्पियो गाड़ी में अपने साथ लेकर फरार होने वाली अजीबो गरीब घटना में पुलिस को आखिरकार सफलता मिल गई.  12 घंटे के अंदर इस कांड का उद्भेदन करते हुए दरभंगा पुलिस ने बहादुरपुर थाना (Bahadurpur Police Station) के अब्दुल्ला चौक से शव के साथ मृतक की लूटी हुई स्कॉर्पियो भी बरामद कर ली. ठेकेदार का शव गाड़ी से ही बरामद किया गया और तालाशी में डेढ़ लाख रुपये कैश मिले.


बता दें कि घटना के बाद से खुद दरभंगा के एसएसपी बाबू राम काफी गंभीर थे और खुद की अगुवाई में घटना का उद्भेन किया. एसएसपी ने बताया कि मृतक के चालक रिजवान खान की मिलीभगत से दो और अभियुक्त अमीरुल और शमीम ने मिलकर घटना को अंजाम दिया था.



एसएसपी बाबू राम ने बताया कि ड्राइवर ने अपना जुर्म कबूल कर लिया है और उसे गिरफ्तार भी कर लिया गया है. पहली नजर में आपसी रंजिश में की गई  हत्या का मामला लगता है. अब बाकी दोनों आरोपियों की तलाश में फिलहाल पुलिस कई जगहों पर छापेमारी कर रही है.


ये था पूरा मामला

Loading...

दरअसल मंगलवार के दिनदहाड़े जेडीयू नेता सह ठेकेदार मुन्ना अपने अपने चालक के साथ स्कर्पियो से निकला और अशोक पेपर मिल थाने के पास जैसे ही गाड़ी पहुची दोनों ने लिफ्ट मांगा. जैसे ही गाड़ी रुकी मुन्ना के सिर में अपराधी ने गोली मार दी फिर चालक को वहीं उतार अपराधी शव को अपने साथ उसी स्कर्पियो में लेकर चलते बने.


जेडीयू नेता सह ठेकेदार मुन्ना का शव बरामद कर लिया गया.


योजना के मुताबिक सारी चीजें पहले से फिक्सड थी. वाहन लेकर भाग जाने के बाद चालक पुलिस के साथ साथ कई लोगों को सूचना भी दी कि अपराधियों ने उनके मालिक की गोली मार कर हत्या कर दी है और फिर शव को भी अपने साथ लेकर भाग गए.



12 घंटे में मिली कामयाबी

घटना के बाद पुलिस ने त्वरित कार्रवाई की और पूरे इलाके की नाकेबंदी कर दी गयी. खुद एसएसपी बाबुू राम मौके पर पहुंच गए और हत्या की गुत्थी सुलझाने में जुट गए. घटना के एक मात्र चश्मदीद चालक से कई बार पूछताछ की गई. चालक के कई बातों में लगातार अंतर होने से पुलिस का शक गहराया और जब पुलिसया अंदाज में चालक से पूछ ताछ हुई तो वह टूट गया और सब कुछ सही-सही बता दिया.
इसके बाद ड्राइवर के बताए ठिकाने से पुलिस ने मृतक का शव और लूटी स्कर्पियो बरामद कर ली. गाड़ी की तालाशी करने पर  पुलिस को डेढ़ लाख रुपये नगद भी मिले जिसके आधार पर फिलहाल पुलिस इसे लूट की घटना न मानकर आपसी रंजिश में हत्या की बात कह रही है. हलांकि पूरी घटना का पटाक्षेप तभी हो सकेगा जब बाकी दो अभियुक्तों की गिरफ्तारी हो जाएगी.


ये भी पढ़ें

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए दरभंगा से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: December 4, 2019, 2:22 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...