Home /News /bihar /

कुशेश्वरस्थान विधानसभा उपचुनाव: इन तीन में कांटे का मुकाबला! जानें इतिहास, वर्तमान, समीकरण और मुद्दे

कुशेश्वरस्थान विधानसभा उपचुनाव: इन तीन में कांटे का मुकाबला! जानें इतिहास, वर्तमान, समीकरण और मुद्दे

कुशेश्वरस्थान विधानसभा उपचुनाव के लिए 30 अक्टूबर को मतदान.

कुशेश्वरस्थान विधानसभा उपचुनाव के लिए 30 अक्टूबर को मतदान.

Bihar Assembly By-Poll: कुशेश्वरस्थान विधानसभा सीट पर 30 अक्टूबर को वोटिंग होगी जबकि 2 नवंबर को मतगणना होगी. मालूम हो कि इस विधानसभा में करीब 240000 कुल मतदाता हैं, जिसमें 125000 पुरूष और 115000 के करीब महिला वोटर हैं.

दरभंगा. कुशेश्वरस्थान विधानसभा सीट उन इलाकों में से है जो साल में करीब-करीब छः महीना बाढ़ का दंश झेलता है. इसी सीट के अंतर्गत आनेवाले क्षेत्र में ही मिथिलांचल के प्रसिद्ध तीर्थस्थल बाबा कुशेश्‍वर नाथ का मंदिर है जहां बिहार सहित अन्य प्रदेशों से लेकर नेपाल तक से श्रद्धालु पूजा-अर्चना के लिए आते हैं. 2008 के परिसीमन के बाद बनी इस आरक्षित सीट से दिवगंत विधायक शशिभूषण हजारी ही विधायक बनते आ रहे थे. हाल ही वर्ष 2020 में हुए विधानसभा चुनाव में जनता दल (यूनाइटेड) के टिकट पर शशि भूषण हजारी लगातार तीसरी बार विधायक बने थे, लेकिन अचानक दुनिया को अलविदा कहने के बाद इस बार इस सीट पर उपचुनाव हो रहा है. इस बार उनके बड़े पुत्र अमन भूषण हजारी  मैदान में हैं .

कैसा रहा है चुनावी इतिहास?- कुशेश्वरस्थान विधानसभा से शशि भूषण हजारी पहली बार 2010 में भाजपा के टिकट पर चुनाव जीते थे. उस वक्त लोजपा के रामचंद्र पासवान को हराया था. उसके बाद  2015 में पार्टी बदलकर जदयू में आ गए. महागठबंधन ने टिकट दिया और हजारी ने एनडीए की ओर से एलजेपी के मृणाल पासवान को 18 हजार वोट के अंतर से हरा दिया. इसके साथ ही लागातार दूसरी बार सीट को अपने पाले में रखा.

फिर बारी थी वर्ष 2020 के विधानसभा चुनाव की. इस बार शशि भूषण हजारी के आगे चुनौती बड़ी थी क्‍योंकि स्‍थानीय लोग कई बार गुस्‍से का प्रदर्शन कर चुके थे. कई बार जनता के बीच उनके गुस्से के शिकार भी हुए. यहां तक कि उन्हें एक बार  बंधक तक बना लिया गया था. लेकिन, फिर एनडीए से जदयू के टिकट पर कांग्रेस प्रत्याशी डॉ अशोक राम से कांटे का मुकाबला हुआ और परिणाम ये हुआ कि बिना कोई नाम चिन्ह राजनेता के पहुंचे ही चुनाव में अपने प्रतिद्वंद्वी को 7222 वोट से करारी शिकस्त दे दी और तीसरी बार विधायक बने.

कब होगा उपचुनाव के लिए मतदान?
कुशेश्वरस्थान विधानसभा सीट पर 30 अक्टूबर को वोटिंग होगी जबकि 2 नवंबर को मतगणना होगी. मालूम हो कि इस विधानसभा में करीब 240000 कुल मतदाता हैं, जिसमें 125000 पुरूष और 115000 के करीब महिला वोटर हैं.

इस बार जनता कहाँ करेगी मतदान ? 
इस बार कयास लगाया जा रहा था कि दिवंगत विधायक के पुत्र अमन भूषण हजारी को सहानुभूति वोट मिल सकता है. लेकिन, आरजेडी ने मुसहर समुदाय से गणेश भारती को टिकट देकर मुसहर वोट को साधने के दृष्टिकोण से अपने प्रत्याशी को मैदान में उतारा है. बता दें कि इस विधानसभा में मुसहर वोटरों की संख्या करीब 38000 के आस-पास है. इतना ही नहीं यादव और मुसलमानों को इकट्ठा कर अपनी जीत की दावेदारी पेश करने में आरजेडी लगी हुई है. वहीं, एनडीए इस बात को लेकर ताल ठोक रही है कि महागठबंधन में कांग्रेस नहीं रही साथ ही आरजेडी को घर में ही बगावत है, इसलिए उनके सामने कोई टक्कर में नहीं है.

कांग्रेस से अतिरेक को जीत की उम्मीद- कांग्रेस से यहां कई बार प्रत्याशी रह चुके डॉ अशोक राम के पुत्र अतिरेक कुमार मैदान में हैं. इनका दावा है कि पिता की बनी बनाई छवि और खुद के साथ पार्टी को नया अवसर देने की बात कह कर अपने आप को जीत की दावेदारी पेश कर रहे हैं. लोक जनशक्ति पार्टी चिराग गुट भी अपना प्रत्याशी मैदान में उतारा है जिसपर दशकों से पासवान वोटरों पर दबदबा रहा है. कुल मिला इस सीट पर कांटे की टक्कर होने वाली है. कौन इस सीट पर कब्जा जमाएगा ये तो आने वाला वक्त ही बताएगा.

विकास को तरसता क्षेत्र
साल में छः माह बाढ़ की दंश और गरीबी होने के कारण पलायन यहां की मुख्य वजह है. हर साल बाढ़ के दौरान यहां फसल बर्बाद हो जाती है और लोगों की कमर टूट जाती है. इसके अलावा स्‍थानीय जनता के बीच घोषणा होने के वावजूद कुशेश्वरस्थान को पर्यटक स्‍थल का दर्जा नहीं मिलने से सरकार के प्रति गुस्‍सा भी व्याप्त है.  वहीं, रेल चलने का सपना भी अधूरा है. सरकार की ढिलाई के कारण पक्षी विहार बस नाम का रह गया और अब यहां से विदेशी पक्षियों का पलायन हो रहा है. जबकि, कभी यहां लाखों की संख्या में विदेशी पक्षी आशियाना बनाते थे.

वहींं, बिजली, पानी, रोड जैसी मूल समस्या से पहले की अपेक्षा लोग वर्तमान में संतुष्ट नजर आ रहे हैं. जानकारों की माने तो उनका कहना है कि जाति हमेशा से इस सीट पर एक फ़ैक्टर रहा है. इस लिहाज से आरजेडी और एनडीए दोनों ही अपने पक्ष के वोटरों को लुभाने के लिए मंत्री सहित विधायकों को पंचायतवार केम्प करवा रहा है.  दिन भर मंत्रियों और बड़े बड़े राजनेताओं का जमावड़ा रहता है.

आठ उम्मीदवार है चुनाव मैदान में

पार्टी                                                     उम्मीदवार                        जाति 

लोक जन शक्ति पार्टी(रामविलास)           अंजू देवी                           पासवान

इंडियन नेशनल कांग्रेस                          अतिरेक कुमार                   राम

जनता दल(यूनाइटेड)                            अमन भूषण हजारी             पासवान

राष्ट्रीय जनता दल                                    गणेश भारती                    मुसहर

जन अधिकार पार्टी(लोकतांत्रिक)              योगी चौपाल                    चौपाल

समता पार्टी                                            सच्चिदानन्द पासवान        पासवान

स्वतंत्र अभ्यर्थी                                         जीवछ कुमार हजारी           पासवान

स्वतंत्र अभ्यर्थी                                         राम बहादुर आजाद          चौपाल

कुशेश्वर स्थान विधानसभा में जाति समीकरण को देखें तो  यादव 30000, मुसलमान 26000, मुसहर 25000, मल्लाह, 25000, कुर्मी-कोयरी -कुशवाहा 36000, फॉरवर्ड सभी 25000, पासवान 18000, राम 10000, अति पिछड़ा -30000 और  शेष अन्य सभी 30000 हैं.

Tags: Assembly by election, Bihar politics, BJP, BJP Allies, Chirag Paswan, Congress, Jan Adhikar Party, Jdu, JDU nitish kumar, Pappu Yadav, RJD

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर