लाइव टीवी

परिवार का दावा- घर के भीतर जमीन फाड़कर निकली कब्र! देखनेवालों की उमड़ी भीड़

News18 Bihar
Updated: June 24, 2019, 1:12 PM IST

इस घटना को लेकर जितनी मुंह उतनी बातें हो रही है. लेकिन कैमरे पर सभी इसे सच्ची घटना ही मान रहे हैं. घटना के सामने आने के बाद से ही लोग यहां मन्नत मानने के लिए पहुंच रहे हैं.

  • Share this:
बिहार के दरभंगा में कुछ ऐसा हुआ है, जिसे सुनकर हर कोई हैरान है. बात ही कुछ ऐसी है कि जिसपर सहज रूप से विश्वास करना आसान नहीं. यहां रहने वाले 1 मुस्लिम परिवार का दावा है कि उनके घर में एक कब्र अपने आप यानी खुद-ब-खुद जमीन फाड़ कर निकली है. जिसके बाद इस कब्र को परिवारवालों ने मजार का स्वरूप दे दिया है.

जो भी इस घटना के बारे में सुन रहा है वो दूर-दूर से इसे देखने पहुंच रहा है. हैरान कर देने वाली इसे घटना को लेकर जितनी मुंह उतनी बातें हो रही है. लेकिन कैमरे पर सभी इसे सच्ची घटना ही बता रहे हैं. बात बढ़ी तो मुफ्ती मोहल्ला के शाही मस्जिद के इमाम नजीर अहमद उस्मानी खुद मौके पर पहुंचे और उन्होंने पूरी घटना की जानकारी ली.

इमाम ने कहा- पहले भी हुई है ऐसी घटना
सबकुछ देखने के बाद मीडिया से बात करते हुए इमाम नजीर ने कहा कि दरभंगा में पहले भी ऐसी घटना हो चुकी है. आज भी वहां हर साल उर्स का भव्य आयोजन होता है. यानी उनकी बातों पर यकीन करें तो पहली नजर में इसे खारिज नहीं किया जा सकता. उन्हें परिवार के दावों में सच्चाई नजर आ रही है.

दरअसल, दरभंगा के भिगो मोहल्ले के रहनेवाले गरीब परिवार मोहम्मद साबिर की बेटी की तबीयत लगातार खराब रहती थी. उनकी मानें तो शैतान (भूत, प्रेत) ने बेटी को परेशान कर रखा था. उन्होंने उसके इलाज के लिए दवा के साथ-साथ झाड़-फूंक तक का सहारा लिया लेकिन उसका फायदा नहीं हुआ.

कई बार बाबा आए सपने में, बात भी की
इसके बाद परिवार को किसी ने पीड़ित लड़की को उत्तर प्रदेश के कसौटा शरीफ ले जाकर दिखाने की सलाह दी. तब जुलेखा खातून अपनी बेटी को लेकर कसौटा शरीफ पहुंचीं और वहां अपनी हाजरी लगाई. परिवार की मानें तो इसके बाद बेटी की तबीयत ठीक हो गई. उसके बाद से ही जुलेखा के सपने में बाबा आने लगे. खुद जुलेखा बताती हैं कि कई बार बाबा उनके सपने में आए. जुलेखा ने उनके कद-काठी और रूप का न सिर्फ वर्णन किया बल्कि उनसे बात करने का भी दावा किया.खुदा को अमीर का महल पसंद नहीं आया
जुलेखा ने बताया कि उसने कई बार घर में अलग-अलग तरह से उनकी आहट भी महसूस की. कभी घर खुशबू से भर जाता तो कभी घर में छन-छन की आवाज सुनाई देती. जुलेखा बताती हैं कि बाबा खुद चलकर उनके पास आए तो हमने उन्हें गले लगा लिया. उनकी मानें ने खुदा को अमीर का महल पसंद नहीं आया बल्कि गरीब की झोपडी पसंद आई और वो यहां आ गए. परिवारवालों का दावा है कि बाबा मगदूम अशरफ सिंगानिया आए हैं और खुद जमीन फाड़ कर यहां निकले हैं. वो तो सिर्फ बाबा के आदेश का पालन कर रहे हैं.

यह बात जैसे ही घर से बाहर निकली, जंगल में आग की तरह फैल गई. मजार को देखने लोगों की भीड़ उमड़ने लगी. यहां पहुंचे लोग मजार के आस-पास अगरबत्ती जला कर मन्नतें मांग रहे हैं. रात-दिन यहां लोगों के आने-जाने का सिलसिला जारी है.

(रिपोर्ट- विपिन कुमार)

ये भी पढ़ें-

दरभंगा में भूमि विवाद में 4 लोगों की गोली मारकर हत्या

दरभंगा में हथियार समेत पकड़े गए चार कुख्यात, बड़ी घटना को अंजाम देने की थी तैयारी

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए दरभंगा से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: June 24, 2019, 9:11 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर