अपना शहर चुनें

States

दरभंगा: पंचायत बैठा कर रेप पीड़िता को जिंदा जलाने की दी धमकी, नाबालिग पीड़िता ने खाया जहर

नाबालिग से रेप केस वापस लेने का बनाया दबाव, पीड़िता ने खाया जहर
नाबालिग से रेप केस वापस लेने का बनाया दबाव, पीड़िता ने खाया जहर

पीड़िता की मां का आरोप है कि दुष्‍कर्म मामले (Rape Case) को लेकर गांव में पंचायत बुलायी गई थी. इस दौरान पीड़िता पर केस वापस लेने का दबाव बनाया जा रहा था. ऐसा नहीं करने पर उसे जान से मारने की धमकी दी गई. इसी डर के कारण उसने जहर खा लिया.

  • Share this:
दरभंगा. पहले रेप, फिर अब धमकी और अब पंचायत (Panchayat) बुलाकर केस वापस लेने का दबाव. कमतौल थाना क्षेत्र के एक गांव से ऐसी खबर सामने आई है जो हमारे सभ्य समाज होने के दावे को पूरी तरह खारिज कर देता है. दरअसल यहां नाबालिग दुष्कर्म पीड़िता (Minor rape victim) पर भरी पंचायत में दुष्कर्म का आरोप का केस वापस लेने को कहा गया जिसके बाद पंचों के दबाव में आकर पीड़िता ने जहर खा लिया. घटना के बाद उसे गंभीर हालत में डीएमसीएच (DMCH) में भर्ती कराया गया.

पीड़िता की मां ने आरोप लगाया कि दुष्‍कर्म मामले को लेकर गांव में पंचायत बुलायी गई थी. इस दौरान पीड़िता पर केस वापस लेने का दबाव बनाया जा रहा था. ऐसा नहीं करने पर उसे जान से मारने की धमकी दी गई. इसी डर के कारण उसने जहर खा लिया.

आरोप है कि पहले नाबालिग के साथ दुष्कर्म किया फिर उसकी नंगी तस्वीर को कैमरे के कैद कर आरोपी लड़की को धमकाता रहा कि दुष्कर्म की बात किसी को बताने पर वह उसकी तस्वीर को वायरल कर देगा. इसके बावजूद लड़की ने डरते-डरते आखिरकार अपनी मां को कुछ महीने बाद घटना की पूरी जानकारी दे दी.




इसके बाद परिवार के लोगों ने आरोपी फरीद शेख के खिलाफ कमतौल थाना में प्राथमिकी दर्ज कराई जिसके बाद आरोपी फरीद शेख को पुलिस गिरफ्तार कर जेल भेज दिया गया. आरोपी के जेल जाने के बाद उसका पूरा परिवार पीड़ित लड़की के परिवार से केस उठाने का दबाब बनाने लगा.

आरोप के अनुसार पीड़िता के नहीं मानने पर आरोपी पक्ष ने अपने स्तर से 14 जनवरी को पंचायत बुलाई और केस नहीं उठाने पर पीड़िता को जान से मारने और जिंदा जला देने की धमकी दे डाली. इस धमकी का असर पीड़िता पर ऐसा हुआ उसने जहर खा लिया. आनन-फानन में तत्काल उसे अस्पताल लाया गया जहां उसका इलाज किया जा रहा है.

पीड़िता की मां ने बताया कि उनकी बेटी के साथ फरीद शेख ने गलत काम किया और उसके खिलाफ हमने केस किया. अब अदालत से ही फैसला होगा. पुलिस ने फरीद को गिरफ्तार भी किया फरीद की गिरफ्तारी के बाद उसके परिवार वाले केस उठाने के लिए लगातार परेशान कर रहे हैं.

उन्होंने बताया कि 14 जनवरी को आरोपी पंचायत बैठाया ओर केस उठाने के लिए दबाब बनाया साथ ही उनकी बेटी को कई तरह की धमकी के साथ-साथ जिंदा जलाकर मार देने तक कि बात तक कही. इसी धमकी से उनकी बेटी डर गई और घर मे रखे खटमल चूहा मारने वाला जहर खा ली. इसके बाद इसे अस्पताल लेकर आए हैं. उनका आरोप है कि फिलहाल पुलिस मदद नहीं कर रही है.

दरभंगा के एसएसपी बाबू राम ने घटना की पुष्टि करते हुए केस के अनुसंधान में लगे पुलिस अधिकारी को निलंबित कर दिया. साथ ही पंचायत कर पीड़िता पर केस उठाने का दबाव बना रहे लोगों के खिलाफ भी कानूनी कार्रवाई का निर्देश देते हुए पीड़ित परिवार के सुरक्षा के लिए भी थाने को निर्देश दिया. उन्होंने बताया कि दुष्कर्म का आरोपी को पुलिस ने पहले ही गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है और पंचायत में शामिल चार लोगों को परिवारवालों ने नामजद अभियुक्त बनाया है. जिसकी गिरफ्तारी के आदेश दे दिए गए हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज