Home /News /bihar /

बिहार: DMCH कोरोना वार्ड की कुव्यवस्था पर वीडियो शेयर करनेवाले मरीज की मौत, सिस्टम पर उठे सवाल

बिहार: DMCH कोरोना वार्ड की कुव्यवस्था पर वीडियो शेयर करनेवाले मरीज की मौत, सिस्टम पर उठे सवाल

डीएमसीएच की कुव्यवस्था पर वीडियो शेयर करने वाले मरीज अजित शर्मा का निधन.

डीएमसीएच की कुव्यवस्था पर वीडियो शेयर करने वाले मरीज अजित शर्मा का निधन.

Darbhanga News: अजित शर्मा की मौत के बाद डीएमसीएच का कोई भी अधिकारी और अस्पताल प्रशासन कैमरे पर कुछ भी बोलने को तैयार नहीं हैं. हालांकि दूसरी तरफ जैसे ही मरीज अजित शर्मा की मौत की खबर डीएम त्याग राजन तक पंहुची तो उन्होंने पूरे मामले को गंभीरता से लिया है.

अधिक पढ़ें ...
दरभंगा. दरभंगा मेडिकल कॉलेज एंड हॉस्पिटल यानी DMCH के आइशोलेशन वार्ड का एक वीडियो खूब वायरल हुआ था. सरकार और जिला प्रशासन से वार्ड की कुव्यवस्था को लेकर गिड़गिड़ाते मरीज ने अपना वीडियो बना सोशल मीडिया में डाला था. जिसको लोगो ने खूब शेयर भी किया था. लेकिन बीती रात उस युवक की मौत इलाज के दौरान हो गयी. युवक की मौत के बाद फिर से एक बार लोग मृत तस्वीर के साथ सोशल मीडिया पर सरकार और सिस्टम से सवाल पूछ रहे हैं कि आखिर इसके मौत का जिम्मेवार कौन हैं? सोशल मीडिया पर अजित शर्मा के पहले वाले वीडियो को शेयर कर लोग इसे सिस्टमेटिक मर्डर करार दे रहे हैं और डीएमसीएच प्रबंधन पर कार्रवाई की मांग उठा रहे हैं.

बता दें कि युवक का नाम अजित शर्मा था. उसने अपने वीडियो में बताया था कि वह निर्मली का रहने वाला है और मधुबनी के फुलपरास थाने में कार्यरत है. फिलहाल कोरोना संक्रमित होने के कारण दरभंगा DMCH अस्पताल के कोरोना आइसोलेशन वार्ड में इलाजरत है. बीते 25 अप्रैल को दरभंगा के सबसे बड़े सरकारी अस्पताल  DMCH के कोरोना आईसीलेशन वार्ड में भर्ती कोरोना मरीज अजित शर्मा ने खुद का एक वीडियो बना कर अस्पताल प्रशासन की पोल खोलते हुए सोशल मीडिया पर डाला था. तब अजित शर्मा का वीडियो बड़ी तेजी से वायरल हुआ और लोगों ने सोशल मीडिया पर अस्पताल प्रशासन और जिला प्रशासन को खरी खोटी सुनाई.



अस्पताल प्रशासन ने लगाए थे आरोप
हालांकि इसके बाद आनन-फानन में अस्पताल प्रशासन ने अपनी सफाई देते हुए एक प्रेस रिलीज जारी कर अजित शर्मा पर ही दोष मढ़ दिया. अस्पताल के तत्कालीन अधीक्षक मणि भूषण शर्मा ने आरोप लगाया था कि अजित शर्मा इलाज़ में सहयोग नहीं करते हैं और नर्सिंग स्टाफ के साथ साथ डॉक्टर के साथ न सिर्फ अमर्यादित भाषा का प्रयोग करते हैं. वे गाली गलौच पर उतारू हो जाते हैं. अस्पताल प्रशासन ने तो यहां तक अपने प्रेस रीलीज में लिखा था कि अजित शर्मा के स्वस्थ होने के बाद उनके आरोपों की जांच कर असत्य पाए जाने पर उनके और उनके परिजनों के खिलाफ कानूनी कार्रवाई भी की जाएगी.

इन विवादों के बीच डीएमसीएच बुधवार की देर रात अजित शर्मा ने अस्पताल में आखरी सांस ली और असमय मौत की आगोश में चले गए. अजित शर्मा की मौत के बाद अब इस बात को बल मिल गया कि उनके आरोपों में कुछ तो सत्यता थी. उनके वीडियो में भी वहां के हालात साफ दिख रहे थे. उन्होंने अपनी सांस फूलते हुए भी वह वीडियो बनाया था और उसे सोशल मीडिया पर डाला था. बहरहाल अजित शर्मा की मौत के बाद  अब लोग सोशल मीडिया पर फिर सवाल पूछ रहे हैं कि आखिर अजित शर्मा के मौत का जिम्मेवार कौन? क्या अजित शर्मा को क्या न्याय मिलेगा?

सोशल मीडिया पर सवाल पूछ रहे लोग.


डीएम ने मामले पर लिया संज्ञान
अजित शर्मा की मौत के बाद डीएमसीएच का कोई भी अधिकारी और अस्पताल प्रशासन कैमरे पर कुछ भी बोलने को तैयार नहीं हैं. हालांकि दूसरी तरफ जैसे ही मरीज अजित शर्मा की मौत की खबर डीएम त्याग राजन तक पंहुची तो उन्होंने पूरे मामले को गंभीरता से लेते हुए डीएमसीएच के अस्पताल अधीक्षक डॉक्टर ओ पी  गिरी से पूरे मामले पर जल्द से जल्द मौत के पीछे की वजह की पूरी जानकारी उपलब्ध करवाने को कहा है.

अजित शर्मा की मौत पर सोशल मीडिया पर उठ रहे सवाल


सिस्टम पर उठ रहे हैं सवाल 
उधर अजित शर्मा के परिजन सुबह सवेरे ही उनका शव लेकर अपने गांव अंतिम संस्कार के लिए निकल गए. फिलहाल परिवार के लोगों ने अब तक कुछ नहीं कहा है. सवाल यह उठ रहा है कि क्या उनके परिजनों पर भी कोई दबाव है? सवाल यह भी कि मृतक अजित शर्मा के वीडियो के आधार पर क्या परिवार कोई शिकायत भी दर्ज करवाएगा? बहरहाल  फिलहाल तो सोशल मीडिया पर यही सवाल उठ रहा है कि क्या सिस्टम का सच दिखाने और सवाल उठानेवालों का हश्र अजित शर्मा जैसा ही होगा?

Tags: Bihar Government, Bihar News, Coronavirus, COVID 19, Darbhanga news, DMCH Hospital, Facebook, Nitish Government, Oxygen Shortage, Social media

विज्ञापन
विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर