Bihar Chunav: भाजपा अध्‍यक्ष नड्डा का बड़ा बयान, मोदी-नीतीश के विकास और RJD के विनाश में से जनता को एक चुनना है

लालू के राज में लाखों लोग बिहार से पलायन कर गए: नड्डा
लालू के राज में लाखों लोग बिहार से पलायन कर गए: नड्डा

Bihar Election 2020: बिहार विधानसभा चुनाव के तीसरे चरण के मतदान को लेकर चल रहा चुनाव प्रचार आज थम गया है. इस दौरान भाजपा के राष्‍ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा (JP Nadda) ने दरभंगा की हायाघाट और जाले की जनता से कहा कि आपको विकास और विनाश में एक को चुनना है.

  • Share this:
दरभंगा. भाजपा के राष्‍ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा (JP Nadda) ने गुरुवार को हायाघाट और जाले में कहा कि एक तरफ विकास करने वाले लोग हैं और दूसरी तरफ बिहार को विनाश की ओर ले जाने वाले लोग हैं और अब राज्य की जनता को तय करना है कि प्रदेश को किस ओर ले जाना है. उन्‍होंने लोगों से कहा कि विकास चाहिए तो राजग चाहिए. विकास चाहिए तो पीएम मोदी (PM Narendra Modi) चाहिए. विकास चाहिए तो नीतीश कुमार (Nitish Kumar) चाहिए और अगर विनाश चाहिए तो राजद चाहिए. भाजपा अध्यक्ष ने कहा कि अपने भाग्य का फैसला आप खुद करें. एक तरफ विकास करने वाले, विद्या को आगे बढ़ाने, कॉलेज खोलने वाले, सड़क बनाने वाले और कानून व्यवस्था सुधारने वाले लोग हैं. वहीं दूसरी तरफ कानून व्यवस्था तोड़ने वाले और विकास को रोकने वाले लोग हैं.

पहले कहा जाता था कि ये अपहरण वाला मंत्री...
राजग सरकार के विकास कार्यो का उल्लेख करते हुए उन्होंने कहा कि हमारी सरकार में नेताओं के नाम विकास कार्यों से जुड़ गए हैं. कोई सड़क वाला मंत्री, कोई पानी वाला मंत्री, कोई बिजली वाला मंत्री. उन्होंने लोगों से कहा कि लेकिन पहले कहा जाता था कि ये अपहरण वाला मंत्री, ये लोगों को डराने वाला मंत्री, ये जेल में रहने वाला मंत्री. बिहार विधानसभा चुनाव के तीसरे एवं अंतिम चरण के मतदान के लिये प्रचार के आखिरी दिन नड्डा ने कहा कि ये अंतर है दोनों में. उन्होंने कहा कि लालू यादव चुनाव में 'लठियां भांजन, तेल पिलावन' के नारे लगाते थे, इसलिए कि बिहार की जनता डर जाए और वोट दे तो उनके पक्ष में दे, वरना अपने घर रहे.

राजद की पूर्ववर्ती सरकार पर निशाना साधते हुए नड्डा ने कहा कि 15 वर्ष पहले यहां अपहरण उद्योग चलता था, फिरौती मांगी जाती थी, लेकिन जब नीतीश कुमार आये तो बिहार में सुशासन आया, वरना उससे पहले तो यहां कुशासन ही चलता था.

उन्होंने कहा कि बिहार में पहले बेटियां पढ़ाई बीच में ही छोड़ देती थीं, क्योंकि बेटियों के लिए जरूरी व्यवस्था नहीं थी. नड्डा ने कहा कि नीतीश कुमार ने बेटियों को स्कूल जाने के लिए साइकिल दी, पोशाक दीं. ये बेटियों का सम्मान है और अब दरभंगा की बेटी फाइटर प्लेन उड़ा रही है.





नड्डा ने राजद पर साधा निशाना
नड्डा ने कहा कि ये 10 लाख नौकरी देने की बात करते हैं, लेकिन जंगलराज के युवराज तेजस्वी यादव विपक्ष के नेता बनते हैं तो वो विधानसभा के बजट सत्र में एक भी दिन नहीं जाते थे. कोरोना संक्रमण काल की शुरुआत में बिहार से गायब थे और दिल्ली बैठे थे और अब बड़ी बड़ी बातें कर रहे हैं.

नड्डा ने कहा कि विधानसभा में विपक्ष के नेता का अनुपस्थित होना बिहार की जनता के साथ धोखा है. इसलिए ऐसे लोगों को आराम दीजिए और विकास के कार्य करने वाले नीतीश कुमार को वोट दीजिए. नड्डा ने कहा कि नरेंद्र मोदी ने कोरोना के समय में गरीबों की चिंता की और छठ तक राशन की व्यवस्था की .


उन्होंने कहा कि विपक्षी रोजगार देने की बात कर रहे हैं, लालू के राज में लाखों लोग बिहार से पलायन कर गए, उसका जवाब कौन देगा? राजद पर प्रहार करते हुए नड्डा ने कहा कि इनके जंगलराज में बिहार में रंगदारी, रंगबाजी, लूट-खसोट होती थी, लालू के राज में शाहबुद्दीन को संरक्षण मिलता था और इन्होंने प्रदेश में अराजकता फैलाई. नड्डा ने राजग को जनादेश देने की अपील करते हुए कहा कि यह चुनाव सिर्फ राजग प्रत्याशी को जिताने का ही नहीं है, यह चुनाव बिहार के भविष्य का है. हमें तय करना है कि हमें राज्य को किस ओर ले जाना है. विपक्षी महागठबंधन को आड़े हाथों लेते हुए भाजपा अध्यक्ष ने कहा कि अराजक राजद अब माले से मिल गई है जिसका विचार ही विध्वंस का है. इनके साथ राहुल गांधी और कांग्रेस पार्टी और जुड़ गए हैं, जिनको ये ही पता नहीं चलता कि वो पीएम मोदी का विरोध करते करते देश का ही विरोध करने लग गए. (भाषा इनपुट)
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज