आतंकवाद पर PM मोदी का वार, कहा- अब न कोई मॉड्यूल होगा और न मिलिटेंट

दरभंगा का जिक्र करते हुए पीएम ने कहा कि दरभंगा ने भी आतंक को करीब से देखा है. आतंकवाद ने दरभंगा की प्रतिष्ठा को नुकसान पहुंचाया है

News18 Bihar
Updated: April 25, 2019, 12:24 PM IST
आतंकवाद पर PM मोदी का वार, कहा- अब न कोई मॉड्यूल होगा और न मिलिटेंट
पीएम की फाइल फोटो
News18 Bihar
Updated: April 25, 2019, 12:24 PM IST
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आतंकवाद के मसले पर करारा प्रहार किया है. बिहार के दरभंगा में चुनावी सभा को संबोधित करने पहुंचे पीएम मोदी ने श्रीलंका में हुए आतंकी हमले का जिक्र किया और कहा कि आतंकियों ने वहां 300 से ज्यादा लोगों की जान ले ली. हमारे पड़ोस में ही आतंकवाद की कई फैक्ट्रियां चल रही हैं क्या देश के लिए ये मुद्दा नहीं है.

ये भी पढ़ें- कन्हैया कुमार बोले- हमें काला झंडा दिखाने वालों के मुंह पर जनता पोतेगी कालिख



पीएम ने कहा कि चालीस साल पहले हमारे देश में इतनी सुरक्षा बलों की जरूरत नहीं होती थी हर कोई सामान्य जिंदगी जीता था. जिस पैसे से गरीबों की भलाई का काम होना चाहिए 40 साल से ये पैसे हमें बम, बंदूक और पिस्तौल में खर्च करना पड़ रहा है. उन्होंने कहा कि आंतकवाद ने सबसे ज्यादा नुकसान देश के गरीबों का किया है. देश के गरीबों का भला करने के लिए भी आतंकवाद को खत्म करना जरूरी है. विपक्ष पर निशाना साधते हुए पीएम ने कहा कि महामिलावट करने वालों के लिए देश की सुरक्षा मुद्दा नहीं लेकिन मैं कहना चाहता हूं कि ये नया हिन्दुस्तान है जो आतंकवाद के गढ़ में घुसकर मारेगा.

ये भी पढ़ें- कन्हैया कुमार के लिए शेहला रशीद ने मांगा वोट, बोलीं- आप सांसद नहीं भविष्य का पीएम चुन रहे हैं

उन्होंने कहा कि ये जो लहर है वो नए भारत की ललकार है. 21वीं सदी में जो बेटा-बेटी दिल्ली की सरकार चुन रहे हैं वो ही नौजवान इस चुनाव का नेतृत्व कर रहे हैं. 21वीं सदी का भारत उनकी आकांक्षाओं का होगा. उन्होंने कहा कि हमारे लिए भारत माता की जय भक्ति है और वंदे मातरम का उदघोष ही शक्ति है लेकिन देश में कुछ लोगों को भारत माता की जय और वंदे मातरम से दिक्कत है. ये वैसे ही लोग हैं जिन्हें भारत की बात करने से शिकायत है.

दरभंगा का जिक्र करते हुए पीएम ने कहा कि दरभंगा ने भी आतंक को करीब से देखा है. आतंकवाद ने दरभंगा की प्रतिष्ठा को नुकसान पहुंचाया है, लेकिन अब चौकीदार चौकन्ना है न कोई मिलिटेंट होगा और न कोई मॉड्यूल होगा. उन्होंने विपक्ष पर चुटकी लेते हुए कहा कि तीन चरणों के मतदान के बाद एयर स्ट्राइक के सबूत मांगने वाले लोग गायब हो गए हैं और अब ईवीएम को गाली देने में जुट गए. पीएम ने कहा कि जनता ने तीनों चरण में विपक्षियों को सबक सीखा दिया है. देश की रक्षा और सुरक्षा नेक इरादों वाली सरकार ही कर सकती है. इससे पहले पीएम ने अपने संबोधन की शुरूआत मैथिली से की.

एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएंगी आपके पाससब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी  WhatsAppअपडेट्स
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...