दरभंगा: पहले बनाई तस्वीर और उस पर खून से लिखा 'I Love You', फिर बात करते-करते कर ली आत्महत्या

विशाखा की सहकर्मी पुष्पेश ने बताया कि विशाखा कभी उदास नहीं रहती थी. हर समय खुश रहने वाली लड़की थी.

विशाखा की सहकर्मी पुष्पेश ने बताया कि विशाखा कभी उदास नहीं रहती थी. हर समय खुश रहने वाली लड़की थी.

कुमारी विशाखा (Kumari Visakha) पटना के कदम कुआ थाना क्षेत्र की रहने वाली थी. पिछले साल 1 दिसंबर को पटना सिटी के रहने वाले रितेश दत्त से उसकी शादी हुई थी.

  • Share this:

दरभंगा. दरभंगा (Darbhanga) में शनिवार को किराए के मकान में रह रही एक महिला ने फांसी लगाकर आत्महत्या (Suicide) कर ली. इस घटना से आसपास के इलाके में सनसनी फैल गई है. सूचना के बाद मौके पर पहुंची पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमर्टम के लिए भेज दिया है. साथ ही मामले की जांच शुरू कर दी गई है. जानकारी के मुताबिक, मामला लहेरियासराय थाना (Laheriasarai Police Station) क्षेत्र के बलभद्रपुर मोहल्ले का है. महिला का शव चौथी मंजिल पर मिला है. वहीं, मृतिका की पहचान जिला आपदा प्रबंधन विभाग में प्रोग्रामर के पद पर कार्यरत कुमारी विशाखा (29 वर्ष)  उर्फ निधि के रूप में हुई है. उसने पंखे में फंदा लगाकर आत्महत्या कर ली.

जानकारी के मुताबिक, कुमारी विशाखा पटना के कदम कुआ थाना क्षेत्र की रहने वाली थी. पिछले साल एक दिसंबर को पटना सिटी के रहने वाले रितेश दत्त से उसकी शादी हुई थी. विशाखा का पति पटना में ही निजी कंपनी में कार्यरत हैं.

मां का नहीं उठाया फोन, तब हुआ शक 

बताया जाता है कि जिला प्रोग्राम पदाधिकारी कुमारी विशाखा आज समाहरणालय से ड्यूटी कर अपने डेरा पर आई थी. उसके बाद से उनकी मां पटना से फोन कर रही थी. लगातार फोन नहीं उठाने पर विशाखा की मां ने उसके साथ काम करने वाली महिला सहकर्मीको फोन कर सूचना दी कि विशाखा फोन नहीं उठा रही है. विशाखा की साथ काम करने वाली कर्मी जब उसके कमरे पर पहुंची तो देखा कि घर का दरवाजा अंदर से बंद था. आवाज देने के बाद भी जब उसने दरवाजा नहीं खोली तो स्थानीय लहेरियासराय थाना पुलिस को इसकी सूचना दी गई.
पुलिस ने खोला दरवाजा

जब थाने की पुलिस मौके पर पहुंची तब दरवाजा तोड़कर देखा गया तो विशाखा फंदा से लटकी हुई मिली. वहीं, विशाखा के विस्तर पर तकिये के सहारे एक स्क्रैच की हुई तस्वीर थी. उस पर खून से आई लव यू लिखा हुआ था. मृतका विशाखा के कान में एयरफ़ोन लगा हुआ था जिससे ये प्रतीत होता है कि वो आत्महत्या से पूर्व किसी से बात कर रही होगी.

सहकर्मी ने बताया



विशाखा की सहकर्मी पुष्पेश ने बताया कि विशाखा कभी उदास नहीं रहती थी. हर समय खुश रहने वाली लड़की थी, लेकिन पता चला है वो किसी से फोन पर लड़ाई कर रही थी. अभी भी कान में एयरफोन लगा हुआ है. वह, दरभंगा में आपदा विभाग में 2 साल से कार्यरत थी.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज