होम /न्यूज /बिहार /खुलासा: पिता ही निकला बेटी की मौत का मुख्य आरोपी! गला रेतकर इसलिए रची खौफनाक साजिश

खुलासा: पिता ही निकला बेटी की मौत का मुख्य आरोपी! गला रेतकर इसलिए रची खौफनाक साजिश

मोतिहारी पुलिस ने दो दिन में ही हत्याकांड का खुलासा कर दिया है. (News18 Hindi)

मोतिहारी पुलिस ने दो दिन में ही हत्याकांड का खुलासा कर दिया है. (News18 Hindi)

Bihar News: संग्रामपुर थाना क्षेत्र में हुए नाबालिग लड़की के मौत मामले का खुलासा पुलिस ने मात्र 48 घंटे में कर लिया है. ...अधिक पढ़ें

हाइलाइट्स

पुलिस ने मात्र 48 घंटे में ही नाबालिग की हत्या का खुलासा किया.
दरियापुर पंचायत के पंचभिडवा गांव में 5 दिसंबर को हुई थी हत्या.
पुलिस ने पिता को आरोपी करार देते हुए मामले का खुलासा किया.

पूर्वी चंपारण. संग्रामपुर थाना क्षेत्र में हुए नाबालिग की रेप और गला रेतकर हत्या जैसी बड़ी वारदात का पुलिस ने मात्र 48 घंटे में खुलासा कर दिया है. पुलिस ने गला रेतकर हत्या के मामले में मृतका राजनन्दनी के पिता को ही आरोपी करार देते हुए हत्याकांड से पर्दा हटा दिया है.

घटना संग्रामपुर थाना क्षेत्र के दरियापुर पंचायत के पंचभिडवा गांव में 5 दिसंबर को हुई थी. जिसमें मृतक के पिता बिहारी महतो ने गांव में शराब बिक्री के विवाद के चलते गांव के ही कुछ लोगों पर अपनी बेटी का रेप और हत्या करने का आरोप लगाया था. पुलिस के अनुसार, उसने अपने विरोधियों को फंसाने के लिए यह कुकृत्य रचा था.

दूसरी लड़की से शादी के दिन प्रेमी के घर अचानक पहुंच गई प्रेमिका! फिर हुआ कुछ ऐसा कि…

बता दें कि संग्रामपुर थाना पुलिस को दिए आवेदन में बिहारी महतो ने गांव के ही चार लोगों को आरोपित किया था. जिसमें उसने कहा था कि गांव के मंटू सहनी, कृष्णा सहनी, कन्हैया सहनी और दिलीप सहनी शराब का कारोबार करते हैं, जिसका वह विरोध किया करता था. इसी विरोध के कारण ये लोग धमकी देते थे. इन्हीं लोगों ने मवेशी के लिए घास काटने जा रही बेटी राजनंदिनी के साथ रेप कर उसकी हत्या कर दी. जिसका पुलिस ने वैज्ञानिक तरीके आए अनुसंधान करते हुए खुलासा किया है.

एसपी डॉ. कुमार आशीष ने खुलासा करते हुए कहा कि गिरफ्तार बिहारी महतो ने हत्या करने की बात स्वीकार की है. पुलिस को दिये बयान में बिहारी महतो ने बताया है कि राजनंदिनी का गांव के ही एक युवक से प्रेम प्रसंग चल रहा था, दोनों को आपत्तिजनक स्थिति में देखने के बाद राजनंदिनी को घर में प्रताड़ित किया, जिससे राजनंदिनी ने घर में ही फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली. इसके बाद उसने विरोधियों को फंसाने के लिए मृत राजनंदिनी का गला रेतकर और कपड़ो को फाड़ कर शव को अपने ऑटो में रखकर गांव के सटे बांसबाड़ी में फेंक दिया.

आरोपी पिता ने बताया कि बेटी की लाश फेंकने के बाद वह बहाना बनाकर गांव के चौक की ओर चला गया. जहां से लौटकर शव मिलने की बात रोने और चिल्लाते हुए ग्रामीणों को इकट्ठा किया. बहरहाल, मामले का उद्भेदन हो चुका है. गिरफ्तारी के बाद बिहारी महतो के निशानदेही पर गला काटनेवाले चाकू को पुलिस ने बरामद किया है. घटना के 48 घंटे के अन्दर पुलिस ने पूरे खेल का खुलासा किया है.

Tags: Bihar News, Crime In Bihar, Girl murder

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें