गैंगरेप के बाद गांव वाले बना रहे थे पंचायती का दवाब, युवती ने पंखे से लटकर दे दी जान

बिहार के भागलपुर सबौर थाना क्षेत्र के इंग्लिश गांव में सामूहिक दुष्कर्म की शिकार युवती (18 वर्ष) ने बुधवार को घर में पंखे से लटककर खुदकुशी कर ली.

ETV Bihar/Jharkhand
Updated: October 12, 2017, 5:09 PM IST
गैंगरेप के बाद गांव वाले बना रहे थे पंचायती का दवाब, युवती ने पंखे से लटकर दे दी जान
ईटीवी फोटो
ETV Bihar/Jharkhand
Updated: October 12, 2017, 5:09 PM IST
बिहार के भागलपुर सबौर थाना क्षेत्र के इंग्लिश गांव में सामूहिक दुष्कर्म की शिकार युवती (18 वर्ष) ने बुधवार को घर में पंखे से लटककर खुदकुशी कर ली.

सबौर थाना प्रभारी राजीव कुमार ने कहा कि एफआईआर दर्ज कर आरोपियों की तलाश की जा रही है. शव का गुरुवार को पोस्टमार्टम कराकर उसके परिजनों को सौंप दिया गया है.

युवती की मां ने घटना के लिए मृत्युंजय कुमार और उसके एक दोस्त को आरोपी बनाया है. एफआईआर में मां ने आरोप लगाया है कि बेटी इंटरस्तरीय बालिका उच्च विद्यालय, सबौर में पढ़ती थी. नौ अक्टूबर को वह स्कूल गई थी. छुट्टी के बाद स्थानीय मृत्युंजय कुमार और एक अन्य लड़के ने उसे जबरन बाइक पर बिठाकर तिलकामांझी ले गए. तिलकामांझी के पास एक होटल के पीछे एक मकान में ले जाकर दोनों ने बारी-बारी से दुष्कर्म किया.

गैंगरेप के बाद बेहोशी के हालत में लड़कों ने युवती को गांव के बाहर छोड़ दिया. होश आने के बाद लड़की घर पहुंची और अपनी मां को सारी बात बताई फिर मां ने परिवार के अन्य सदस्यों को इस बारे में जानकारी दी.

मामले में एक आरोपी गांव का होने के कारण बात पंचायत तक पहुंच गई. धीरे धीरे यह बात पूरे गांव मे फैल गई. जिस बात से युवती डिप्रेशन में चली गई और उसने आत्महत्या कर ली.

उधर घटना के नामजद आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए पुलिस ताबड़तोड़ छापेमारी कर रही है. फिलहाल पुलिस के हत्थे अभी तक एक भी आरोपी नहीं चढ़ा है. बुधवार को पीड़िता ने सुसाइड नोट लिखकर पंखे से फांसी लगाकर सुसाइड कर ली. लड़की ने नोट में लिखा है कि तुम दोनों ने मुझे जीने लायक नहीं छोड़ा.

 
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर