Lockdown 3.0: श्रमिक स्पेशल ट्रेन में गया पहुंचे मजदूरों से वसूला गया 900 रुपये तक किराया

स्क्रीनिंग के दौरान कई बच्चों समेत 21 यात्री संदिग्ध पाए गए, जिन्‍हें एक होटल में आइसोलेट किया गया है.
स्क्रीनिंग के दौरान कई बच्चों समेत 21 यात्री संदिग्ध पाए गए, जिन्‍हें एक होटल में आइसोलेट किया गया है.

छठी स्पेशल स्‍पेशल ट्रेन (Shramik Special train) सोमवार को गया जंक्शन पहुंची जिसमें बच्चों समेत कुल 1362 यात्री सवार थे. जबकि स्क्रीनिंग के दौरान कई बच्चों समेत कुल 21 यात्री संदिग्ध पाए गए हैं, जिन्‍हें एक होटल में आइसोलेट किया गया है. वैसे इस दौरान कुछ मजदूरों ने किराया वसूली की बात भी कही है.

  • Share this:
गया. इस वक्‍त कोरोन वायरस (Coronavirus) की वजह से देशभर में लॉकडाउन जारी है. जबकि बिहार, उत्‍तर प्रदेश जैसे तमाम राज्‍य पूरी मुस्‍तैदी से अपने लाखों प्रवासी मजदूरों की घर वापसी में लगे हुए हैं. वहीं, छठी स्पेशल स्‍पेशल ट्रेन (Shramik Special train) सोमवार को गया जंक्शन पहुंची जिसमें बच्चों समेत कुल 1362 यात्री सवार थे. इन सभी यात्रियों की सोशल डिस्टेंसिंग का पालन कराते हुए स्क्रीनिंग करायी गयी और फिर बसों से संबंधित जिला के लिए रवाना किया गया. बस में बैठने से पहले इन सभी यात्रियों को एक-एक फूड पैकेट और पानी की बोतल दी गयी. हालांकि स्क्रीनिंग के दौरान कई बच्चों समेत कुल 21 यात्री संदिग्ध पाए गए, जिन्‍हें स्‍टेशन के पास ही एक होटल में आइसोलेट किया गया है. फिलहाल स्वास्थय विभाग की टीम इन सभी का सैंपल लेकर जांच के लिए पटना भेजेगी.

यात्रियों से वूसला गया किराया
सूरत से बिहार के विभिन्न जिलों के लिए आये इन यात्रियों ने न्यूज़ 18 से बात करते हुए कहा कि ट्रेन में बैठने से पहले उनसे किराये के रूप में पैसे वूसले गए. इन यात्रियों ने 600 से लेकर 900 रुपया तक प्रति यात्री खर्च होने की बात कही. सूरत में दैनिक मजदूरी करने वाले त्रिवेणी पांडेय ने कहा कि वे वहां दिहाड़ी मजदूरी करके कुछ राशि कमाते थे. लॉकडाउन में बचत का सारा पैसा खत्म हो गया, इसलिए वे वापस घर आ गए हैं. लॉकडाउन के बाद स्थिति सामान्य होने पर वे फिर से सूरत जाएंगे. वहीं, महिला यात्री मालती देवी ने बताया कि वे अपने पति और बच्चों के साथ सूरत में रहते थे. लॉकडाउन के दौरान उन्हें खाने पीने को लेकर काफी तकलीफ हुई, लिहाजा घर वापसी के अलावा पास कोई रास्ता नहीं था. जब उन्‍हें ट्रेन के खुलने की जानकारी मिली तो उन लोगों ने टिकट करवा लिया और फिर अपने घर वापस आ गए.

प्रवासी मजदूरों के पॉजिटिव पाये जाने के बाद जिला प्रशासन अलर्ट
बहरहाल, दूसरे प्रदेशों से आ रहे प्रवासी मजदूरों के बड़ी संख्या में कोरोना पॉजिटिव पाये जाने के बाद जिला प्रशासन अलर्ट है. स्टेशन पर ही सभी यात्रियों की स्वास्थय विभाग द्वारा स्क्रीनिंग की जा रही है. स्क्रीनिंग में अभी तक 70 से ज्यादा यात्री संदिग्ध पाये गए हैं जिसे स्टेशन परिसर स्थित होटल में आइसोलेट कर सैपल की जांच कराई जा रही है. गया जंक्शन पर अभी तक दूसरे प्रदेशों से एक छात्र और पांच श्रमिक स्पेशल ट्रेन आयी हैं. कोटा से आये छात्रों को होम क्‍वारंटाइन किया गया है,वहीं मजदूरों को विभिन्न क्‍वारंटाइन सेंटर पर रखा जा रहा है. इसके अलावा मुंबई से दरभंगा के रास्ते गया आने वाले बाराचट्टी के दो मजदूर कोरोना पॉजिटिव पाये गए हैं, जिसके बाद जिला प्रशासन इन प्रवासी मजदूरों को लेकर ज्यादा सतर्कता बरत रहा है. फिलहाल जिला के विभिन्न केन्द्रों में 7300 से ज्यादा लोगों को क्‍वारंटाइन किया हुआ है. इन सेंटर पर रहने वाले लोगों में किसी तरह का सिम्टम मिलने पर उनकी कोरोना जांच करवायी जा रही है.



ये भी पढ़ें

Bihar: चीनी मिल ने 600 लोगों को नौकरी से हटाया, किसानों का है करोड़ों का बकाया

पुलिस को घूस देते पकड़े गए नेताजी, देखें 'सन ऑफ मल्लाह' का वायरल VIDEO
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज