अपना शहर चुनें

States

बिहारः भगवान बुद्ध की धरती पर लॉकडाउन के दौरान 4 युवाओं ने मिलकर उगाया 'शांति वन'

(सांकेतिक तस्वीर)
(सांकेतिक तस्वीर)

बिहार के गया में फल्गु नदी के तट पर चार युवाओं ने 40 प्रजातियों के 800 पौधे लगाए. इनमें पीपल, महोगनी, नीम, पाकड़ आदि के पौधे शामिल हैं. 5 महीने में ये पौधे 6 से 7 फुट बड़े हो गए हैं.

  • Share this:
गया. कोरोना महामारी (Corona Pandemic) ने जहां एक ओर लोगों को डर और खौफ के माहौल में जीने के मजबूर किया है. वहीं गया के कुछ युवा इस मुश्किल दौर में पर्यावरण संरक्षण (Environment Protection) की दिशा में सराहनीय काम में जुटे हुए हैं. इन युवाओं की मेहनत का रंग फल्गु नदी के तट पर देखा जा सकता है. सैकड़ों हरे-भरे पौधे नदी तट की सुंदरता में चार चांद लगा रहे हैं. लोग इन पेड़ों की हरियाली पर मोहित होकर यहां खींचे चले आ रहे हैं. युवाओं ने इनका नाम 'बुद्ध शांतिवन' रखा है.

गया- बोधगया सड़क के किनारे स्थित केंदुआ गांव के चार-पांच युवाओं ने लॉकडाउन के दौरान पर्यावरण को प्रदूषणमुक्त बनाने के लिए पेड़ लगाने का फैसला लिया. जिसके बाद चंदन लाल, विक्रम मेहता, मंटू यादव और मुकेश कुमार ने अपने कुछ और साथियों के साथ मिलकर लॉकडाउन के दौरान फल्गु नदी के किनारे करीब 800 पौधे लगाए. अब ये पौधे बड़े हो गये हैं.

मंटू यादव ने बताया कि गांव के चंदन लाल की पहल पर फल्गु नदी के तट पर 40 प्रजातियों के 800 पौधे हमलोगों ने लगाए. इनमें पीपल, महोगनी, नीम, पाकड़ आदि के पौधे शामिल हैं. 5 महीने में ये पौधे अब 6 से 7 फुट बड़े हो गये हैं. इससे फल्गु नदी के तट की खूबसूरती बढ़ गई है.



बतौर मंटू पौधे लगाने के बाद उन्होंने इनकी देखरेख के लिए एक दिव्यांग शख्स की मदद ली. दिव्यांग ईश्वर प्रसाद गुप्ता को दोनों पैर में परेशानी है. बावजूद इसके पिछले 5 महीने से वह इन पौधों की देखभाल करते आ रहा है. इसके बदले उसे हर 15 सौ से 2 हजार रुपये युवा देते हैं. लॉकडाउन के दौरान मई और जून महीने में पौधा लगाने के लिए जिला प्रशासन और वन विभाग की टीम केंदुआ गांव पहुंची थी. इसी टीम ने युवाओं को पौधे उपलब्ध कराए. जिन्हें चार-पांच युवाओं ने मिलकर नदी तट पर लगाये.
मंटू यादव ने बताया कि फल्गु नदी के तट पर पौधा लगाने की प्रेरणा वट सावित्री पूजा से मिली. गांव की महिलाओं को इस मौके पर वट वृक्ष की पूजा के लिए गांव से दूर जाना पड़ता था. इसलिए युवाओं ने गांव के पास नदी तट पर वट वृक्ष समेत अन्य पौधे लगाने का फैसला लिया.

केंदुआ गांव के पास फल्गु नदी के किनारे 15 एकड़ जमीन पर पौधे लगाए गए हैं. ये युवा नदी के दोनों तरफ 50 बीघा खाली जमीन पर भी पौधे लगाने की मांग प्रशासन से की है. गांव के लोगों इन युवाओं की इस पहल से काफी खुश हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज