Vande Bharat: लंदन से लौटे यात्री होटल में रहेंगे, 22000 रुपए खर्च कर होंगे Quarantine

गया एयरपोर्ट पर पहंचे लंदन में फंसे 41 प्रवासी

Lockdown के बीच वंदे भारत मिशन (Vande Bharat Mission) के तहत बिहार और झारखंड के 41 यात्री आज गया एयरपोर्ट पर उतरे. इनमें से 13 झारखंड और 28 बिहार के रहने वाले हैं.

  • Share this:
गया. कोरोना वायरस (COVID-19) की वजह से दुनियाभर में लॉकडाउन (Lockdown) में फंसे भारतीयों को लाने के लिए वंदे भारत मिशन (Vande Bharat Mission) चल रहा है. इसके तहत बिहार-झारखंड के लंदन में फंसे 41 लोगों को आज दिल्ली से गया लाया गया. एअर इंडिया के विमान से बिहार पहुंचे इन यात्रियों में से 13 झारखंड के थे, जिन्हें तत्काल ही बसों से रांची और हजारीबाग भेज दिया गया, जहां वे क्वारंटाइन (Quarantine) किए जाएंगे.

वहीं बिहार के 28 यात्रियों को घर की जगह बोधगया के एक होटल में भेज दिया गया. यहां गौर करने वाली बात यह है कि बिहार के इन यात्रियों को अपने खर्चे पर होटल में रहने को कहा गया है. इन यात्रियों को 500 से 1600 रुपए प्रतिदिन के हिसाब से होटल में खर्च वहन करना होगा. यानी इन यात्रियों को 14 दिनों के क्वारंटाइन में रहने के लिए 7000 से लेकर 22000 रुपए तक खर्च करना होगा.

सोशल डिस्टेंसिग का कराया गया पालन

वंदे भारत अभियान के तहत प्रवासियों की गया एयरपोर्ट से घर वापसी को लेकर मगध प्रमंडल के आयुक्त को नोडल पदाधिकारी बनाया गया है. कई दिनों से तैयारी में लगे मगध प्रमंडल के आयुक्त असंगमा चुबा आओ के साथ ही मगध के आईजी राकेश राठी, डीएम अभिषेक सिंह एवं एसएसपी राजेश मिश्रा समेत कई अधिकारी एयरपोर्ट पर मौजूद रहे. इन लोगों ने एयरपोर्ट से लेकर बस में बैठने तक यात्रियों के बीच सोशल डिस्टेंसिग का पालन करवाया.

डीएम अभिषेक सिंह ने कहा कि कोरोना को लेकर गृह मंत्रालय और विश्व स्वास्थ्य संगठन की गाइडलाइन का पूरी तरह से पालन कराया गया है. बिहार के यात्रियों को बोधगया के होटलों में 14 दिनों तक क्वारंटाइन में रखा जा रहा है. इसका खर्च यात्री को स्वयं उठाना होगा. इस बीच हरेक क्वारंटाइन सेंटर पर जिला प्रशासन के प्रतिनिधि मौजूद रहेंगे और किसी तरह की परेशानी होने पर उसका समाधान करेंगे.

लंदन से लौटने वाले प्रवासी घर वापसी से खुश

वंदे भारत के अभियान के तहत बिहार के कुल 28 यात्री वापस लौटे हैं. इन यात्रियों को एयरपोर्ट पर जिला प्रशासन द्वारा बिहार सरकार की तरफ से एक किट उपलब्ध कराई गई है, जिसमें क्वारंटाइन के दौरान बरती जाने वाली सतर्कता से संबंधित बुकलेट के साथ ही सैनेटाइजर एवं मास्क है. यहां की व्यवस्था से आने वाले प्रवासी काफी खुश दिखे. बिहार की एक महिला यात्री ने कहा कि उनका 1 अप्रैल को लंदन से वापसी का टिकट था, मगर लॉकडाउन की वजह से वह वहीं फंस गईं. अब भारत सरकार के प्रयास से वह वापस आ पाई हैं, जिससे वह और उनका परिवार काफी खुश हैं. इसके साथ ही उन्होंने कोरोना को लेकर भारत में बरती जा रही सतर्कता की तारीफ भी की.

वहीं एक पुरूष यात्री ने कहा कि लॉकडाउन की वजह से लंदन में वे मानसिक रूप से काफी परेशान हो रहे थे. अब घर वापसी के बाद राहत महसूस कर रहे हैं. आपको बता दें कि वंदे भारत मिशन के तहत 3 जून तक कई और फ्लाइटस आने हैं. एयरपोर्ट निदेशक दिलीप कुमार ने बताया कि सोशल डिस्टेंसिंग और सैनेटाइजिंग को लेकर एयरपोर्ट पर पुख्ता इंतजाम हैं. अभी 3 जून तक कुल 5 और फ्लाइट आने का शिड्यूल मिला है, जिसमें अलग-अलग देशों से बिहार के प्रवासी गया एयरपोर्ट पर उतरेंगे. 19 मई को वियतनाम और 23 मई को म्यांमार के यात्रियों को लेकर गया से स्पेशल फ्लाइट उड़ान भरेगी.

ये भी पढ़ें-800 श्रमिक ट्रेनों के लिए UP ने दी सहमति, पश्चिम बंगाल ने केवल 19 को दी स्वीकृति

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.