लाइव टीवी

गया हत्याकांड: ADG आलोक राज बोले- हर हालत में पीड़ित परिवार को मिलेगा न्याय

News18 Bihar
Updated: January 16, 2019, 4:07 PM IST

एक ओर गया पुलिस इसे ऑनर किलिंग का मामला बता रही है. वहीं, मृतका की बहन ने पुलिस पर टॉर्चर कर झूठा बयान दर्ज करने का आरोप लगाया है.

  • Share this:
गया के पटवा टोली निवासी एक नाबालिग लड़की की निर्मम हत्या के मामले में राज्य के एडीजी (विधि-व्यवस्था) आलोक राज रविवार को गया पहुंचे. एसएसपी कार्यालय में उन्हें गार्ड ऑफ ऑनर दिया गया. इस हत्याकांड मामले में एडीजी ने मगध प्रमंडल के डीआईजी विनय कुमार और गया के एसएसपी राजीव मिश्रा से जानकारी ली. आलोक राज ने घटना को दुखद बताते हुए कहा कि मामले के सभी पहलू की जांच की जाएगी.

एडीजी ने पीड़ित परिवार को न्याय दिलाने का आश्वासन देते हुए खुद मृतक के परिजनों से मिलने की बात कही. पूरे घटनाक्रम की जांच वैज्ञानिक तरीके से कराई जाएगी. इसके लिए सीआईडी और एफएसएल की टीम की भी मदद ली जाएगी और दोनों टीमें 14 जनवरी को गया आएंगी और घटनास्थल एवं पीड़ित परिवार से भी बातचीत करेगी.

एडीजी ने कहा कि हर हालत में पीड़ित परिवार को न्याय मिलेगा. नार्को टेस्ट के सवाल पर उन्होंने कहा कि अभी पूरे मामले की जांच की जा रही है. अनुसंधान प्रारंभिक अवस्था में है. पूरी तरह से अनुसंधान होने के बाद ही मामले का खुलासा होगा कि घटना के पीछे कौन है या किसने इसे अंजाम दिया है.

वहीं, मानपुर के वस्त्र उद्योग बुनकर सेवा समिति के 5 लोगों का एक शिष्टमंडल ने एडीजी से मुलाकात की. शिष्टमंडल के अध्यक्ष प्रेम नारायण पटवा ने पूरे मामले की जानकारी एडीजी को दी और घटना की जांच सीबीआई से कराने की मांग की. उन्होंने एडीजी से मृतका के निर्दोष पिता के छोड़ने की अपील की.

इससे पहले, पटवा समाज के लोगों की शिकायत के बाद शनिवार को मगध क्षेत्र के पुलिस उप महानिरीक्षक (डीआईजी) विनय कुमार ने एसएसपी राजीव मिश्रा के साथ घटना स्थल का जायजा लिया. उन्होंने बुनियादगंज थानाध्यक्ष मनोज कुमार और वजीरगंज कैंप के डीएसपी अभिजीत कुमार सिंह की ज्यादती की शिकायत पर जांच कराने का आश्वासन देते हुए कहा था कि मामले से जुड़े सभी पक्षों की जांच की जाएगी.

इस मामले में एसएसपी राजीव मिश्रा द्वारा ऑनर कीलिंग मानकर मृतक के पिता और दोस्त को जेल भेजे जाने की घटना पर डीआईजी ने कहा था कि ऑनर कीलिंग टर्म में उनका विश्वास नहीं है. वे सभी एंगल से जांच कर रहे हैं और मृतक के परिवार और स्थानीय सामाजिक कार्यकर्ताओं ने कई तरह के इनपुट दिए हैं जिसके आधार पर जांच का दायरा बढ़ाया जा रहा है.

गौरतलब है कि नाबालिग लड़की की निर्मम हत्या के बाद पुलिस ने इसे ऑनर कीलिंग बताकर पिता और उनके एक साथी को जेल भेज दिया था लेकिन परिवार और पटवा समाज द्वारा पुलिस पर गलत कार्रवाई करने का आरोप लगाते हुए आंदोलन ​की शुरुआत की गई थी.
Loading...

(गया से एलेन लिली की रिपोर्ट)

ये भी पढ़ें- 

गया हत्याकांड: जानिए क्या कहती है पुलिस की 'थ्योरीऔर क्यों उठ रहे हैं इस पर सवाल

गया हत्याकांड: हड़ताल पर 45 हजार बुनकर, करोड़ों रुपये का रोज हो रहा नुकसान

एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएंगी आपके पास, सब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी  WhatsApp अपडेट्स

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए गया से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: January 13, 2019, 6:25 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...