Choose Municipal Ward
    CLICK HERE FOR DETAILED RESULTS

    Belaganj Election Result Live: जदयू के अभय सिन्हा की करारी शिकस्त, राजद के सुरेंद्र यादव ने 23,963 वोट से हराया

    Belaganj Chunav Result: राजद ने मारी बाजी
    Belaganj Chunav Result: राजद ने मारी बाजी

    Bihar Vidhan Sabha Chunav Result 2020 Live: राजद के सुरेंद्र प्रसाद यादव (Surendra Prasad Yadav) ने जदयू के अभय कुमार सिन्हा (Abhay Kumar Sinha) को 23,963 वोट से करारी शिकस्त दी. सुरेंद्र प्रसाद यादव को 78,856 वोट मिले, वहीं अभय कुमार सिन्हा के खाते में 55,340 वोट ही आ सके.

    • Share this:
    बेलागंज. बिहार विधानसभा चुनाव (Bihar Vidhan Sabha election) के नतीजे आना शुरु हो गए हैं. बेलागंज सीट (Belaganj Vidhan Sabha constituency) पर राजद के सुरेंद्र प्रसाद यादव (Surendra Prasad Yadav) ने जदयू के अभय कुमार सिन्हा (Abhay Kumar Sinha) को 23,963 वोट से करारी शिकस्त दी. सुरेंद्र प्रसाद यादव को 79708 वोट मिले, वहीं अभय कुमार सिन्हा के खाते में 55745 वोट ही आ सके. बेलागंज (Belaganj) विधानसभा में साल 2000 से राजद का दबदबा रहा है. राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव के करीबी रहे सुरेंद्र प्रसाद यादव क्षेत्र में काफी दबंग नेता भी माने जाते हैं. इस क्षेत्र में कुल मतदाता 219514 है जिसमें पुरुष मतदाता 118054 जबकि महिला मतदाताओं की संख्या 101469 है.

    बेलागंज विधानसभा क्षेत्र में 2015 चुनाव की बात करें तो राजद के सुरेंद्र प्रसाद यादव को 53079 वोट मिले थे जिसमें एनडीए में रहे हम पार्टी के उपविजेता मो. शरीम अली को 48441 वोट मिले. विजेता रहे सुरेंद्र यादव ने मो. शरीम अली को 4638 वोट से हरा दिया था. 2015 में बेलागंज में मतदान के प्रतिशत 55.45 रहा. आपको बता दें कि 2005 में सुरेंद्र यादव 33475 वोट मिले थे, जबकि जदयू के ही मो.अमजद 27125 ही वोट हासिल हुए थे और इनकी हार हो गई थी. वहीं 2010 में एक बार फिर राजद के दबंग नेता कहे जाने वाला सुरेंद्र प्रसाद यादव ने जदयू के मो.अमजद को हराया था. इस बार सुरेंद्र प्रसाद यादव ने 53079 वोट प्राप्त किया जबकि मो. अमजद 48441 वोट ही मिल पाए. इस तरह से लगातार वर्ष 2000 से 2015 तक बेलागंज में राजद का ही दबदबा रहा है.

    बिहार चुनाव के नतीजों के पल-पल का हर अपडेट यहां देखें LIVE



    बता दें कि यह गया मुख्यालय से 20 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है. इस क्षेत्र में स्वास्थ्य शिक्षा का घोर अभाव था. अस्पताल थे, लेकिन डॉक्टरों की कमी थी. खेती के लिए किसान पटवन पर निर्भर है. नहर और पाइन उड़ाई नहीं होने से पटवन की भारी समस्या होती है. यहां 1 डिग्री कॉलेज है, लेकिन इसे पूर्णता मान्यता नहीं मिली है. फल्गु नदी पर बनने वाले बीथो बांध से लोगों को काफी उम्मीदें हैं, लेकिन अब तक नहीं बन सका.
    अगली ख़बर

    फोटो

    टॉप स्टोरीज